The Seven Doors - 6


कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा एंजेल , रशेल और ब्रैवो तीनों चौथे दरवाजे यानी अंधेरी दुनिया में चले जाते हैं, जहां उन्हें पता चलता है की जो किताब वो पढ़ रहे थे वो अधूरी है, आगे के पन्ने फट चुके थे और इसी वजह से वो अगले दरवाजे मे नही जा सकते और ना ही  इस दरवाजे से बाहर निकल सकते है, अंधेरी दुनिया में एक बूढ़ा बच्चों को बताता है की आगे की कहानी अंधेरी दुनिया के राजा के पास है जिसे हासिल करना बहुत मुश्किल है l अंधेरी दुनिया के सैनिक एंजेल और रशेल को बंदी बना लेते हैं, अंधेरे सैनिकों और राजा से लड़कर बच्चे आगे की कहानी के पन्ने प्राप्त कर लेते हैं लेकिन अंधेरे दुनिया का राजा ब्रैवो को उबलते हुए तेल की कढ़ाई में फेंक देता है और गायब हो जाता है l ब्रेवो मर जाता है और तभी पांचवा दरवाजा प्रकट होता है, एंजेल और रशेल पांचवी दुनिया में चले जाते हैं l

अब आगे.....

एंजेल और रशेल जैसे ही पांचवे दरवाजे में घुसते हैं दरवाजा गायब हो जाता है और दोनों बच्चे तेज दुर्गंध के कारण बेहोश होने लगते हैं, उनका सर दर्द से फटने लगता है l आस पास देखने पर पता चलता है की यह बहुत ही खतरनाक और डरावनी दुनिया थी क्योंकि यह मुर्दों की दुनिया थी यहां कोई जिंदा नहीं था सब मरे हुए थे l पेड़ों की डाल पर लाशें लटकती, पत्थरों पर लाशें बैठी, पानी में तैरती लाश, हर जगह लाशें लाशें और कब्र l 

एंजेल और रशेल के हाथ पैर ठंडे पड़ने लगे, तभी उन्हें एक बहुत बड़ी सी कब्र दिखाई दी जिस पर मुर्दों का बहुत ऊंचा सा ढेर लगा था, सभी मुर्दे सो रहे थे फिर एंजेल ने दूसरी ओर देखा एक कब्र पे एक मां अपनी बच्ची के बाल खींच रही थी और गीत गुनगुना रही थी l वह बूढ़ी मां और वह मासूम प्यारी बच्ची बहुत ही सुंदर लग रही थी और वो गुनगुना रही थी, " मेरी प्यारी बच्ची, मेरी प्यारी बच्ची, मैं तुम्हारी मां हूं, तुम मेरी बच्ची, हम मर चुके हैं.... लेकिन हम जी रहे हैं.... मेरी प्यारी बच्ची, मेरी प्यारी बच्ची" l

एंजेल गाने को सुनकर मन्त्रमुग्ध हो जाती है, जैसे उसकी माँ उसे गाना सुना रही हो, वो गाना सुनते सुनते उस मां और बेटी के पास आ जाती है तभी औरत ने तिरछी नजर से एंजेल को देखा और मुस्कुराती हुई वो बोली," बाल खींचोगी बेटी.... आओ मेरे पास आओ ", एंजेल उसकी ओर खिंची चली गई और जैसे ही पास पहुंची, उस औरत ने चिल्लाते हुए अपनी बच्ची के बाल इतनी तेजी से खींचे कि उस बच्चे का दिमाग निकल आया, औरत और बच्ची बहुत तेजी से हंसने लगे इतनी तेजी से कि उनके मुंह फैल कर फटने लगे तभी मां बेटी के मुंह को फाड़कर अंदर से सड़ी हुई और भयानक औरत और बच्ची निकलकर एंजेल की आंखों मे झाँककर बहुत डरा कर चली गई l

एंजेल थरथर कांपने लगी और चिल्लाने लगी, उसे सुनकर रशेल दौड़कर आया और दोनों गले लग गए, अब उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि मुर्दों से कैसे लड़े, मुर्दे तो पहले से ही मरे हुए हैं l वो दोनों बैठकर एक पेड़ के नीचे रोने लगे कि अचानक पेड़ से एक मुर्दे का सर रशेल के ऊपर गिर गया, रशेल भागा तो उसके पैर के नीचे कटा हाथ पड़ गया और वह फिसल कर गिर गया, दौड़ते दौड़ते रशेल उस कब्र में लड़ गया जिस पर सबसे ज्यादा लाशों का ढेर लगा हुआ था l

