Sath Zindgi Bhar ka - 25 in Hindi Love Stories by Khushbu Pal books and stories PDF | साथ जिंदगी भर का - भाग 25

Featured Books
Share

साथ जिंदगी भर का - भाग 25

आप सॉरी मत बोलिए कुंवर जी आस्था तो फिर क्या करें एकांश कि नहीं कहते हुए आस्था के गालों पर आए हुए बाल पीछे किए फिर एक बार आस्था सिहर उठे

और यह एकांश को भी महसूस हुआ उसने झट से अपना हाथ पीछे ले लिया कुंवर जी आप हम आस्था हमारा रिश्ता अभी तक इतना कमजोर है

कि हमसे आप ठीक से बात भी नहीं कर सकती एकांश हमें शर्म आ रही है दिल कह रहा है कि आप से बहुत बातें कर लेकिन अपना मुंह में से अल्फाज ही नहीं निकल रहे हैं

और ना ही पलके उठ रही है आस्था ने सब कुछ इतनी जल्दी सही कहा कि एकांश को दो पल समझ में ही नहीं आ रहा था

लेकिन जब समझ आया तो उसके चेहरे पर एक बेहद दिलकश स्माइल आ गई दोनों भी खामोशी से एक दूसरे का presence महसूस कर रहे थे

चले चले एकांश और आस्था दोनों ने एक साथ कहा और फिर दोनों मुस्कुरा दिए आस्था उठ कर जाने लगे

तभी एकांश ने उसका हाथ थामा आस्था वह हमारे जिंदगी का सबसे खूबसूरत लम्हा था

और हम नहीं चाहते उस लम्हे की वजह से आप हमसे बात करना डाल दे या फिर शर्म से ही सही लेकिन हमसे नजरें चुरा ए आपके बिना आपकी बातों के बिना हमारा रहना मुश्किल नहीं नामुमकिन है

एक आस्था के हरी आंखों में देखते हुए कह रहा था और आस्था उसके हर एक अल्फाज से सिहर रही थी

एकांश ने फिर एक बार आस्था के सर पर अपने प्यार की मोहर लगानी चाहिए लेकिन आस्था पीछे हट गए एम सॉरी हमें ऐसा नहीं करना चाहिए था एकांश को बुरा लगा

अभी नहीं हम बाहर हैं आस्था के इस जवाब से एकांश खुश हो गया दोनों गाड़ी की ओर बढ़ गए

एकांश में फिर एक बार आस्था के लिए दरवाजा ओपन किया कुछ ही पलों में वह दोनों कॉलेज के पास पहुंच गए बाय आस्था ने कहा और एकांश के चेहरे की स्माइल गायब हो गई

लेकिन उसके सेट चेहरे को देखकर आस्था ने उसके गाल पर अपने होंठ रख दिए और जल्दी से नीचे उतर गई

यह क्या कर दिया हमने हम कैसे इस तरह की किस कर सकते हैं कुंवर जी को आस्था पूरे वक्त इसी ख्यालों में गुम थी और एकांश वह तो किसी और ही दुनिया में पहुंच गया था

उसके चेहरे की स्माइल कम होने का नाम ही नहीं ले रही थी आस्था आस्था क्या हुआ लेक्चर में भी तुम्हारा ध्यान नहीं था

और यह रिचा यह भी पता नहीं कहां खो गई थी साक्षी यार किस रिचा ने अपने ही धुन में है कहा

और आस्था हड़बड़ा गई किस क्या कह रही है

आप रिचा आस्था आय किस हम तुम्हें पता है हमने लिप लॉक किया हम मेरा फर्स्ट केसी आर कितना एक्साइटिंग था

रिचा हॉट लिप लॉक आप दोनों ऐसे शादी से पहले किस आई मीन हाउ आस्था कुछ भी बड़ बढ़ाएं जा रही थी

बेबी लिप लॉक और शादी कर ले चल हम दोनों बच्चे और हैं और तो और रिलेशन में भी तो यह कौन है

और वैसे भी आजकल किस तो क्या लिमिट क्रॉस करना भी आम बात है रिचा आस्था लिमिट क्रॉस का मतलब

रिचा वही जो शादी के बाद होता है रिचा ने कहा और आस्था कंफ्यूज हो गई क्या होता है

शादी के बाद आस्था के चेहरे पर इतना बड़ा? था इसलिए मैं तुम्हें बेबी बुलाती हूं यार तुम्हें इतना नहीं पता कि शादी के बाद क्या होता है

रिचा यार मुझे तो लगता है यह शादी के बाद हमारे जीजू को भूखा ही रखेगी आस्था नहीं हमको खाना बनाना आता है तो भूखा क्यों रखेंगे

आस्था को फिर एक बार मासूमी भरा जवाब जिस पर साक्षी और रिचा जोरों से हंसने लगी ओ बेबी तेरा कुछ नहीं हो सकता

तू ना बस अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें अरे नहीं यार बताओ ना आस्था ओए पागल यह बात बताने वाली थोड़ी होती है

और वैसे भी वह एक खास फीलिंग होती है जो किसी खास के करीब आने से होती है ऐसा लगता है

जैसे पेट में कई तितलियां डांस कर रही हूं सांसे बेकाबू होने लगती है पूरे बदन में अजीब सी हलचल होने लगती है

और भी बहुत कुछ रिचा लेकिन यह फिल्म कौन सी होती है आस्था फीलिंग नहीं जाए यह तो नशा होता है

मोहब्बत का नशा जो एक बार सर चढ़ गया तो उतरता ही नहीं है साक्षी और साक्षी मैडम कौन है

वह बता जिसके मोहब्बत का नशा आपको चढ़ा है रिचा में चढ़ते हुए कहा है कोई मैं तो अपना दिल उस पर हार गई लेकिन वह है कि भाव ही नहीं देता है साक्षी

ओए अब तू कहां खो गई रिचा ने आस्था से कहा हमें मोहब्बत हो गई है

यह सच में ऐसे तितलियां उड़ने पर पता चलता है आस्था यार तूने इंपॉसिबल है साक्षी इसे ना हम थोड़ी रोमांटिक वाली मूवी दिखाते हैं

यह ऐसे रही ना तो हमारे मासी बनने के चांस तो खत्म समझो रिचा ने कहा और साक्षी ने हंसते हुए हां में सिर हिलाया

बेचारी आस्था सिर्फ उन्हें देखने का काम कर रही थी

समय को रोक कोई रोक नहीं पाया और भला वह अपनी तेजी से गुजरता चला गया और ना उसे कोई रोक पाता है

और ना किसी का उस पर जोर चलता है आस्था अपने फ् फ्रेंड्स फैमिली के साथ आगे बढ़ रही थी

एकांश के लिए उसकी फीलिंग और भी स्ट्रांग हो रही थी

अब वह जान से ज्यादा वक्त बिताती उसे क्या पता था उसके इस हंसते खेलते जिंदगी को किसी की नजर रखने वाली है

जिसके साथ वक्त बिताने के लिए वह जो इतने बहाने बनाती थी उससे ही दूर होने का वक्त नजदीक आने वाला है

अपनी मोहब्बत का इजहार करने से पहले ही कोई उसे दूर करने वाला है

Stay connected plzz app logo कि preshani m janti hu jb story ke episodes nhi aate h to kesa lgta h interest khtm hota jata h lekin pllzz app log apna interest khtm mt kijiye app logo का interest khtm na ho es lie mne apke lie 2 episode dal die h to batyega jarur कि apko ye episode kesa lga और comments krna mt bhulyega plzzz