Ishq e Prapanch - 42 in Hindi Love Stories by Khushbu Pal books and stories PDF | इश्क ए प्रपंच - 42 - मनेजर

Featured Books
Share

इश्क ए प्रपंच - 42 - मनेजर

😘 😘 Jinu 😘 😘 😘:
अपने बॉस के शब्दों को सुनकर कविता के होश ही उड़ गए थे। उसने अपने आप को संभालते हुए कहा सर प्लीज मुझे अपनी सफाई देने का एक मौका तो दीजिए।

बॉस क्या मौका दो तुम्हें और तुम अपनी सफाई में क्या कहना चाहती हो, तुम्हें नहीं लगता कि हमें यह पता चल जाएगा कि तुम हमारे खिलाफ जाकर अपने भाई की मदद कर रही थी जबकि तुम अच्छे से जानती थी कि सीक्रेट मैगजीन के साथ में हमारा कोलैबोरेशन है। हम वहां पर अपनी मॉडल भेज सकते थे। तुम सोचो अगर इस ओरिएंटल ट्रेंड शूट के लिए हमारी मॉडल भेजती तो हमारा कितना फायदा होता हमारी पकड़ मार्केट में कितनी मजबूत हो जाती?

पर नहीं तुमने तो अपने भाई की मदद की और तुमने तो अपने भाई की कंपनी की मॉडल को वहां पर ले कर चली गई और तो और तुमने अपने काम पर भी ध्यान नहीं दिया। मुझे कुछ नहीं सुनना। बस तुम्हारी नौकरी तो चली गई है उसके साथ-साथ तुम अब कॉन्ट्रैक्ट को तोड़ने का हर्जाना भरने के लिए भी तैयार हो जाओ। हर्जाने की रकम तुम्हें पता ही है।

कविता के बॉस ने बिना उसकी कोई बात यहां कोई भी सफाई सुने फोन काट दिया।

कविता बिखर कर जमीन पर गिर गई और उसके मुंह से सिर्फ एक ही शब्द निकला। सब खत्म हो गया है, सब खत्म हो गया है। मैं खत्म हो गई। मेरा करियर खत्म हो गया है। सब कुछ खत्म हो गया है।

करण दौड़कर कविता के पास आया और उसने बोला, दीदी क्या हुआ क्या खत्म हो गया है?

कविता ने गुस्से में चिल्लाते हुए कहा, यह सब तुम्हारी वजह से हो रहा है। मेरी नौकरी चली गई है। मेरा करियर खत्म हो गया है। सब कुछ तुम्हारी वजह से हुआ है। करण कुछ खत्म नहीं हुआ है अभी आपके पास हूं ना। मैं मैं आपके साथ रहूंगा।

कविता तुम सिर्फ और सिर्फ लोरी के हो तुम किसी को नहीं हो सकते हो। कविता ने मन में पछतावा और दुख! दोनों था अब उसे अब पछतावा हो रहा था कि क्यों नैना के खिलाफ गई और उसने क्यों अपने इस बेवकूफ भाई की मदद करें और अब वह कुछ नहीं कर सकती थी।

करण दीदी आप परेशान मत हो, मैं हूं ना आपके साथ आप जो बोलेंगे वह मैं करूंगा। कविता अच्छा तो ठीक है, अगर तुम्हें मेरी मदद करनी है तो तुम एक काम करो मेरी जो हर्जाने की रकम है, उसका आधा तुम दे दो। तुम्हें मेरे हर्जाने की रकम पता है।

10 मिलियन यूएस डॉलर तो उसका आधा मतलब 5 मिलियन यूएस डॉलर तुम दे दो और उसके साथ-साथ मुझे नैना का मैनेजर बना दो मैं नैना के मैनेजर बनने के बाद उस करियर की ऊंचाइयों तक ले कर जाऊंगी और उसके जरिया अपना काम वापस।

क्योंकि अब यहां अमेरिका में तो मुझे ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है। मैं यहां पर काम नहीं कर सकती और इसका मतलब समझते हो कि इसका मतलब यह है कि मैंने इतने साल अपना करियर बनाने में जो भी मेहनत की थी, वह यहां सब बर्बाद हो चुकी है। मैं यहां पर अब जीरो हूं बस जीरो।

करण ऐसा नहीं है, ऐसा नहीं होने दे सकता वह अपनी बहन को नैना का मैनेजर नहीं बना सकता है क्योंकि सबसे पहली बात यह फैसला तो गलत ही है और दूसरी बात यह कि बहन नैना से पीछा छुड़ाने का मौका ढूंढ रहा है।