 रशेल जैसे ही कब्र से टकराया सारी लाशें गिरने लगी तभी अचानक से अंधेरा होने लगा और मुर्दे जिंदा होने लगे कोई मुर्दा सर कटा तो कोई पैर, कोई अपनी गर्दन उखाड़ता तो कोई अपनी आंख नोचता, सारे उठ उठ कर इधर-उधर घूमने लगे, अब एंजेल, रशेल का शरीर डर से ठंडा पड़ने लगा था, वो बहुत ही डर गए और एक जगह छुप गए l यह मुर्दों की दुनिया बहुत ही भयानक थी और अंधेरा होते ही मुर्दे जीवित हो जाते थे l

 एंजेल और रशेल एक  कब्र के पास आकर छुप गए कि तभी वहाँ  दो मुर्दे धीरे धीरे चलते हुए आए और बैठ गए कुछ देर बाद दोनों मुर्दे लेट गए और मुर्दे का पेट फाड़कर दूसरा मुर्दा निकला और उठ कर चल दिया इस भयानक दृश्य को देखकर एंजेल चिल्ला पड़ी, और मुर्दे उनके पीछे भागने लगे, अब वो ना उम्मीद होने लगे थे क्योंकि इस दुनिया में मरी हुई लाशों के अंदर से भी नए मरे हुए लोग निकल रहे थे l भागते भागते दोनों बच्चे गिर पड़े, मुर्दे उन्हें मारते इस से पहले ही सभी मुर्दे एक अजीब से आवाज निकालने लगे और सब एक बड़ी कब्र के पास इकट्ठा होने लगे l

 अंधेरा और बढ़ने लगा, सारे मुर्दे सर झुका कर खड़े हो गए एंजेल और रशेल पेड़ की आड़ से सब देख रहे थे तभी वह कब्र धीरे-धीरे खुलने लगी, जिसमें से बड़े बड़े कीड़े, सांप, बिच्छू और बहुत तरह के जहरीले कीड़े निकलने लगे और फिर मुर्दों की दुनिया की रानी निकली जिसे देखकर तो शायद मौत भी डर जाती इतनी भयानक उसके सर पर बाल की बजाय लंबे-लंबे कीड़े चिपके थे, शरीर पर वही कीड़े बिच्छू सांप सब चिपके थे, वह बार बार उन में से दो चार उठा कर खा जाती, उसने गले मे उँगली और आखों का माला पहन रखा था, दोनों बच्चों ने अपनी आंखें बंद कर ली वह रानी बाहर निकली उसने सारे मुर्दों ने गर्दन झुका ली और जमीन पर लेट गए रानी ने खुश होकर कहा, "लाओ", तभी मुर्दों ने ताजी और नई लाशों की सारी खाल जो मुर्दों ने जमा करी थी वह रानी को भेंट कर दी और रानी ने वह खाल अपने शरीर पर पहन ली जिससे कि रानी हमेशा जवान रहती l रानी के इशारे पे उनमें से कुछ मुर्दे सिंहासन की तरह झुक कर बैठ गए और रानी उनके ऊपर जाकर बैठ गई और बोली, "मेरे दुश्मन को निकालो" l

ये सुनते ही सारे मुर्दे उस कब्र में घुसने लगे और कब्र में से एक आदमी को बाहर निकालकर लाए l आदमी बिल्कुल मरा जैसा लग रहा था, उसके हाथ कंटीले तार से बंधे थे, उसके मुंह में एक हाथ घुसा हुआ था, जिससे वो बोल ना सके, आंखों पर लाशों के जमा किए हुए बाल बांध दिए गए थे, लेकिन उस आदमी का दिल गायब था और पूरे शरीर से खून बह रहा था l मुर्दों ने उसे बाहर निकाल कर रख दिया, रानी उसके पास आई और बोली, "मेरे प्यारे नौजवान... क्यों इतनी तकलीफ सहते हो, मेरे गुलाम बन जाओ, वरना ऐसे ही मरते रहो, तुम्हारा खून धीरे-धीरे खत्म हो रहा है... जिस दिन तुम्हारा सारा खून खत्म हो गया, उस दिन तुम भी इन मुर्दों की भीड़ में शामिल हो जाओगे और तब मैं तुम्हारा प्यारा सा दिल जो मैंने संभाल के रखा है वो खा जाऊंगी.. हाहाहा..... ओ मेरे हमदम, अब मान भी जाओ"!!!!! 

