Sssssssh... Dhundh me Koi Raaz hai?? - 1 in Hindi Adventure Stories by Mini books and stories PDF | शशशशश...... धुंध में कोई राज है?? - भाग 1

The Author
Featured Books
Share

शशशशश...... धुंध में कोई राज है?? - भाग 1

मुंबई शहर.....

ये शहर बिजनेस और लाइम लाइट की नगरी है यहां देश के जाने माने बिजनेस टायकून ने अपने बिजनेस शिखर तक ले गया ऐसे ही रियल स्टेट बिजनेस टायकून"राजवीर राठौड़"महज ही 28 साल का यंग बिजनेस टायकून है


, एक वक्त था वो एरोगेंट और गुस्सैल स्वभाव का हुआ करता था, मीडिया और पार्टनर डरते थे बात करने के लिए इसलिए उसे डेविल राठौड़ कहते थे,लेकिन एक साल में उसकी दुनिया ही बदल गई ,वो कैसे जानते हैं कहानी में ......

"एक बेहद खूबसूरत आलिशान बिल्डिंग जो अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त है ,इसकी खुबसूरती बाहर से बहुत सुंदर है वैसे ही अंदर से भी नये डिजाइन बेहद खूबसूरत है और सुविधाएं से भरी है ...

इस बिल्डिंग के अंदर एक बड़ी मीटिंग हॉल है वहां प्रेजेंटेशन चल रही है ,राजवीर अपने कुछ वर्कर की प्रेजेंटेशन को ध्यान से सुन रहा है और देख रहा है , उसके साथ में बहुत से पार्टनर भी बैठे हैं..!!

तभी..

राजवीर का फोन वाइब्रेंट हुआ उसने अपने कोर्ट के जेब से अपनी मोबाइल निकाला और स्क्रीन देखा उसमें नाम देखा "शालिनी " उसने जल्दी से फोन उठाया और बेताबी से डरें हुए भाव से पूछा क्या बात है इस वक्त क्यों फोन किया ...??

शालिनी ने फोन के दूसरे तरफ से बोली,"सर ,मैम सीढ़ियों से नीचे गिर गई ,हम उसे हॉस्पिटल ले जा रहे हैं ...!!

राजवीर के पास बैठी हुई एक लड़की राजवीर को ही घूर रही थी अपने आंखें को सिकोड़ कर ..!!

राजवीर खड़े हुआ और गुस्से से भर गया और चिढ़कर बोला,"तुम लोगों को पैसे किस बात के मिलते हैं ,एक इंसान का ख्याल नहीं रखा सकते , वहां राजवीर की चीख सुनकर सभी शॉक्ड हो गये और राजवीर को देखने लगे और जो प्रेजेंटेशन दे रहा था वो रुक गया माहौल बिल्कुल ख़ामोश हो गया,, राजवीर बोले जा रहा था ,"अगर आज अनु को कुछ हुआ तो तुम लोगों की खैर नहीं है जितने भी भगवान को मानते हो उन सबसे प्रार्थना कर लेना तुम लोग ,राजवीर फोन कान से हटाया और फोन डिस्कनेक्ट कर दिया ,और एक कदम बढ़ाया ही था कि ..

वो जो घूर कर देखने वाली लड़की ने राजवीर का हाथ पकड़कर रोकते हुए पूछी,"कहां जा रहे हो राज अभी तो प्रेजेंटेशन शुरू हुआ है ..??

राजवीर ने कहा,"संजना मुझे जाने दो अनु सीढ़ियों से गिर गई है , पता नहीं कितना चोट आया है तो , शालिनी ने कहा अनु को हॉस्पिटल ले जा रहे हैं ..!!

संजना ने कहा ,"मैं भी चलूं तुम्हारे साथ ..??

राजवीर ने कहा,"इसकी जरूरत नहीं है मैं खुद ही हेंडल कर लूंगा बस मैं हॉस्पिटल तक पहुंच जाऊं फिर मै अनु को संभाल लूंगा ,मैं जा रहा हुं वो संजना के हाथ को बिना छुड़ाए ही आगे बढ़ गया..!!

