Ishq e Prapanch - 33 books and stories free download online pdf in Hindi

इश्क ए प्रपंच - 33 - पब्लिसिटी

😘 😘 Jinu 😘 😘 😘:
राजवीर अभी तक शांत था, वह कुछ नहीं कह रहा था। बस उसके चेहरे पर हल्की सी मुस्कुराहट थी
नैना! ने उसकी ओर देखते हुए कहा, जहां आप भी वह सोच रहे हैं जो मैं सोच रही हूं। राजवीर ने नैना की ओर देखते हुए कहा, कोई बात नहीं लोरी को ओवरकॉन्फिडेंस ही। उसे मारने दो दुनिया में राज एक ऐसा इंसान था नैना को जिसके सामने अपने आपको कहने की जरूरत नहीं पड़ती थी कि अपने आपको एक्सप्लेन करने करके अपना समय बर्बाद करने की जरूरत नहीं थी। अब उसके बिना कहे ही सब कुछ समझ आ जाता था।
कविता ने जो स्टेटमेंट दिया था उसके हिसाब से बिल्कुल जाहिर हो रहा था कि वह लोरी का सपोर्ट कर रही है। वह स्टेटमेंट एक तरफा था और बस उसी बात को लेना नहीं। अब और ज्यादा हवा दे दी थी। जैसे लोरी ही सबसे अच्छी है और अब अगली सुपरस्टार बनने वाली। मॉडर्न इंडस्टरीज अब लोरी के ही नाम जानी जाएगी।
राजवीर बिल्कुल हमें बस इस बात को हवा देने हैं कि लोरी सबसे अच्छी है और वह जितना ऊंचा उड़ेगी और गिरेगी तो उतनी ही उसे चोट आएगी और हमें ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वक्त आने पर तुम्हें सिर्फ अपने काबिले दिखानी है और लोग खुद सब कुछ समझ जाएंगे।
मीरा इन दोनों को एक साथ में देख रहे थे मीरा दोनों को साथ में देखकर सोच रही थी कि करण के सामने तो बिल्कुल! तेज तर्रार तलवार की तरह है जबकि राजवीर के सामने बिल्कुल एक मासूम सी नाजुक सी एक ऐसी औरत बन जाती है जिसे हर कदम पर अपने पति की जरूरत है। उसे हर कदम पर चाहिए कि उसका पति उसकी रक्षा करें। वाकई में नैना राजवीर के सामने कुछ और ही इंसान बन जाती हैं। पर कुछ भी कहो, यह जोड़ा है तो परफेक्ट है।
मीरा यह देखना चाहती थी कि अब नैना लोरी को खत्म कैसे करेगी क्योंकि कविता ने उसके ईगो को इतना ज्यादा बढ़ा दिया है कि अब जब लोरी गिरेगी तो उठ नहीं पाई और देखने के लिए मेरा बेताब है। राजवीर किचन में जाकर खाना बना रहा था और तभी कपड़े बदल कर लेना भी आ गए। उसके पीछे से आकर राजवीर को उसकी कमर से पकड़ लिया।
राजवीर अपने काम में बिजी है और बिना नैना की और देखे उसने कहा, यहां पर बहुत ज्यादा धुआं हो रहा है। तुम बाहर जाओ जाकर बैठ जाओ।
नैना तुम इतने अच्छे हो कि मुझे अब डर लगने लगा है मुझे तुम्हें खोने का डर लगने लगा है। मुझे लगता है कि आप कहीं ऐसा दिन ना आ जाए जब तुम मुझे छोड़ कर जाने लग जाओ।
राजवीर में बड़ी शांति से नैना की ओर देखा और कहा अच्छा, अगर ऐसा दिन आ गया है तो क्या वह नैना जो अपने करियर को लेकर इतनी जंगली है। इतने लड़ाकू है अपने प्यार के लिए नहीं लड़ेगी और मुझे बस ऐसे ही जाने देगी। मुझे नहीं रुकेगी या फिर मुझे पाने की कोशिश नहीं करेगी।
राजवीर की बात सुनकर नैना के चेहरे पर मुस्कुराहट आ गई और वह राजगीर के सामने की तरह आकर उसके दोनों हाथों में बीच में घुस गई और प्यार से उसके गले लग गई और उसकी शर्ट के ऊपर के दो बटन खोलकर शर्ट के अंदर अपने हाथ डाल दिए। राजवीर हंसते हुए तुम मुझे खाना बनाने में डिस्टर्ब कर रही हूं। फिर खाना अच्छा नहीं बनेगा। सोच लो।
यह सुनकर नैना अचानक से राजवीर के पास आ गई और नैना के होट राजवीर के सीने से टकरा गए। इसे देखकर राजवीर ने अपना हाथ धोया और नैना को नैना की कमर पर हाथ डालते हुए कहा, क्या तुम मुझे डिनर से पहले कुछ मीठा खिलाने आई हो? नैना क्या यह मिठाई काफी रहेगी?
