rakesh jhunjhunwala success story books and stories free download online pdf in Hindi

राकेश झुनझुनवाला सक्सेस स्टोरी

राकेश झुनझुनवाला, शेयर मार्केट की दुनिया का एक ऐसा नाम जिसे शायद ही कोई ना जानता हो। राकेश झुनझुनवाला को इंडिया का वारेन बफेट भी कहा जाता है। उन्होंने अपनी ट्रेडिंग के दौरान जिस भी शेयर में पैसा निवेश किया उन्हें हमेशा मुनाफा ही हुवा। कहा जाता है की राकेश झुनझुनवाला जिस शेयर पर पैसा लगा देते थे उस शेयर की कीमत कुछ ही समय में दो तीन गुना बड़ जाती थी।

उन्होंने अपना ज्यादातर पैसा शेयर मार्केट से ही कमाया। Share Market की अच्छी नॉलेज और रिस्क लेने की उनकी Ability ने उन्हें भारत के सबसे अमीर व्यक्तियों में शामिल कर दिया। हालांकि अब राकेश झुनझुनवाला जी हमारे बीच नहीं रहे। आज इस Rakesh Jhunjhunwala Success Story के जरिए हम आपको बताएंगे की किस तरह उन्होंने अपने Career की शुरुवात की।

राकेश झुनझुनवाला की सफलता की कहानी से आप जानेंगे की Share Market कैसे लोगों की जिंदगी को बदल सकता है। शेयर मार्केट को पैसों का कुंआ कहा जाता है। यहां जिसकी स्ट्रेटजी, स्किल्स और किस्मत चल जाती है उसे अमीर बनने में ज्यादा वक्त नहीं लगता और जिसकी नही चलती वो उतनी ही जल्दी बर्बाद भी हो जाता है। राकेश झुनझुनवाला की कहानी को एक बार अवश्य पढ़ें।

राकेश झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई 1960 को मुंबई, भारत में हुआ। वे राजस्थान के मारवाड़ी परिवार से थे। उनके पूर्वज राजस्थान के झुंझुनूं शहर में रहा करते थे इसलिए उनका नाम झुनझुनवाला पड़ा। वो बचपन से ही मुंबई में पले बड़े। उनके पिता का नाम राधेश्याम झुनझुनवाला था, जो की Commissioner of Income Tax के पद पर थे। उनकी माता का नाम उर्मिला झुनझुनवाला था।

राकेश झुनझुनवाला ने 1985 में मुंबई के सिडेनहैम कॉलेज से बैचलर ऑफ कॉमर्स की डिग्री हासिल की। इसके बाद उन्होंने Institute of Chartered Accounts of India (ICAI) में दाखिला लिया और 1987 में उन्होंने Chartered accountant (C.A.) की पढ़ाई पूरी की। झुनझुनवाला की शिक्षा ने उन्हें एक सफल निवेशक बनने में एहम योगदान दिया।

उनकी Accounting और Finance की Knowledge ने उन्हें कंपनियों के फाइनेंशियल स्टेटस को समझने में मदद की, जिसकी मदद से उन्होंने बेहतर कंपनियों में इन्वेस्टमेंट की और प्रॉफिट बनाया।

झुनझुनवाला की सफलता की कहानी 1985 में शुरू हुई, उस वक्त उनकी उम्र महज 25 साल थी। उनके पिता अक्सर अपने दोस्तों के साथ बैठकर शेयर मार्केट और इंवेस्टमेंट की बातें किया करते थे। अपने पिता की बातों को सुनकर ही झुनझुनवाला ने शेयर मार्केट में निवेश करने का मन बना लिया। लेकिन इस काम के लिए उनके पिता ने उन्हें एक भी रुपया नही दिया।

1985 में राकेश झुनझुनवाला ने खुद के बचाए हुवे 5,000 रुपयों के साथ शेयर मार्केट में निवेश किया। उन्होंने अपना पहला बड़ा मुनाफा साल 1986 में कमाया, जब उन्होंने टाटा टी के 5,000 शेयर ₹43 प्रति शेयर के हिसाब से खरीदे और उन्हें तीन महीने के बाद ₹143 प्रति शेयर के हिसाब से बेच दिया।

1986 में उन्होंने करीब 6 लाख रुपए का मुनाफा कमाया। इसके बाद साल 1986 से 1989 में भी उन्होंने अच्छी कंपनियों में निवेश किया और करीब 22 से 25 लाख रुपयों का मुनाफा बनाया।

