Credit Card Loan in Hindi Motivational Stories by Arya Tiwari books and stories PDF | क्रेडिट कार्ड ऋण

Featured Books
Share

क्रेडिट कार्ड ऋण

                                                              ''आप अपनी योग्‍यताओं से सफल बनते हैं, सिद्धांतों से नहीं।''

बहुत सारे लोग आज क्रेडिट कार्ड ऋण में फंसे हुये हैंं और इसका एक कारण यह है कि वे बेच नहीं सकते। जब लोग उधार पर चीजें खरीदते हैं तो दरअसल वे अपने भविष्‍य को बेच रहे हैं, अपने भविष्‍य के श्रम को बेच रहे है। कई मामलों में जब क्रेडिट कार्ड का प्रयोग किया जाता है तो लोग आज कुुछ खरीदने के लिये अपने आने वाले कल को बेच देते हैं। ज्‍यादातर लोग क्रेडिट कार्ड ऋण में इसलिये फंंसजाते हैं क्‍योंकि उन्‍हें अच्‍छा खरीदार बनना तो सिखाया गया है, परंतु अच्‍छा बेचने वाला बनना नहीं सिखाया गया।

जीवन में असंभव कुछ भी नहीं है- यही विश्‍वास अंधेरोंसे रोशनी की और बढ़़ने का सूत्र हैं। सफल लोगों के जीवन के संस्‍मरण एवं घटनाऐं उनकी दृढ़ संकल्‍पशक्ति को उजागर करती हैं। इतिहास साक्षी है कि मनुष्‍य के संकल्‍प के सम्‍मुख देव, दानव सभी पराजित होते हैं। आप जितना सोचते हैं उससे अधिक पा सकते हैं, लेकिन उसके लिए धैर्य, संकल्‍प और आत्‍मविश्‍वास जरूरी हैं। आत्‍मविश्‍वास की दौलत ज्ञान और भक्ति का संगम हैं। आत्‍म्‍विश्‍वास ऐसी गतिमान शक्ति हैं, जिसे न तो तराजू में तोलना संभव है और नही प्रयोगशाला में परीक्षण करना। आपके जीवन के निर्णय ही इसका दर्शन करवाते है।

आत्‍मविश्‍वास इतनी दृढ़ है कि इससे पहाड़ों को काटकर रास्‍ते बनाए जा सकते हैं। यह निश्चित है कि जल्‍दी और बिना मेहनत की सफलता स्‍थायी नहीं होती। सफलता तभी ठहरती है जब उसे पान के आवश्‍यक तत्‍व आपमें मौजूद हों। जब आप उपनी सबसे बड़ी चुनौती के सामने दृढ़ता से खड़े होते हैं, तब आप एक योद्धा की तरह निखरते हैं। प्रतिकूलताएं हमारी मजबूतियों को सामने लाती हैं। कई ऐसे महापुरूष हुए हैं जिन्‍होंने अपनी शारीरिक अक्षमता को अपनी सफलता का बाधक नही बनने दिया। आज तक किसी निराश आदमी ने सितारों के रहस्‍यों पर से पर्दा नहीं उठाया, न अछूती जमीन तक पहुंचने के लिए समुद्री यात्रा की और न ही मानवीय आत्‍मा के लिए नए दरवाजे ही खोले हैं।

उत्‍साह और आत्‍मविश्‍वास व्‍यक्ति को साधारण से असाधारण की तरफ ले जाता है। जिस तरह सिर्फ एक डिग्री के अंतर से पानी भाप बन जाता है और भाप बड़े-से-बड़े इंजन को खींच सकती है, उसी तरह उत्‍साह हमारे जीवन के लिए काम करता हैा इसी उत्‍साह से व्‍यक्ति को सकारात्‍मक जीवन-दृष्टि प्राप्‍त होती है और इसी से व्‍यक्ति विपरीत परिस्थितियों को परास्‍त करने की शक्ति पाता है।

अपने आने वाले कल को बेचने के बजाय मैं आपको नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में शामिल होने की सलाह दूंगा ताकि आप यह सीख सकें कि किस तरह बेचा जायें। अगर आप बेचना सीख लेते हैं और सफल नेटवर्क मार्केटिंग बिनेस बनाााना सीख लेते हैं तो आप अपने क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करके जो चाहे खरीद सकते हैं और क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान हर महीने के आखिर मे कर सकते हैं। मेरे लिये यह अपने कल को बेचने सेे ज्‍यादा समझदारी का सौदा है। आप और मैं जानते हैं कि जब आप अपने आने वाले कल को बेच देते हैं तो आपके पास बहुत सुनहरा भविष्‍य नहीं रह जाता।