संजना ने और बोलने के लिए मुंह खोला ही था उसके बगल में बैठे शख्स ने संजना के कंधे पर हाथ रख दिया तो संजना ने सिर साइड घूमाकर देखी ..

वो शख्स ने आंखों से पलक झपका कर कहा ,"जाने दो उसे वो रुकेगा नहीं ,और तुम्हारी भलाई इसी में है उसे जाने दो ..!!

संजना चिढ़कर बोली ,"डैड आप मेरे अच्छा सोचने वाले हैं कि उस अनु की जब देखो राजवीर अनु ..अनु ,अनु ऐसे अनु वैसे ,उस अंधी को अच्छी किस्मत मिल गई है ,घर मे बैठे बिठाए मुंबई शहर का सबसे खूबसूरत हैंडसम लड़का मिल गया उसके आगे पीछे घूमने के लिए उसकी तिमारदारी में लगा है ..!!

संजना के पिता ने कहा,"संजना चार लोगों के बीच में ऐसे बोलना ठीक नहीं है ,अपनी रिस्पेक्ट करो तुम ,अनु राजवीर की बीवी है ,अगर वो नहीं जाएगा तो लोग तरह तरह के बातें बनाएंगे और ये हमारे कंपनी के रेपुटेशन के लिए ठीक नहीं है बेटा तुम समझ रही हो ना ..!!

संजना ने धीरे से गुस्सा निकालते बोली ,"बीवी माय फुट , मैं यहां इंतजार में हुं राजवीर के लिए और राजवीर अपने घर बसाकर खुश हैं उसे फर्क नहीं पड़ता मुझ पर क्या बीतती है ऐसे उन दोनों को देखकर पति पत्नी बन गये हजार वादे मुझसे किया शादी के सपने दिखाए और शादी उस अंधी से सात वचन उसके लिए हूम्म..!!

संजना के पिता ने कहा,"मत भूलो राजवीर का कड़वा अतीत अनु है ,वो चाहकर भी अनु से भाग नहीं सकता जब तक अपनी जवाबदारी पूरी नहीं करता वो ..!!

संजना ने कहा,"आप बैठे रहो हाथ में हाथ रखकर वो दोनों आज पति पत्नी है फिर कल उनके बच्चे आ जाएगे तब भी यही बोलना आप राजवीर की जवाबदारी है ,उस अंधी को आंखें क्यों नहीं दे देते ,कम से कम आंखें लग जाएगी तो तलाक करवा सकते हैं जल्दी , डैड प्लीज़ ..!!

संजना के डैड ने कहा ,"बेटा मैं कोशिश में हुं , अनु को आंखें देने कोई तैयार हो जाए ,और तुम तो जानती ही हो राजवीर चाहता है अनु को यंग बॉडी के आंख लगे बुजुर्ग वाली नहीं ,हम ढूंढ रहे हैं मिल जाएगी ,तुम शांत रहो शिवराज जी इधर ही देख रहा है ..!!

प्रेजेंटेशन चल रहा है और ये दोनों बाप बेटी बातों पर लगा है दूर बैठे एक उम्रदराज जेंटलमैन इन्हीं दोनों को देख रहा है ,और वो शख्स है , शिवराज सिंह राजवीर का सीनियर मैनेजर ..!!

शिवराज ने फिर कहा,"मिस्टर जगत कपूर कोई प्रॉब्लम है क्या..??

संजना के डैड जगत कपूर ने कहा,"नो नॉट आ टॉल , कोई प्रॉब्लम नहीं , कंटिन्यू कीजिए मैं सुन रहा हूं ..??

जेजे नर्सिंग होम....

राजवीर तेज रफ्तार से गाड़ी चलाते आया उसके मन में अनेक बातें आई और गई अनु के लिए , वो पार्किंग में गाड़ी खड़ी किया और बाहर आया उसने कदमों को तेजी से चलते हुए उसके चेहरे का रंग उड़ा हुआ था अनु के ख्याल से वो कुछ दौड़ता तो कुछ कदम चलता फिर दौड़ता इस तरह से वो रिसेप्शनिस्ट के पास आकर पूछा ,"मिसेज अनुप्रिया राठौड़ कहां एडमिट हुई हैं ..!!