साल 2021 तक उनकी सबसे बड़ी Investment Titan Company में थी, जिसकी वैल्यू करीब ₹7,294.8 करोड़ रुपए है। इसके बाद भी झुनझुनवाला ने सफल निवेश करना जारी रखा। जिसमे उन्होंने सेसा गोवा, टाइटन और इंफोसिस जैसी कंपनियों में निवेश किया, जो आगे चलकर मल्टी-बैगर्स बन गईं। 2022 तक, उनका पोर्टफोलियो ₹11,000 करोड़ से अधिक का था।

झुनझुनवाला अपना पोर्टफोलियो अपनी ही Asset Management Firm “Rare Enterprises” के जरिए Manage करते थे। शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट के अलावा वो कई सारी बड़ी कंपनियों का हिस्सा भी थे।

झुनझुनवाला Aptech और Hungama Digital Media Entertainment के चेयरमैन और Prime Focus Limited, Geojit Financial Services, Bilcare Limited, Praj Industries, Provogue जैसी और भी बड़ी कंपनियों के बोर्ड मेंबर रहे।

साल 2013, में उन्होंने 176 करोड़ रुपयों में Malabar Hill में बने 12 में से 6 अपार्टमेंट (Ridgeway apartments) खरीदे और साल 2017 में उन्होंने बांकी के बचे 6 अपार्टमेंट्स ₹195 करोड़ रुपयों में HSBC से खरीद लिए।

साल 2021 में उन्होंने Akasa Air नाम की एयरलाइन कंपनी में $400 million का निवेश किया। राकेश झुनझुनवाला की Akasa Air में 46% की हिस्सेदारी है। अकासा एयर ने 7 अगस्त, 2022 को मुंबई से अहमदाबाद के लिए अपनी पहली उड़ान भरी थी।

Rakesh Jhunjhunwala भारत के सबसे सफल Investors में से एक थे। उनकी कमाई का ज्यादातर हिस्सा शेयर मार्केट से हुवे मुनाफे से ही आया। अपनी मृत्यु से पहले, राकेश झुनझुनवाला के पास करीब US$5.8 billion की संपत्ति थी। जिसकी बदौलत वो दुनिया के 438वें सबसे अमीर व्यक्ति और भारत के 36वें सबसे अमीर व्यक्ति थे।

भारतीय रुपयों में राकेश झुनझुनवाला की कुल संपत्ति करीब 44300 करोड़ रूपए है। झुनझुनवाला एक परोपकारी व्यक्ति भी थे और उन्होंने करोड़ों रुपयों का दान भी किया। वो बेहतर शिक्षा और अच्छी स्वास्थ व्यवस्था का हमेशा समर्थन करते थे।

22 फरवरी, 1987 को राकेश झुनझुनवाला ने रेखा झुनझुनवाला से शादीी की। उनके तीन बच्चे हैं।

14 अगस्त, 2022 को राकेश झुंझुलवाला ने Breach Candy Hospital में अपनी अंखिरी सांस ली। वो लंबे समय से kidney-related समस्याओं से जूझ रहे थे। मृत्यु के समय उनकी उम्र 62 साल थी।

Rakesh Jhunjhunwala की Investment Philosophy एक दम सिंपल थी, उनका कहना था, “लंबे समय के लिए अच्छी कंपनियों में निवेश करें और कभी घबराएं नहीं।” उन्होंने अपनी इस Philosophy को हमेशा फॉलो किया और अरबों की संपत्ति के मालिक बन गए।

उनकी कहानी से हमें यह भी सीखने को मिलता है कि Share Market से पैसा कमाया जा सकता है लेकिन उसके लिए आपको सही नॉलेज और कंपनियों के बेसिक फंडामेंटल की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। ज्यादातर लोग सोचते हैं कि Share Market में पैसा सिर्फ डूबता है। शेयर मार्किट में पैसा उन्हीं का डूबता है जिन्हें इन्वेस्टिंग और ट्रेडिंग करनी नहीं आती और ना ही ज्यादा नॉलेज होती है।

Share Market में इन्वेस्ट करने का मतलब यह नहीं है कि आपके पास बहुत पैसा होना चाहिए, बल्कि मतलब है इस बात से कि आपको नॉलेज होनी चाहिए। आपको कंपनियों के बारे में बेहतर जानकारी होनी चाहिए। तभी आप शेयर मार्केट में सफल हो सकते हैं।

राकेश झुनझुनवाला का पोर्टफोलियो अब उनकी वाइफ संभालती हैं।