Garib Ki Dosti - 3 in Hindi Love Stories by Harsh Parmar books and stories PDF | गरीब की दोस्ती - 3

गरीब की दोस्ती - 3


लड़के ने अपने पापा को कोल किया और बताया की पापा मेरा एक्सीडेंट हो गया है और मे इस हॉस्पिटल मे हु फिर लड़के ने कोल कट कर दिया |

लड़के के पापा ने घर पे बताया कि अपने संजय का एक्सीडेंट
हो गया है तब ये बात सुनकर सब रोने लगे की कैसे एक्सीडेंट गया| सीला ने बोला चलिए पापा हॉस्पिटल फिर वहा से सब लोग हॉस्पिटल आ गए और देखा तो संजय बेड पे सोया हुआ था फिर संजय को जगाया और उसका हालचाल पूछा | संजय इधर उधर देखने लगा तो उसको राजू दिखाई नही दिया |

सीला ने पूछा भाई इधर उधर क्या ढूंढ रहे हो तब संजय ने बताया की मुझे जिसने हॉस्पिटल लाया था वो यही था फिर कहा गया | सीला ने पूछा कोन था वो जिसने आपको हॉस्पिटल लाया था | फिर संजय ने बोला वो गरीब घर का लड़का है पर दिल का बहुत अच्छा है | उसका नाम राजू है सीला ने कहा आजकल ऐसे इंसान बहुत कम मिलते है |

फिर थोड़ी देर बाद राजू आ गया सब राजू को देखके चौक गए की ये यहा पर क्या करने आया है | संजय ने बोला आप कहा गए थे तब से तो राजू ने बताया की डॉक्टर ने दवाई लाने को बोला था इस लिए मे दवाई लेने गया था मेडिकल पे | फिर संजय के पापा उठकर के पास गए और राजू को अपनी भूल की माफी मांगने लगे |

राजू ने हाथ जोड़कर कहा की आप मुझसे माफ़ी मांगके सर्मिंदा ना कीजिये | फिर दोनों आपस मे एक दूसरे से गले लग गए |

सिला पास आकर राजू को अपने भैया की जान बचाने के लिए सूक्रिया अदा किया | तब राजू ने सिला को बोला की ये मेरा कर्तव्य है |

संजय को जितना दिन हॉस्पिटल मे रखा उतने दिन राजू वहाँ पर आता जाता रहता | कभी कभी अपने घर से खाना भी लेकर आता |

संजय को हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई थी और वो सब लोग अपने घर जाने लगे तब राजू का बहुत धन्यवाद माना क्यु की राजू ने पहले सिला की जान बचाई फिर संजय की जान बचाई |
फिर सभी लोग अपने घर चले गए और राजू भी पहले की तरह जंगल मे से लकड़िया काटने का काम करने लगा |

बहुत टाइम बीत चुका था फिर एक दिन संजय राजू के गांव आया और राजू के घर गया राजू के घर पे राजू की माँ ही थी | संजय ने राजू की माँ को बोला माँ जी राजू कहा गये है तब राजू की माँ ने कहा की राजू जंगल मे लकड़िया काट ने गया है | संजय ने राजू के आने तक इंतजार किया |
राजू आया और संजय को देखकर बहुत खुश हुआ फिर राजू ने कहा की घर पे सब कैसे है | संजय ने कहा सब बहुत अच्छे है और सब लोग आपकी बहुत तारीफ करते है |

******************************

अगले पार्ट के लिए कृपया इंतजार कीजियेगा 🙏🙏

स्टोरी पे रेटिंग और कंमेंट करके अपनी प्रतिकिया जरूर दीजियेगा🙏🙏

Rate & Review

Uttam Dabhi

Uttam Dabhi 2 months ago

Heema Joshi

Heema Joshi 11 months ago

Priya Sharma

Priya Sharma 10 months ago

Indu Talati

Indu Talati 11 months ago

Harsh Parmar

Harsh Parmar Matrubharti Verified 1 year ago