Wo khoufnak barsaat ki raat - last part in Hindi Thriller by निशा शर्मा books and stories PDF | वो खौफनाक बरसात की रात.. - अंतिम भाग

वो खौफनाक बरसात की रात.. - अंतिम भाग

"तुम...तुम्हारे होठों से तो खून बह रहा है",लड़खड़ाती हुई जुबान से सुजय ने उस लड़की की ओर देखते हुए कहा।

"अरे,आप मेरी चिंता बिल्कुल भी मत करिए सुजय साहब! आप बस ये न्यूज़ देखिए।",कहते हुए उस लड़की ने जो चैनल लगाया उस चैनल का नाम था कर्मों का कच्चा चिट्ठा!!

ये...ये कौन सा चैनल है??? सुजय की आवाज़ अब बुरी तरह से कॉंप रही थी और वो अपनी फटी हुई आँखों से कभी टीवी की ओर तो कभी अपने सामने सोफे पर बैठी हुई उस लड़की की ओर पागलों की तरह देखता जा रहा था।

तभी टीवी पर न्यूज़ की जगह सुजय और उसकी पत्नी जो कि पिछले वर्ष ही आत्महत्या करके मर चुकी है,दिखाई देने लगे।

मैं तुम्हारी इन अय्याशियों से अब तंग आ चुकी हूँ सुजय! एक तो पहले मैं तुम्हारे बिजनेस के घाटों की भरपाई अपनी खून-पसीने की कमाई से करूँ और उसपर तुम जब खुद से आधी उम्र की लड़कियों के साथ...छी.... मुझे तो सोचने में भी घिन आती है।

ओह्ह!! तो अब मैडम रोमा खन्ना द सुपरस्टार को सोचते हुए भी घिन आती है,हम्म! और खुद अधनंगे कपड़ों में उन छिछोरे तेरे सो कॉल्ड हीरोज़ के साथ नंगनाच करते हुए घिन नहीं आती मैडम को,क्यों???

मैं तो खुद ही शादी के कुछ सालों बाद ही ये लाइन छोड़कर अपना परिवार आगे बढ़ाकर तुम्हारे साथ सुकून और चैन की ज़िन्दगी जीना चाहती थी पर ये भी तुम्हारी ही ज़िद है कि तुम्हें अपना बच्चा नहीं बल्कि पूरी ज़िंदगी अपनी बीवी की कमाई चाहिए। कितने घटिया हो तुम सुजय।

"बताऊँ तुझे कि मैं कितना घटिया हूँ साली! वो तेरी रिपोर्टर दोस्त क्या नाम है,उसका...हाँ रिया उसी की माँ जो कि तेरे बाप की रखैल है साली,उसी ने तेरे कान भरे हैं न?",कहते हुए सुजय नें रोमा को धक्का मार दिया।

मयूरी आँटी बस पापा की दोस्त हैं बल्कि वो पापा और मम्मा दोनों की ही दोस्त हैं,कहकर रोमा खुद को सम्भालते हुए बस पीछे की ओर मुड़ी ही थी कि तभी सुजय ने पीछे से उसके बाल पकड़कर उसे खींचा और फिर रोमा का गला घोंटने की कोशिश भी की।

इसके बाद जब वो उससे बचने का प्रयास करने लगी तो सुजय ने वहीं डाइनिंगटेबल पर फलों के साथ ही रखे हुए चाकू से रोमा के दायें हाथ की नस काट दी और अब चारों ओर बस खून ही खून था।

टीवी के स्क्रीन पर से भी अब एक खून का फव्वारा फूट पड़ा जिसे देखकर पसीने से तरबतर हुआ सुजय बेहोश होने की कगार पर पहुंचने ही वाला था कि उसके सामने सोफे पर बैठी हुई वो लड़की चीख पड़ी....मिस्टर सुजय खन्ना आपकी बीवी भला अपने उल्टे हाथ से अपने सीधे हाथ की नस कैसे काट सकती है बल्कि कोई भी इंसान कैसे कर सकता है ये उल्टा काम जब तक कि वो उल्टे हाथ से काम करने वाला न हो !! तो सुजय साहब आपनें अपनी बीवी रोमा को लैफ्टी साबित करने के लिए कितना पैसा खिलाया पुलिस,प्रशासन और सिस्टम को,हम्म!!