राजवीर मुझे टेस्ट करके बताना पड़ेगा और यह कहते ही राजवीर नैना को किस करने लग गया?
राजवीर को नैना का हरूप आश्चर्यचकित कर देता है। कभी- कभी नैना एकदम लड़ाकू लड़की थी तभी कभी एकदम मोम की गुड़िया और उसकी यही बात सारी बातें राज को नैना की और करीब खींच लाती थी। उसकी नैना को पाने की इच्छा और भी ज्यादा बढ़ गई थी।
पर इनके प्यार के बीच में डिनर बनने में पूरे 2 घंटे लग गए। जैसे ही खाना टेबल पर लगा राजवीर और नैना खाने की टेबल पर बैठे राजवीर ने नैना के पर अपना हाथ रखा जिससे उसे नैना को सबसे बड़ा सरप्राइज बताने के बारे में याद आ गया।
तभी राशि खाने को ललचाए वही नजरों से देख रही थी। उसने नहीं सोच रखा था कि इंडस्ट्री के बिग बॉस ओबेरॉय इंटरनेशनल के मालिक दी। ग्रेट द ग्रेट राजवीर ओबेरॉय को खाना बनाना भी आता है। और इतना तरीके से इतने अच्छे तरीके से बनाना आता है।
नैना ने राशि की ओर देखकर मजाकिया लहजे में कहा, अब इस खाने के लिए लामी करने के बारे में मत सोचो, बैठो खाना, खाना है। राशि हंसते हुए तुम्हें कैसे पता चला मेरे दिमाग में यही सब चल रहा है। राशि वैसे तुम और बिग बॉस 2 घंटे से किचन में क्या कर रहे थे?
राजवीर जल्दी खाना खत्म करो हमें खाना खाने के बाद को हमें कुछ इंपॉर्टेंट करना है। नैना नहीं पूछा, क्या काम है बताओ मुझे राजवीर वक्त आने दो,। मैं बता दूंगा आपको?

राजवीर नैना के बालों में हाथ फेर रहा था मेरा अब राशि और दोनों इन दोनों के प्यार को देख रहे थे और सोच रहे थे कि सच में इस दुनिया में राजवीर ही एक ऐसा इंसान है जो नैना को मोम बना सकता है। मैं ना किसी के सामने ऐसी नहीं होती। यह सब अलग ही नैना है। जिसे वह दोनों अपने सामने देख रहे हैं वैसे अभी नैना के लिए रात का सबसे बड़ा सरप्राइज बाकी है।
डिनर के बाद में राजवीर नैना को लिविंग एरिया में लेकर आया वहां पर पहले से कुछ अमेरिकन लोग बैठे हुए थे। उन्हें देखकर नैना थोड़ा कंफ्यूज हो गई और कंफ्यूज हो कर उसने राजवीर की और देखा।
राजवीर अमेरिकन लोगों के साथ जाकर बैठा और वह वापस आपस में बात करने लगे। उनकी बात सुनकर ही नैना को समझ में आ गया कि राजगीर नैना के लिए इंश्योरेंस खरीद रहा है।
राजवीर नैना के पैरों को इंश्योर करना चाहता है।
नैना नहीं राजवीर की ओर देखा और इशारों में उसे मना किया। राजवीर ने नैना को कहा देखो, तुम मुझे अपने लिए कुछ करने नहीं देती हो ना कभी मुझसे कुछ मानती हो पर मेरा इतना तो हक है कि मैं तुम्हारे लिए एक इंश्योरेंस खरीद सकूं। बॉडी पार्ट्स के इंश्योरेंस होना आम बात है। सेलिब्रिटी ऐसे ही करते हैं।
लेकिन वह नैना दिखावा करने के लिए ऐसा करते हैं पर राजवीर नैना के पैरों को बिना किसी स्वार्थ के इंश्योरेंस कराना चाहता था,। उसका ना तो कोई पॉसिबिलिटी एजेंडा था और ना ही उसके बदले में उसे कुछ और चाहिए था यह सिर्फ उसका नाना के लिए निस्वार्थ प्यार था।
नैना पर आपको क्या करना है? राजवीर क्योंकि इनसे ज्यादा खूबसूरत पैर मैंने आज तक नहीं देखे हैं। नैना राजवीर की बात को मानना नहीं चाहती थी। पर उसकी बात को मान मना भी नहीं कर सकती थी। राजवीर उसका पति है उसके लिए कुछ करना चाहता था तो कैसे मना करती? नैना ने मन ही मन सोचा, क्योंकि वह अभी कोई बहुत बड़ी सेलिब्रिटी नहीं बनी थी बस एक आम सी।