उसने कविता से कहा, कोई बात नहीं, मैं पैसे का इंतजाम करता हूं। आप पैसों के लिए परेशान मत हो आधी कीमत मेरे हिस्से की कुछ शेयर बेचकर आ जाए। उसका मैं इंतजाम कर दूंगा पर आप नैना का मैनेजर बनने वाली जिद छोड़ दो क्योंकि पहली बात तो यह है कि जो हमने नैना के साथ किया है उसके बाद नैना इस बात के लिए कभी भी तैयार नहीं होगी और दूसरी बात यह है कि उसके पास पहले से ही मीरा है।

तुम समझ क्यों नहीं रहे हो अगर हम उसे नहीं रोक सकते हैं तो कम से कम उसकी पॉपुलरटी का फायदा तो उठा सकते हैं और तो और अगर मैं उसके साथ रहूंगी तो उस पर नजर भी रख सकती हूं। तुम समझो तुम हम एक तीर से दो शिकार कर पाएंगे। यह सुनने के बाद कर्ण को इस बात का थोड़ा सा लॉजिक लगा और वह अपने ही फैसले के बारे में दोबारा सोचने लगा। उसे लग रहा था कि सही बात है नैना को दबाया तो नहीं जा सकता कम से कम हम उसका फायदा तो उठा ही सकते हैं।

लोरी इन दोनों के इस फैसले से। बिल्कुल भी! खुश नहीं थी पर वह इस वक्त कुछ बोल नहीं सकती थी क्योंकि अभी जो सीक्रेट मैगजीन में हुआ और जिस तरीके से उसकी बेइज्जती हुई है, वह कुछ बोलने के लायक ही नहीं बची है और इस वजह से वह चुप थी पर उसने रोती हुई शक्ल बनाकर करण की ओर देखा और कहा, तुम मुझसे प्यार नहीं करते हो।

करण कैसी बात कर रही हो, मैं तुम्हें प्यार नहीं करता। कैसी -कैसी बातें तुम्हारे दिमाग में आती रहती है। तुम एक बात समझो नैना को रोका नहीं जा सकता। यह तो तुम पहले भी देख चुकी हो और महसूस भी कर सकती हो तो कम से कम उसका फायदा भी उठाओ और मेरी बहन पर तुम अब यह सब छोड़ दो। वह सब कुछ संभाल लेगी और वह नैना पर नजर रखेगी तो कम से कम हमें थोड़ा सा आराम मिलेगा।

कविता अभी भी नैना को कंट्रोल करने के सपने देख रही थी। पर क्या राजवीर ऐसा कभी होने देगा?

कविता ठीक है तुम लोग पहले लौट जाओ मैं यहां का सारा मामला सुलझा कर यहां का सब कुछ काम खत्म करके तुम्हारे लिए बाद में आती हूं। आई एस एम का फोटो शूट पास आ रहा था और यह सूट! इंडिया में ही होना था इसीलिए नैना को अब वापस लौटना था। पर अच्छी बात यह थी कि इस बार उसे करण और लोरी को साथ नहीं लौटना पड़ेगा।

मीरा उसके पास आई और उससे कहा, तुम्हें पता है आज ही वह दोनों भी लौटने वाले हैं। नैना तो तुम्हें पता है ना कि तुम्हें क्या करना है। दरअसल जब पिछली बार नैना गई थी तो एयरपोर्ट पर उसके खिलाफ लोहड़ी में बहुत सारे लोगों को खड़ा किया था और अच्छा खासा तमाशा खड़ा करवाया था। पर इस बार तो नैना के फैंस ने उसके वेलकम के लिए एक प्रोग्राम ऑर्गेनाइज किया था जो वह एयरपोर्ट पर ही करने

तभी पीछे से राशि आए और आकर कहा, तुमने अभी तक इस खबर का इस्तेमाल नहीं किया की लोरी प्रेग्नेंट है।

मीरा! क्या लोरी प्रेग्नेंट है मेरा को दरअसल अब तक यह नहीं पता था कि लोरी प्रेग्नेंट है?

