Ishq e Prapanch - 38 books and stories free download online pdf in Hindi

इश्क ए प्रपंच - 38 - मिलन

😘 😘 Jinu 😘 😘 😘:
राशि राजवीर को सब कुछ बताने वाली थी कि नैना ने बीच में ही उसे रोकते हुए कहा, राजवीर घर चलो! मुझे आपसे कुछ बात करनी है हांलाकि राजबीर को यह समझने में देर नहीं लगी थी कि हुआ क्या है? उसने राशि की ओर देखा और राशि की शक्ल देख कर ही सब कुछ समझ लिया। इसका हर्जाना तो उन लोगों को भुगतना ही पड़ेगा। पर अभी कुछ नहीं। अभी वह सुनना चाहता था कि नैना क्या कहने वाली है?







दोनों घर पहुंचे राजवीर ने नैना को अपनी बांहों में लिया और गोद में उठाकर अपने बेडरूम तक ले गया। इस वक्त बेडरूम में सिर्फ दोनों अकेले हैं। उसने मेरे को बोला कि फर्स्ट एड बॉक्स ले कल आकर दो फर्स्ट एड बॉक्स अपने हाथों में लेकर वह जमीन पर बैठ गया और नैना के पैरों पर दवाई लगाने लगा। नैना को राजवीर को इस तरह जमीन पर उसके लिए परेशान बैठा देखकर नैना के दिल में कुछ-कुछ हो रहा था।







राजवीर से बार -बार कुछ कहना चाह रही थी पर रुक रही थी। उसकी जुबान लड़खड़ा रही थी। फिर भी उसने हिम्मत जुटाकर कहा,


राजवीर आई लव यू और अब मैं पूरी तरह से तुम्हें पाना चाहती हूं मैं।


आज जो भी हूं मैं तुम्हारी वजह से हूं सिर्फ और सिर्फ तुम्हारे लिए हूं अब लोरी और करण को साथ में देख कर मेरा दिल नहीं लगता है। इससे मुझे समझ आ चुका है कि मेरा अब मेरे अतीत से कोई रिश्ता नहीं है।

बस यह सुनने की देरी थी कि राजवीर नैना के ऊपर आ गया और उसे ज़ोर से किस करने लगा। नैना ने भी उसे बराबरी किस करना शुरू कर दिया? थोड़ी देर में दोनों के कपड़े उतर चुके थे।


हालांकि दोनों अपनी शादी की रात भी इस हद तक जा चुकी थी। पर फिर भी नैना नर्वस क्योंकि उसने पहले ऐसा कुछ कभी नहीं किया था और उससे ज्यादा उसे शादी की रात वाला दर्द याद आ गया। अभी राजवीर आगे बढ़ा ही था कि नैना ने अपनी आंखें बंद कर ली।

वह बस राजवीर की होना चाहती थी इस वक्त ना वह अपना दर्द याद रखना चाहती थी और ना ही चीज सिर्फ असली में सच में राजवीर की पत्नी बनना चाहती थी। राजवीर और वह एक हो जाएं। बस यही चाहती थी ! नैना!

राजवीर ने नैना से पूछा तुम्हारी अभी आगे भी। कोई शूट है नैना मुझे नहीं पता, मुझे मेरा से पूछना पड़ेगा। राजवीर ठीक है, नहीं है तो कोई बात नहीं,। उसको बोल दो कि आगे तुम्हारे लिए कुछ भी अरेंज ना करें। मैं अगले 3 दिन तक तुम्हें बिस्तर से उठने नहीं दूंगा।

नैना अच्छा और तुम्हारे काम का क्या?




राजवीर मेरा सबसे जरूरी काम इस वक्त मेरे सामने है। यह कहकर राजवीर में कॉन्डम उठाने के लिए उठा जैसे ही कंडोम लिया, नैना ने सबसे पहले उसकी तरफ देखा कि आखिर condom यहां पर क्या कर रहा है? नैना की नजरों से बात समझते हुए राजवीर ने सफाई दी हम।




शादीशुदा है और मेरे पास यह सब कुछ होना चाहिए। ऐसा नहीं है कि मेरे मैंने पहले भी कभी रखा है। पर हां मैं जब से हमारी शादी हुई है तब से लेकर घूम रहा हूं क्योंकि मैं इस पल का इंतजार कर रहा था। नैना का पहली बार स्पेशल हो और उसे जिंदगी भर याद रहे राजवीर बस यही चाहता था और वही हुआ भी।




नैना और राजवीर रात में दोनों थक कर सो गए। और सुबह जब नैना की आंख खुली तो वह राजवीर की बाहों में सो रही थी। आंखें खुलते ही राजवीर का चेहरा उसके सामने आ गया। राजीव ने मुस्कुराते हुए कहा गुड मॉर्निंग मिसेज ओबरॉय!