रिसेप्शनिस्ट ने बताया ,"मिस्टर राठौड़ पेशेंट डॉक्टर सुषमा अरोरा के ओपीडी में है ...!!

राजवीर ने बिना कुछ बोले वहां से ओपीडी में आया तो देखा अनु के सिर पर डॉक्टर पट्टी लगा रही थी ..वो पास गया और दर्द के भाव से बोला जैसे चोट अनु को हो और दर्द उसको हो रहा है ,"क्या है ये अनु ,कितनी चोट लगी है दिखाओ मुझे वो अनु के सिर पर लगी पट्टी को हल्का सा छूआ और देखा फिर डॉक्टर को पूछा,"डॉक्टर आपने अनु को ठीक से चेकअप कर लिया है ना , उसे कोई प्रॉब्लम तो नहीं ..??

डॉक्टर सुषमा ने कहा,"नहीं हल्का सा चोट है बाकी मिसेज राठौड़ ठीक है ,वेल अब नॉर्मल उसके एक्टिविटी से पता चलेगी अभी मैं जो पूछा वो सब इन्होंने बता है वो ठीक है ..!!

राजवीर ने कहा ,"डॉक्टर मैं ले जा सकता हूं अपनी पत्नी को ..??

डॉक्टर ने कहा,"हां मिस्टर राठौड़ आप ले जाईए और ख्याल रखिएगा क्योंकि अभी वो छह सीढ़ियों से गिर गई थी इसलिए ठीक है अब आगे ऐसा ना हो नहीं तो सिर पर गहरी चोट और असर हो सकता है ..!!

राजवीर ने कहा,"शालिनी ,अनु को गाड़ी तक ले जाओ मैं डॉक्टर से और बात करना है..!!

शालिनी ने सिर हिलाया और अनु को उठाते बोली,"मैम उठिए चलिए मेरे साथ अनु ने शालिनी का हाथ थामकर जाने लगी , दरवाजे के बाहर गई और राजवीर ने पूछा,"डॉक्टर अनु के मेमरी वापस तो नहीं आई ना उसे अतीत तो याद नहीं आया कुछ भी ..??

डॉक्टर ने कहा,"नहीं...मैंने अपने तरीके से पूछी वो कुछ नहीं बता पाई बल्कि सिर में और तेज दर्द होने लगी ..!!

राजवीर ने मन में बड़बड़ाया,"थैक गॉड अनु को कुछ याद नहीं ,मैं नहीं चाहता कि उसकी याददाश्त वापस आए उसे कुछ भी याद आए और वो मुझसे दूर हो ,कभी नहीं , फिर राजवीर ने पूछा,"डॉक्टर अनु की आंखें के बारे में कुछ पता चला..??

डॉक्टर ने कहा,"मिस्टर राजवीर एक यंग लड़की का डेड हुआ है उसकी आंखों के लिए मैंने इंतजाम किया है ,हम इंतजार में हैं जैसे आएगी हम आपको खबर कर देंगे मिसेज राठौड़ के लिए ..!!

राजवीर ने मुस्कुराते हुए बोला,"ओके डॉक्टर , मुझे इंतज़ार रहेगा आपकी फोन का मैं चलता हूं ..

कहानी जारी है....

हेलो रीडर्स कहानी कैसी लगी , राजवीर क्यों नहीं चाहता कि अनु का याददाशत वापस आए ,और अनु का अतीत से क्या वास्ता है,अगर आपको पसंद आई हो तो समीक्षा में जरूर बताइएगा कि आपको कहानी आगे पढ़नी है तभी पार्ट अपलोड होंगे ,ये कहानी भी फैमिली ड्रामा और सस्पेंस जिसमें रोमांस का तड़का भी है ... धन्यवाद 🙏