नैना हां मुझे पता है पर इस समय से टॉप टेन मॉडल कंपटीशन का इंतजार कर रही थी और तब तुम्हें तो यह पता ही होना चाहिए कि टॉप 10 मॉडल कंपटीशन का सबसे बड़ा। क्राइटेरिया यही है कि प्रेग्नेंट औरत इस कंपटीशन में हिस्सा नहीं ले सकती है।

राशि तो तुम किस बात का इंतजार कर रही हो, बता दो नैना नहीं लौटे। घटिया इंसान है वह किसी भी हद तक जा सकती है इस कंपटीशन को जीतने के लिए अगर उसे कुछ नहीं मिला तो वह अपना अबॉर्शन भी करा सकती है। इसीलिए पहले उसे कंपटीशन जीत जाने दो। स्टेज पर जब वह अवार्ड ले रही होगी यह खबर में उस वक्त लिख कर लूंगा और वैसे भी हाथ आकर छीन जाने वाली चीज में ज्यादा दर्द होता है।

नैना ने न्यूज़पेपर में कविता की कंपनी से निकाले जाने की खबर पढ़ी और उसमें जो कंपनी में सबसे बड़ी उसकी गलतियां लिखी हैं। उसमें था कि उसने अपना कॉन्ट्रैक्ट तोड़ा है और अब उसे लंबा चौड़ा हर्जाना भी देना होगा। यह खबर पढ़ते ही नैना का चेहरा अचानक से राजवीर की ओर मुड़ गया और उसने।

बोला यह आदमी खुद को बिल्कुल भी नहीं संभाल सकता है। पूरे रास्ते राजवीर ने नैना का हाथ थाम रखा था। उसे पता था कि जाने की लोरी को पीछे छोड़ा है।

पर मैं यह भी जानता था कि नैना लोरी को पूरी तरह से बर्बाद होते हुए देखना चाहती है। नैना लोरी को उस हद तक पहुंचाना चाहती है कि करण उसे अपने आप से अलग कर दें और लोरी को छोड़ जाने के दर्द का एहसास हो।

खैर नैना के चेहरे पर एक छोटी सी हंसी आने के लिए राजवीर ने अपना फोन निकाला और फोटोस देखने लगा और उसके बाद उसने अपना फोन मीरा को दे दिया और कहा, इसे इंटरनेट पर डाल दो।

यह फोटो थी फोटो में लोरी अपने घुटने के बल बैठी हुई थी। यह फोटो वही थी जो उसने कल रात को खींची थी। बिल्कुल टूटी हुई लोरी घुटनों पर जमीन पर बैठी हुई थी। फोटो देखकर यह दोनों। मीरा और राशि के चेहरे पर एक मुस्कुराहट आ गई क्योंकि वह दोनों यह जानते थे कि यह कपल एक दूसरे पर जान छिड़कने हैं।

जैसे ही यह सारे लोग एयरपोर्ट पहुंचने वाले थे एयरपोर्ट पहुंचने से ठीक थोड़ा पहले राजबीर ने कार रुकवा नैना की ओर देखते हुए कहा, हम साथ में नहीं देखा जा सकता है। मैंने तुम्हारे लिए पीछे एक और गाड़ी बुलवा रखी है। जाकर तुम तीनों उसमें बैठ जाओ। अभी यहां पर क्योंकि ओरिएंटल ट्रेंड हिट हो रहा है। इसीलिए सब तुम्हें पहचानते हैं हम दोनों का साथ में देखा जाना।

तुम्हारे करियर के लिए ठीक नहीं होगा।

नैना को बुरा लग रहा था कि उसे गिल्टी फील हो रहा था कि राजगीर की पत्नी होने के बावजूद भी लोगों के बीच दोनों साथ में नहीं देख सकते थे और तो और कई बार उन्हें बिल्कुल एक दूसरे से अनजान की तरह बिहेव करना पड़ता था।

राजवीर तुम जाओ मैं तुम्हारा फर्स्ट क्लास के केबिन में इंतजार करूंगा।

नैना आप मेरा इंतजार करना और तब तक करना जब तक मैं आपके लेवल पर ना पहुंच जाऊं, जिस दिन मैं आपके लेवल पर पहुंच जाऊंगी उस दिन मैं खुद सारी दुनिया को बताऊंगी कि मैं तुम्हारी पत्नी हूं और हम एक साथ ऐसे शादीशुदा जोड़ा है जो एक दूसरे पर अपनी जान देते हैं।

वैसे राजवीर का बस चलता तो राजवीर को अपने घर में छुपा देता नैना को ताकि उसे कोई और भी ना देख सके पर मैं यह भी जानता था कि नैना सुपर मॉडल बनने के लिए पैदा हुई है।

राजगीर अच्छे से जानता था कि नैना। आधा अभी वह नहीं है जैसा पहले था जब वह इस इंडस्ट्री में आई थी।

अब यहां पर नैना के फैंस बढ़ चुके हैं और नैना के फैंस ने अगर उसे घेर लिया तो उसे देरी हो सकती है। वह यहां थोड़ी बहुत समस्या भी हो सकती है। इसीलिए उसने पहले से ही चार बॉडीगार्ड को एयरपोर्ट पर लाकर खड़ा कर दिया था।