आज नैना के चेहरे पर एक अजीब सी तसल्ली एक अजीब सा सुकून था जिस इंसान को उसने ऐसे ही अपना पति बना लिया आज वह पूरी तरह से उसकी हो चुकी थी


लेकिन जैसा कि राजवीर ने प्लान किया था कि 3 दिन तक वह सिर्फ एक दूसरे के साथ रहेंगे। वैसा नहीं हो पाई है भागते हुए मीरा कमरे में आई और उसने बताया कि सीक्रेट मेडिसिन वालों ने यहां से डायना का फोन आया और डायना ने सारे के सारे।







स्टार! किंग! के लोगों को एक लंच के लिए बुलाया है। नैना काम के लिए कभी भी ना नहीं कर सकती थी और खास तौर पर मैगजीन रिलीज के 1 दिन पहले तो बिल्कुल भी नहीं। वह तैयार होकर। जैसे सीक्रेट मैगजीन के ऑफिस में पहुंची वहां पर आज करण और लोरी ने उसे परेशान और इमोशनली टॉर्चर करने के लिए एक और तरीका सोच रखा था। लंच अभी शुरू ही होने वाला था कि तभी दोनों साथ में खड़े हुए और हाथों में हाथ लिया और उन्होंने अनाउंस किया कि वह दोनों जल्दी ही सगाई करने वाले हैं।







सीक्रेट मैगजीन मालूम में से कोई भी इन तीनों के रिश्ते के बारे में नहीं जानता था कि आखिर इन तीनों का आपस में क्या रिश्ता है, क्या है और कैसा रहा है? सब लोग खड़े होकर दोनों को बधाइयां देने लग गए सिर्फ राशि मीरा और नैना को छोड़कर। तभी।







कविता नैना के पास आई और कविता ने कहा, तुम इनको सगाई की बधाई नहीं दोगी। क्या मुझे पता है पहले तुम करण की मंगेतर थी, पर अब लोरी है इस वक्त तुम्हें तो बुरा लग ही रहा होगा और तुम अपने अलावा किसी को बधाइयां दे भी नहीं सकती। तुमसे ऐसी उम्मीद करना ही फालतू है।







पर थोड़ा तुम्हें अपना दिल और दिमाग खुला रखना होगा। यह एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री है। यहां पर लोगों के रिश्ते टूट भी जाते हैं और उन्हीं के सामने दूसरों से जुड़ भी जाते हैं। फिर उन्हीं लोगों के साथ में काम भी करना पड़ता है। तुम्हें थोड़ा और अपना दिल बड़ा करना होगा। नैना अपना चेहरा बिल्कुल शांत रखते हुए कविता से पूछा, इनकी सगाई कब है?










कविता जैसे ही मैगजीन हिट हो जाएगी, हम इनकी सगाई करवा देंगे। दरअसल, कविता और करण अभी भी इंडिया में लोरी को प्रमोट करने में लगे हुए थे। वह रोज उसके लिए आर्टिकल छपवा रहे थे और इस तरीके से लोरी के साथ-साथ सीक्रेट मैगजीन वाले पहले ही फेमस हो चुकी थी।










नैना ने कहा, अच्छा, ऐसी बात है ठीक है एडवांस में मेरी तरफ से तुम दोनों को बधाई। यह शब्द लोरी को दिल से निकले हुए नहीं लगे और उसने नैना की ओर देखते हुए कहा, रहने दो नैना जब तक दिल से ना निकले बधाई नहीं देनी चाहिए। मैं तो अच्छे से जानती हूं कि तुम मुझे और कर्ण को कभी भी एक साथ नहीं देखना चाहती हो और तुम मुझसे नफरत करती हो। नैना अच्छा तो प्लीज अब यह मत कह देना कि मैं तुम्हें पसंद करना होगा। मेरी ऐसी कोई मजबूरी नहीं है।