यह कहकर उस रानी ने उस आदमी के सीने में अपने नुकीले नाखून चुभो दिए और उसका खून निकाल कर अपने होंठों और गालों पे लगाने लगी और जोर जोर से हंसती हुई गायब हो गई l वो आदमी दर्द से छटपटा ने लगा थोड़ी देर बाद वह बेहोश हो गया, सारे मुर्दे भी इधर उधर चले गए, एंजेल, रशेल को यह दरवाजा मौत का दरवाजा लग रहा था क्योंकि जब से वह इस दरवाजे के अंदर आए थे इस दुनिया में वह मौत ही मौत देख रहे थे l 

दोनों बच्चे उस आदमी के पास धीरे धीरे आए और बोले, "तुम कौन हो?? आदमी ने जब यह सुना तो उसे कुछ उम्मीद लगी, वो बोला क्या इस मुर्दों की दुनिया में मेरे अलावा कोई और भी इंसान है जो बचा हुआ है, उसने कहा बच्चों मेरा नाम वास्को है, और मैं इन दरवाजों में चलते चलते यहां तक आ गया, लेकिन इस दुनिया में फंस कर रह गया हूं, मेरी तलवार खो गई है और मेरा दिल इस रानी के पास है, इनमें से अगर एक चीज भी मिल जाए तो मैं ठीक होकर दूसरी चीज भी हासिल कर सकता हूं और रानी को मार सकता हूं " l यह सुनकर बच्चे खुश हो गए और बोले," वास्को!!! अरे हमारे वास्को, हम तुम्हें ही ढूंढने आए हैं, हम तुम्हें जरूर बचाएंगे, हमें तुमसे मिलकर बड़ी खुशी हुई"l  वास्को दोनों के गले लग गया तभी वहां एक मुर्दा आकर चिल्लाने लगा l

बच्चों ने छड़ी की मदद से मुर्दे को जला दिया l ये छड़ी शैतानी ताकतों से लड़ने में सबसे ज्यादा मदद करती थी l

दोनों बच्चे फिर एक कब्र के पास छुप गए, मुर्दों ने वास्को को कब्र के अंदर डाल दिया और उसे बंद करने लगे तब बच्चों ने भी छड़ी की मदद से मुर्दों को मार दिया और दोनों कब्र में चले गए, जहां  वास्को था l अंदर जाकर दोनों ने देखा एक बहुत ही बड़ा और पुराना कमरा था जिसमें बहुत सी  भयानक चीज़ें थीं, कमरे के बीचो बीच में वास्को लेटा हुआ था, रानी का सिंहासन खाली पड़ा था जिसके पास एक शीशे का गोला रखा था जिसमें वास्को का दिल धड़क रहा था l

सिंहासन मरे हुए लोगों की हड्डियों से बना हुआ था जिसके दोनों ओर बड़े-बड़े मुर्दे खड़े थे, जो रानी की रक्षा करते थे एंजल शीशे के पास गई और उसने जैसे ही शीशे को हाथ लगाया, बड़े मुर्दे जिंदा हो गए और फिर बच्चों और उन में लड़ाई होने लगी छड़ी से भी उन मुर्दों पर कुछ नहीं हो रहा था वो इतने ज्यादा शक्तिशाली थे, तब वास्को ने बताया कि यह मुर्दे तभी मरेंगे तब रानी इन्हें मारेगी, यह सिर्फ रानी की शक्तियों से मरेंगे और मेरा दिल जब यह मुर्दे शीशा तोड़ेंगे तभी निकल सकता है और कोई शीशे को तोड़ नहीं सकता l

बच्चे घबरा गए, बच्चों की कुछ समझ में नहीं आ रहा था  वह भगवान से प्रार्थना करने लगे, एंजेल सिंहासन की ओर भाग गई और रशेल मुर्दे से लड़ने लगा, लड़ते लड़ते छड़ी कहीं गिर गई और मुर्दा एंजेल के पीछे और दूसरा रशेल के पीछे भागने लगा तभी रशेल एक ढेर पर गिर गया और गिरने के बाद जब उठ कर उसने देखा तो डर के मारे कांपने लगा क्योंकि वह ढेर कटे हाथ, कटे पैर और  के कुछ भागों का था रशेल हिम्मत कर के अपने बचाव के लिए  उन कटे हुए हिस्सों को मुर्दों पर मारना शुरू किया l

