Safar in Hindi Love Stories by Priyanka Malaviya books and stories PDF | सफर

सफर

इन ७ सालों मे ट्रेन में पहली बार नहीं जा रही थी में उसके साथ ट्रेनमे । पर मुझे लग रहा है की शायद ये हमारी पहेली सफर है साथ में! बस उसे देखे जा रही थी में शायद मुझे प्यार हो रहा था। फिर से? उसी शख्स से।

मतलब में ये नही कह रही की मुझे अभी प्यार हुआ। ये रिश्ता तो बहुत पुराना है पर उससे हर रोज प्यार हो जाता है मुझे। हे ना पागलपन वाली बात ? पर में पागल ही तो हूं।

अब में पीछे जा रही हूं ! में आज में जीना चाहती हू। तो आज की ही बात करते है फिर।

वो मासूम बच्चे सी हसी , वो चमकती नशीली आंखे, और सबसे फेवरिट बात उसके डिम्पल।

कोइ भी उसे देखके पागल हो ही जाता बस में थोडी ज्यादा पागल हूं।

ये प्यार होता तो मुझे हरगिज न होता ये दिवानगी है जो हर बार होती है उसे देखकर।
नही नही में ये नही कह रही की ये प्यार नही है। मुझे तो उससे हररोज जो होता है 😉

उसके साथ एक पल भी बीता लिया तो आप भी उसके फेन बन जाओगे। उतना प्यारा है मेरा प्यार।

अगर इतनी बात वो पढ़ लेता तो वो पक्का यही बोलता की " कुछ ज्यादा नही हो गया क्या ।"😂

पर हर बार ज्यादा ही हो जाता है मुझसे ।

ये ७ साल के सफर के बाद हम हमसफर बनके साथ है। पर कभी लगता है एक दूसरे से हम अंजान है।

एक पल में बहुत पास तो दूसरे पल इतना दूर की अंजान लोग भी अपने लगे शायद।

पर में उसे हर बार ऐसे ही देखती हूं जैसे पहला प्यार । जेसे दो पंछी बरसो के बाद मील रहे हो , जेसे छोटे बच्चे की हसी, जेसे बारीश की पहेली बुंदे ,वो मिट्टी की खुशबू , वो प्यासी आंखे , और खुला आसमान , नीला समंदर, वो ठंडी हवा । ये एहसास एक साथ होता है जब वो सामने हो।

जेसे पहले स्पर्श से सुन्न हो जाना और धड़कन तेज हो जाना। वैसे ही आज भी वो सामने आए तो में बर्फ के जेसे जम जाती हूं।

ये तो फेरिटेल जैसा हो गया है ना!

पर सच्चा प्यार किसी फेरीटेल से कम नहीं होता। चाहे मेरी स्टोरी हो या किसी और की। हर कोई ये महेसुस करता होगा। मुझे तो यही लगता है। क्या आपने किया है??

और आज लंबे इंटरवल के बाद ४ साल बाद हम दोनों एक साथ कही लंबे सफर पे निकले हैं।

वो सफर बड़े हसीन होते है जो हम पहले से प्लान नहीं करते ।
है ना?

उसी शख्स से हर बार हर दिन प्यार करने का Reason मुझे पता चल गया ।
न बात करके भी उसके पास होने का अहसास मुझे आज समझ में आया।

वो जताने वालो में से नही है, वो समझ गई थी । जब हम सिर्फ दोस्त हुआ करते थे।

इसीलिए उसका कुछ न बोलना भी मेरे लिऐ बहोत कुछ है।

रिश्ते Trust, Understanding, Care से ही बनते है , बस हमारे लिए वही प्यार है शायद । और इससे ही आज तक हम जुड़े हुए है।

हर कोई कहता हे की वो प्यार में है ।
पर निभाना ही प्यार है, जो करना ना पड़े बस हो जाए वो प्यार है। अगर आप प्यार में हो तो उसे कभी जाने मत दो ये वो पंछी है जो आपका होगा तो कही नही जायेगा । मगर वो आपका नही हे तो उसे पकड़ने से भी वो नही रह पायेगा।

ये जरूर है की किसीको खुद से बांध कर न रखे दुनिया के पिंजरे मे हम सब पंछी है जिसे जहा जाना है वो वहा पहोंच के ही रहेगा । तो खुद को, दूसरो को बस उड़ने दो वो अपनी मंजिल तक पहुंच ही जायेगा।

किसी रिश्ते में खुद को जबर्दस्ती बांध के रखना मतलब खुदखुशी करना है। प्यार हे तो छुपाना भी खुदखुशी है.. प्यार हे तो कह दो नही तो फिर रहने दो। 😉😂

लगता है ट्रेन की पटरी के साथ कहानी भी ट्रेक बदल रही है।
ये ठंडी हवा ही ऐसी है जो छू के उसके पास होने का अहसास दिलाती है ।
उसकी यादों के साथ, उसके साथ में ये सफर यादगार बनाना चाहती हूं । तो ये कहानी फिर कभी बताऊंगी 😉 अभी के लिए बस उस एहसास को महसूस करो। 🥰❤️

Rate & Review

Rakesh

Rakesh 7 months ago

Journey of love

Priyanka Malaviya

Priyanka Malaviya 7 months ago