इन तीनों को सामने लड़ते देख कर डायना को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था क्योंकि वह तीनों हिंदी में बात कर रहे थे पर। 2 भाषाओं की मदद से उसने सब कुछ जाना और जानते ही उसको आश्चर्य का ठिकाना ही नहीं रहा क्योंकि अब उसके समझ में आ रहा था कि क्यों सारे लोग शुरू से ही नैना के खिलाफ थे।







डायना इंडस्ट्री के इस तरीके से बखूबी परिचित थी, वह अच्छे से जानती थी कि यहां पर ऐसे ही रिश्ते कभी भी बन जाते हैं और कभी भी बनकर टूट जाते हैं पर उसे नैना का काम और उसकी काबिलियत पर भरोसा था और वह अच्छे से सब कुछ देख भी चुकी थी। उसने नैना की एक मतलब भरी नजरों से देखा।







जैसे उसे आंखों ही आंखों में इशारा कर रही हो कि तुम परेशान मत हो, लोरी की औकात मुझे पता है पर सबसे ज्यादा आश्चर्य डायना को यही सोचकर हो रहा था कि क्या लोरी की काबिल है तब किस हद तक है यह? स्टार्टिंग वाले नहीं जानते लेकिन डायना ने बीच में बोलना ठीक नहीं समझा और लंच के बाद वहां से चली।







लंच के बाद जब वहां के सारे लोग चले गए तो सिगरेट मैगजीन के थोड़े बहुत ही स्टाफ वहां पर मौजूद था बाकी सारे लोग। स्टार! किंग के थे। लोरी ने मौका देखकर नैना पर फिर से बातों का हमला करना शुरू कर दिया और उसकी ओर देखकर कहा, अब तो तुम्हें पता चल ही जाएगा कि तुम्हारी औकात क्या है। तुम्हें क्या लगता है हाफ इंडिपेंडेंट ओंट्रेक प्ले करो!













तुम बहुत कुछ कर पाओगी यह मत बोलो कि तुम! स्टार! किंग के बिना कुछ भी नहीं हो, अगर अपनी औकात में रहोगी तो करण आगे भी तुम्हारे लिए काम देखता रहेगा वरना तुम्हारी कोई औकात ना थी और ना ही रहेगी और रही मेरी बात तो मैं अब करण और सुपरमॉडल का टाइटल दोनों मेरे।










दोनों की बात को बीच में ही रोकते हुए करण ने लोरी से कहा, कोई बात नहीं बेबी! बैठ जाओ हम बैठ कर आराम से बातें करते हैं और नैना की ओर देखकर कहा, तुम्हें कुछ समझ आया। नैना हां बिल्कुल मैं समझ चुकी हूं। जैसे ही मैगजीन रिलीज होगी लोरी की पॉपुलर एटी और भी ज्यादा बढ़ जाएगी और सुपरमॉडल का टाइटल तो लोरी का ही होगा।










नैना के मुंह से यह शब्द सुनना लोरी के लिए किसी आश्चर्यजनक से कम नहीं था पर उसे लग रहा था कि नैना सच में उसकी तारीफ कर रही है और इस पर बहस बहुत ज्यादा खुश भी हो रही थी। लोरी तभी तो तुम्हें कह रही हूं कि अपनी औकात में रहो अगर!







स्टार! किंग! कंपनी तुम्हें बना सकती है तो तुम्हें कुचल भी सकती है। तुम्हें सबसे पहले इस कंपनी की जरूरत है और उससे ज्यादा मेरी बातों को समझने की जरूरत है। नैना तो ठीक है ना हम मैगजीन रिलीज होने का इंतजार कर लेते हैं।










उसमें अभी वक्त ही कितना बचा है और यह कहकर नैना वहां से जाने लगी पर लोरी ने पीछे से रोकते हुए कहा, मुझे पता है तुम्हें यह चीज एक्सेप्ट नहीं हो रही है कि मेरा शूट तुमसे ज्यादा अच्छा गया है और थोड़े ही समय में अब मैं सुपरमॉडल का टाइटल भी जी लूंगी और कोई बात नहीं। मुझे यकीन है कि मेरा शूट देखने के बाद तुम्हें मेरी काबिलियत पर भरोसा भी हो जाएगा और अपनी जगह भी समझ आ। जाएगी।