रश्मी और मेहुल का याराना - 7 in Hindi Love Stories by Mehul Pasaya books and stories Free | रश्मी और मेहुल का याराना - 7

रश्मी और मेहुल का याराना - 7

राइट आंटी जी

ओके तो ये तय रहा की अब हम चारो जायेंगे पिक निक पे ओके डन ना

ओके डन अंकल जी

चलो अच्छा है इस्के बहाने सब घूम आयेंगे है ना रश्मी बेटा बहुत दिन हो गये कोई भी घुमने नही गया है अभी तक

ओके ठीक है मॉम जैसी आपकी मर्ज़ी

सम टाईम लेटर...

बबलू क्या हाल है भाई ऑल इस वैल ना

हा पप्पू भाई सब ठीक है खैर मुद्दे पे आओ

हा बबलू कल जो काम करने वाले है याद है ना

अरे फ़िकर नोट भाई सब याद है मुझे उस लड्की को उठाना है ना जो हमे मिलने वाली थी है ना

हा सही सुना तुने

तो अब हमे उस लड्की का वेट करना है ओके जैसे ही आयेगी तुम गाडी रेडी रखना

अरे डोंट वरि हम है ना

तुम हो इसी लिये सब गड़बड़ हो जाती है अगर तुम ठीक से काम करोगे तो कुच नही होगा इ एएम श्योर

ओके भाई आप फ़िकर ना करो हम सब संभल लेंगे ओके

चलो उमीद रख सकते है

ओके देख लेना आप भी

ओके सो आने दो तो

लोकेशन चेंज...

अरे रश्मी सब चेक कर लेना गाडी मे कुच गडबडी तो नही है ना वरना राश्ते मे कार से डायरेक्ट बेकार ना बन जाये ये गाडी ओके

अरे डोंट वरि मेरि मुन्नी है ना वो हमे सही सलामत पहुचा देगी जहा हमे जाना है ओके

अब ये मुन्नी कौन है

अरे ये मेरि गाडी का नाम है मुन्नी

वॉट अब भला गाडी का नाम कौन रखता है

अरे मे रखती हू ना जैसे मेने ये रखा है मेरि कार का नाम मुन्नी वैसे पर सब रखते है जैसे डॉग का नाम हो गया टॉमी और हम जैसे इन्सानो का नाम हो सक्ता है तो मेरि इस कार का क्यू नही

ओके मेरि मा अब चलो

हा ओके मॉम डेड चलो

हा बेटा आगये बस अब चलो

हा आप गाडी मे बेठिये अंकल जी और आंटी जी

जी बेटा पर ड्राईवर कहा गया उनको बोला नही किसिने की हमे जाना भी है कही पे

डोंट वरि सर मे आगया फिक्र करने वाली बात नही है ओके

हा जी जुगनु अब तुम नही आते तो बात फिक्र करने वाली ही थी

अरे रिलैक्स सर अब हम आगये है ना अब सब छोड़ो और अंदर बैठो

चलो सब लोग बैठ जाओ तो

अच्छा वैसे रश्मी ये तुम्हारी मुन्नी कही धोका तो नही देगी ना राश्ते मे

ओह कॉम ऑन डेड आप भी कमाल करते हो आज तक मेरि मुन्नी ने बिच राश्ते मे कभी नही छोडा है और नही छोड़ेगी कभी

अरे आप सब शुभ शुभ बोलो गाडी है कही अशुभ हो गया तो

शट अप मॉम ऐसा कुच नही होगा

ओके ड्राईवर गाडी चालू करो

ओके सर

वैसे आंटी जी आप कही घुमने गये हो कही भी

अरे बेटा हमे तो काम से फुर्सत कहा मिलती है जो घुमने जायेंगे इतना सारा काम होता है की आधा दिन भी निकल जाये ना तो भी काम खतम नही होता

और ये महारानी आपकी हैल्प नही करती क्या या फिर मॉम मॉम करके सिर्फ आपके आगे पीछे घूमती रहती है

ओह हेल्लॉ मिस्टर मे मॉम को सब काम करने मे हैल्प करती हू ओके

दरअसल बेटा जी ये झठ बोल बोल रही है ये मेरि हैल्प इतनी सी भी नही करती सच मे

वॉट। रश्मी मे ये क्या सुन रहा हू

मॉम आप क्यू ऐसा बोल रहे हो

अरे मेहुल बेटा रिलैक्स मे बस इसको छिड़ा रहे थे और कुच नही। पर मेरि बेटी जो है ना उसके बारे जितनी तारिफ कि जाये उतना कम है

ओह अरे वेरी गुड रश्मी हा अभी तो डाट रहे थे

सॉरी मुझे लगा आंटी जी सच बोल रही है इस लिये ऐसा बोला पर अभी तक डाटा नही है अगर ऐसी बात आये तो जरूर डाटूंंगा ओके

ओके जी भर के डाट लेना पर अभी नही 

ओके

पढ़ना जारी रखे...
                         पर इसके लिये इन्तज़ारि है जरुरी...
 

Rate & Review

Mehul Pasaya

Mehul Pasaya Matrubharti Verified 9 months ago

Hardas

Hardas 9 months ago