मामूली सी मॉडल है इसीलिए उसके इंश्योरेंस की कीमत बहुत ज्यादा नहीं होगी। यह सोचकर उसने राजवीर को हां कह दिया। राजवीर ने जैसे ही एजेंट को इशारा किया इशारा समझते ही एजेंट नैना के पैरों की वैल्यू निकालने लगा था कि उससे इंश्योरेंस की कीमत पर लगा जा सके। एजेंट अभी कीमत निकाल ही रहा था कि तभी राजवीर बीच में उठकर बोला, मुझे नहीं पता। क्या कीमत होगी लेकिन जो भी कीमत होगी मैं उसका 10 गुना का इंश्योरेंस करवाना चाहता हूं। एजेंट बोला इस तरह से तो कीमत 100 मिलियन डॉलर पहुंच जाएगी। आपको नहीं लगता
100 मिलियन डॉलर का नाम सुनते ही नैना की सिट्टी पिट्टी गुल हो गई आंखें फटी। राजवीर की ओर देख रही थी और उसे ऐसा बिल्कुल ना करने का इशारा कर रही थी पर राजवीर उसे आंखों ही आंखों में शांत रहने के लिए कहा और एजेंट को कहा कि ठीक है आप इसकी प्रोसेस शुरू कीजिए। प्रोसेस शुरू हो चुका था। नैना नहीं,। ऐसा मत करो, यह बहुत ही ज्यादा है। राजवीर यह बहुत ही जरूरी है मेरी बात मानो।
नैना की आंखों में आंसू आ गए वह राजवीर का निस्वार्थ प्यार देख रही थी। उसके मन में चल रहा था कि राज्य से शादी तो उसने अपने मकसद को पाने के लिए ही की थी। बस कर ली थी ऐसे ही पर राजवीर ने उसे खुले दिल से अपनाया था। यहां तक कि उसका अतीत उसकी चीजों पर परे रखते हुए अपना या इतना भरोसा किया जितना प्यार आज भी ने उसे दिया है। शायद जिंदगी में कोई भी नहीं दे सकता है नैना की आंखों में दो आंसू छलक आए और उसने राजवीर को कहा, अगर इतना ही जरूरी है तो अपने लिए क्यों नहीं करते? राजवीर शरारत भरी मुस्कान के साथ नैना से कहा, मेरे पैर तुम्हारे जितनी खूबसूरत नहीं है
पीछे खड़े? राशि और मीरा दोनों यह सारी बातें सुन रही थी और देख रहे थे कि दोनों इन दोनों में प्यार को और राजवीर के प्यार को और निस्वार्थ भावना को देखकर इन दोनों की आंखों में आंसू छलक आए।
राशि ने मीरा की ओर देखते हुए कहा देखो आज राजवीर सर ने नैना की बेशकीमती बना दिए। आज नैना की यह कीमत है कि अगर वह चाहे तो खड़े- खड़े। स्टार कंपनी। को खरीद सकती है पर इस 100 मिलियन डॉलर से ज्यादा राजवीर सर ने जो नैना पर प्यार दिखाया है जो भरोसा दिखाया है, बहुत ज्यादा कीमती है। इससे तो नैना अनमोल हो चुकी है बहुत ही ज्यादा।
जब तक एजेंट इंश्योरेंस की प्रोसेस पूरी कर रहा था उस दौरान राज्य में शांत और गंभीर होकर नैना की ओर देखा कहा मैं तुम्हारा भविष्य सुनिश्चित करना चाहता हूं। आज मेरी कंपनी बहुत अच्छी है। मुझे मालूम है लेकिन आगे 20 से 30 सालों में क्या होगा। कैसा होगा जितना आज हम अच्छी स्थिति में हैं। हम वैसे रहेंगे या नहीं, मुझे कुछ नहीं पता। मैं रहूंगा या नहीं, मुझे यह भी नहीं पता। पर तुम्हारे पास मैं तुम्हारे भविष्य के लिए यह पैसे रहेंगे और तुमको!

इसको जैसे चाहो वैसे तो इस्तेमाल कर सकती हो तुम्हें आगे अपने भविष्य के बारे में सोचने की जरूरत नहीं है। आज से तुम्हारा भविष्य सुनिश्चित हो गया है।
नैना अपने आप को रोने से रोक नहीं पा रही थी। आज बहुत समय के बाद उसकी आंखों में फिर खुशी के आंसू थे।
राशि मीरा से पता है मैं आज करण की कितनी शुक्रगुजार हूं। उसने उस लोरी को चुना और मेरी नैना को छोड़ दिया और उसकी राजवीर जी से शादी हो गई। इससे अच्छा कभी कुछ नहीं हो सकता। मैं बस यह चाहती हूं कि वह अपनी घटिया मॉडल को पकड़े और नैना की जिंदगी से बाहर चला जाए।
इधर दूसरी और करण अपने पूरे हाथ- पांव मार रहा था कि ताकि वह इंडिया में लोहड़ी की पब्लिसिटी कर सके। वह हर कोशिश कर रहा था ताकि लोरी को और ज्यादा मीडिया एक्स्पोज़र मिले। इस सबसे लोरी को एम बढ़ रहा था रिश्तेदारों में कहीं ना कहीं नैना का जिक्र भी नहीं था पर लोरी के पूरे आर्टिकल में नैना के नसीब में सिर्फ एक दो लाइन ही थी और यह सब करण और कविता ने जानबूझकर किया था।