"अरे...अरे आपको तो हार्टअटैक पड़ने वाला है।",अपने दिल पर हाथ रखते हुए सुजय को देखकर उस लड़की ने कहा।

अरे इतनी भी जल्दी क्या है,साहब! ज़रा पूरी खबर तो सुनते जाइए। अब आप ये तो ज़रूर ही सोच रहे होंगे कि मैं ये सब कैसे जानती हूँ तो सुनिए वो प्रैस रिपोर्टर रिया मेरी सहेली थी। जब उसनें मुझे इस बारे में बताया था,मेरा मन तो तभी किया कि मैं तेरे जैसे नीच,हवस के पुजारी और इस समाज के दुश्मन का पर्दा फाश कर दूं पर तेरी किस्मत बहुत अच्छी थी कि इससे पहले ही मैं तेरे जैसे ही एक भेड़िये का शिकार हो गई। उस कमीने ने भी मेरी ड्रिंक में ड्रग्स मिलाकर मुझे पिला दिया जिसका कि वो खुद नशा किया करता था और फिर मेरी स्कूटी के ट्रक से टकराने को भी इस दुनिया ने एक सामान्य हादसे का नाम दे दिया और फिर इस हादसे की तह तक जाने की बजाए उल्टा मुझे ही एक नशेबाज,गंदी लड़की भी करार कर दिया। मगर आज मैंने उस भेड़िये से भी अपना बदला ले लिया है।

फिर अचानक ही उस लड़की के सिर के बालों से लेकर उसके पैरों के नाखूनों तक से एक भयंकर बदबूदार गहरे सुर्ख लाल रंग का खून का फव्वारा फूटने लगा।

अगले दिन...

रिपोर्टर रिया जुहू के हाइट्स अपार्टमेंट्स के नीचे खड़ी होकर मीडिया कवरेज कर रही थी... जैसा कि आप लोग देख सकते हैं कि मैं मौजूद हूँ इस वक्त जुहू स्थित मिस्टर सुजय खन्ना जी के अपार्टमेंट के नीचे जहाँ बीती रात मिस्टर सुजय खन्ना ने अपने हाथ की नस काटकर अपनी जान दे दी। सूत्रों के हवाले से हमें ये खबर मिली है कि उन्होंने अपने दायें हाथ की नस काटी है जबकि उनके लिए ये बिल्कुल असंभव है क्योंकि वो लेफ्टी नहीं बल्कि राइटहैंडी थे तो इसी शंका के तहत मुंबई पुलिस इसे आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या के एंगल से भी देख रही है बाकी जैसा कि आप लोग जानते हैं कि कल उनकी पत्नी रोमा की बरसी भी थी जिन्होंने विगत वर्ष इसी अपार्टमेंट में बिल्कुल इसी तरह अपने हाथ की नस काटकर अपनी जान दी थी तो कुछ लोग इसे अवसाद से भी जोड़कर देख रहे हैं कि शायद अपनी पत्नी के देहांत के बाद गहरे अवसाद में चले गये सुजय खन्ना द्वारा ये कदम उठाया गया है। बाकी इस केस से और इस देश दुनिया से जुड़ी तमाम खबरों के लिए आप हमारे न्यूज़ चैनल सैवन ट्रुथ के साथ बने रहें,मैं कैमरापर्सन संचित त्यागी के साथ न्यूज़ रिपोर्टर रिया पालीवाल।

न जाने क्यों संचित यार मुझे इन दोनों केसेज में कुछ समानता सी महसूस हो रही है। एक तो कल अचानक हुआ ये आत्महत्या का सुजय खन्ना वाला केस और दूसरा सुजय की बिल्डिंग के ठीक थोड़ी सी ही दूरी पर उस समर,शिवानी के मंगेतर का बाइक - दुर्घटना वाला केस ! और फिर अभी शिवानी के एक्सीडेंट को भी तो चार दिन ही बीते हैं न। न जाने क्यों ये सबकुछ बहुत अजीब सा लग रहा है पर कुछ समझ में नहीं आ रहा याररर!!

"कल मुंबई में हुई बरसात सचमुच काफी खौफनाक बरसात रही और कल की रात .... खौफनाक बरसात की रात!!", कहते हुए रिया पैकअप करके वहाँ से निकल गई।

समाप्त!!

आपकी लेखिका...
🌷निशा शर्मा🌷


Rate & Review

Suresh

Suresh 6 months ago

Rupa Soni

Rupa Soni 7 months ago

Saurabh Gupta

Saurabh Gupta 7 months ago