 मुर्दे को बहुत गुस्सा आ रहा था, मुर्दे ने भी परेशान होकर हर चीज फेंकनी शुरू कर दी और पूरा कमरा हिलने लगा बच्चों और मुर्दों में बड़ी देर तक लड़ाई चलती रही, और तभी एक मुर्दे ने गुस्से में वास्को के दिल को उठाकर एंजेल के मार दिया और वो शीशा टूट गया जिसमें वास्को का दिल बंद था, एंजेल ने वो दिल जल्दी से उठाया और वास्को के पास आने लगी, मुर्दा बहुत गुस्से में था उसने एंजेल को पकड़ लिया एंजेल गिरी और दिल उसके हाथ से छूट गया और  दूसरा मुर्दा दिल के पीछे भागा पर रशेल ने जल्दी से दिल उठाकर वास्को के लगा दिया, जैसे ही वास्को के दिल लगाया वो दिल रोशनी से भर गया और चमकने लगा और उसी के साथ वास्को खूब सुंदर बन गया और पहले जैसा स्वस्थ और बलशाली हो गया l

तब तक मुर्दों की रानी बौखलाती हुई अंदर आई उसने दिल को गायब देखा तो इतना उसे इतना गुस्सा आया कि उसका शरीर आग जैसा जलने लगा, उसके शरीर पे चिपके कीड़े, बिच्छु, साँप सब जलकर गिरने लगे, रानी की आंखे काली पड़ने लगी और वो पहले से और भी भयावह और बूढी लगने लगी, उसने दिल को गायब देखते ही उन दानवाकार मुर्दों को जलाकर मार डाला तभी वास्को उन मुर्दों की राख इकट्ठा कर के उनकी तलवार की आकृति बनाई और जैसे ही आकृति पूरी हुई, एक असली तलवार प्रकट हो गई l
 
रानी गुस्से से पागल हो गई और वास्को को मारने के लिए आगे बढ़ी, एंजेल, रशेल ने रानी को पीछे से धक्का दे दिया, बहुत देर तक लड़ाई चली और  वास्को ने अपनी तलवार से रानी की गर्दन काट दी, बच्चे खुश होकर नाचने लगे लेकिन रानी का सिर फिर शरीर से जुड़ गया, वो फिर जिंदा हो गई, ऐसा कई बार हुआ और फिर वास्को ने बच्चों की तरफ इशारे से कुछ कहा, वास्को ने फिर से रानी की गर्दन काट दी, इससे पहले रानी फिर जिंदा होती वास्को ने रानी का दिल निकाल लिया कर छड़ी की मदद से जला दिया l

 दिल जलते ही रानी भी जलने लगी और उसी वक़्त कमरा हिलने लगा और वहाँ लाल रोशनी होने लगी, एंजेल चिल्लाती, "वह देखो दरवाजा", तीनों दरवाजे की ओर भागे.... 

रशेल और एंजेल तो दरवाजे के अंदर आ गए लेकिन वास्को को एक मुर्दे ने आकर गिरा दिया वक्त कम था इसलिए वास्को ने  मुर्दे से लड़ने की बजाय  दरवाजे के तरफ भागा l वास्को दरवाजे के अंदर  जैसे ही आया  एंजेल  बड़ी तेज  चीख कर दरवाजे से बाहर भागी और बोली, "वास्को.... तुम्हारी तलवार", वास्को और रशेल ने  उसे लौट आने के लिए कहा लेकिन वो नहीं मानी और तलवार उठा कर दरवाजे तक आ गई लेकिन तभी एक मुर्दे ने उसे पकड़ लिया और भागने लगा, वास्को और रशेल उसे बचाने के लिए दरवाजे से बाहर निकलते कि तभी  एंजेल ने तलवार दरवाजे के अंदर फेंक दी और दरवाजा गायब होने लगा, रशेल बहुत रोया चिल्लाया भागा पर एंजेल नहीं आई, वो मुर्दों की दुनिया में ही छूट गई l

रशेल को लग रहा था कि वो भी मर जाए और उसी दुनिया में चला जाए पर वास्को ने उसे बहुत समझाया की, "हिम्मत मत हारो अभी हमें दो दरवाजो मे और जाना है, उनका भी सामना भी सामना करना है, हमे इस खौफनाक दरवाजों को हमेशा के लिए बंद करना होगा ताकि हमारी तरफ और लोग इसके शिकार ना हों" l

आगे की कहानी अगले भाग मे.... 



कहानी पढ़ने के लिए आप सभी मित्रों का आभार l
कृपया अपनी राय जरूर दें, आप चाहें तो मुझे मेसेज बॉक्स मे मैसेज कर सकते हैं l

🙏धन्यवाद् 🙏

🖋 सर्वेश कुमार सक्सेना

***

Rate & Review

Verified icon

Mohini Pimpale 2 weeks ago

Verified icon

Ranjit 3 weeks ago

Verified icon

Balkrishna patel 1 month ago

Verified icon

Dhara Patel 1 month ago

Verified icon

kishan parmar 1 month ago