film khuda hafiz in Hindi Film Reviews by Prahlad Pk Verma books and stories PDF | फिल्म खुदा हाफिज की फिल्म समीक्षा

फिल्म खुदा हाफिज की फिल्म समीक्षा

फिल्म... खुदा हाफिज


डायरेक्टर...फारूक कबीर


Producer...kumar Mangat Pathak, Abhishek Pathak under Panorama studio


Cast...Vodyut Jammwal, Shivaleeka Oberoi, Aahana kumari,shiv pandit, Annu kapur,etc


IMDb Score..7.3/10


जेनर... Action thriller


Film व्यक्ति को हमेशा हँसाती, रुलाती हैं और बहुत कुछ सिखाती है, अगर फिल्म में एक्शन हो तो फिल्म देखने का मजा ही कुछ अलग होता है


आज मैं आपको ऐसी ही फिल्म से रूबरू करवाऊंगा जिन्हें देख आपको लगेगा कि हां यार इस फिल्म में दम है जिसमें सस्पेंस भी है


मानो आप महिला हैं और विदेश में पैसे कमाने जाओ और वहां पर आपको बिजनेस न मिलकर शोषण मिले और आपको कोई ढूंढने जाए और आपका मुकाबला एक बहुत ही बड़ी गैंग से हो तो क्या होगा


ऐसी ही फिल्म हैं खुदा हाफिज जिसमें आपको एक बेह्तरीन स्टोरी के साथ, एक्शन, क्राइम और प्यार भी मिलेगा


फिल्म स्टोरी....


Film की शुरुआत मिडल ईस्ट country Noman से होती है जहाँ समीर चौधरी(विद्युत जामवाल) को एक केस में गिरफ्तार किया होता है जहाँ उसने मिलने आई.के मिश्रा() जो इंडियन एंबेसी ऑफिसर होता है जो आकर मिलता है और उससे कहता है कि मैं तुम्हारी मदद करूंगा तुम अपनी पूरी स्टोरी बताओ मुझे तो समीर अपनी स्टोरी बताता है कि मैं मैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं और मेरी शादी नरगिस चौधरी (shiwaleeka) से हुई, हम दोनों जॉब करते थे लेकिन 2008 की मंडी में हमारी नोकरी चली गई और जब 2,3 महिने नोकरी नहीं मिली तो हम दोनों ने विदेश जाने की सोची


फिर हमने Noman यानी यहाँ के लिए वीजा लगाया लेकिन नरगिस को पहले बुला लिया और कहा कि तुम्हारा वीजा 3,4 दिन में आ जायेगा तो नरगिस यहाँ आ गई, उसके 2 दिन बाद नरगिस ने मुझे फोन किया और कहा कि समीर मुझे यहां से बचा लो, ये वो जगह नहीं जहाँ मैंने जॉब अप्लाई किया था तो मैं यहाँ आ गया, तो मैंने यहां आकर पुलिस की मदद मांगी, इंडियन एंबेसी से मदद मांगी लेकिन उन्होंने समय माँगा तो मैंने खुद टैक्सी चालक उस्मान हमीद अली मुराद(अनु मलिक) से नरगिस को ढूँढने की प्रयास किया


तो मैं ऐसी जगह गया जहाँ लड़कियों के जिस्म का धंधा होता है तो मैंने वहाँ नरगिस को पाया लेकिन वहां पर बहुत बड़ी गैंग से मेरी लड़ाई हुई और पुलिस मुझे यहां ले आई,प्लीज आप मेरी मदद कीजिए
इसके बाद इंडियन एंबेसी के हस्तक्षेप के कारण समीर को पुलिस मदद मिलती है जिसके लिए 2 ऑफिसर फैज अबु मलिक(शिव पंडित) और Tamena hamid(Aahana kumari) दोनों नरगिस को ढूंढने में समीर की मदद करते हैं
जो कि एक ईमानदार ऑफिसर होते हैं लेकिन पुलिस के इस जांच के कारण गैंग पुलिस को गुमराह करने के लिए एक महिला को बुरी तरह जला कर रख देती है जिससे समीर और पुलिस उसे नरगिस समझ कर दफना देते हैं और समीर को वापस इंडिया भेजने के लिए एयरपोर्ट छोड़ देते हैं लेकिन समीर एयरपोर्ट से भाग जाता है और बदला लेने के लिए गैंग को ढूंढता है.. फिर समीर गैंग मेंबर व नरगिस को ढूँढ़ लेता है लेकिन वहां पुलिस आ जाती हैं और समीर को कहती हैं कि हम तेरी मदद करेंगे और अपनी गन हमें दे दो तो गन देते ही फैज अबु मलिक समीर पर गोली चलाता है क्योंकि वो भी इस गैंग का सदस्य होता है लेकिन Tamena hamid की मदद से समीर नरगिस व अन्य लड़कियों से भरे ट्रक को लेकर भाग जाता है
फैज अबु मलिक, Tamena hamid को मार देता है और कत्ल का इल्ज़ाम समीर पर लगा देता है
समीर ट्रक सीधा पुलिस के पास ले जाता है और आई के मिश्रा के कहने पर जनरल उसे मारने के ऑर्डर नहीं देता है बल्कि फैज अबु मलिक को पकड़ लेते हैं और समीर को छोड़ देते हैं, बादमें समीर Tamena hamid को दफनाने के बाद नरगिस के साथ इंडिया लौट आता है


ऐक्टिंग
फिल्म में विद्युत जामवाल का किरदार बहुत ही लाज़वाब हैं जिसने किरदार को बखूबी से निभाया है
अन्नू मलिक ने टैक्सी चालक का किरदार ईमानदारी से निभाया है, आपको कहिं पर ऐसा नहीं लगेगा कि ये इंडियन ऐक्टर हैं और दूसरे देश के निवासी का किरदार निभा रहे हैं, उन्होंने बड़ी सिद्दत और चालाकी से अपना किरदार निभाया है
Aahana kumari ने एक ईमानदार पुलिस ऑफिसर का किरदार बड़ी चालाकी से निभाया है जिसे देख कर आप इन्हें फिल्म छुपा रुस्तम कहेंगे

शिव पंडित ने एक पुलिस अधिकारी का किरदार अच्छे से निभाया है और बादमें कुछ देर के लिए विलेन का किरदार के साथ भी ईमानदारी से काम किया है


Shivaleeka ने भी अपना किरदार अच्छे से निभाया है


इसके अलावा सपोर्टिंग किरदार भी बहुत ही लाज़वाब और हैं चाहें वो विपिन शर्मा हो फिर नवाब शाह सभी ने अच्छा काम किया है


फिल्म में क्या देखे


1 फिल्म की दमदार स्टोरी


2 फिल्म के दमदार और इमोशंस से भरे किरदार


3 फिल्म का Direction, VFX और सीन location


4 फिल्म का BGM और सोंग


5 फिल्म में Noman यानी अन्य देश की सभ्यता को इतनी अच्छे से दिखाया है कि आप कह भी नहीं पाओगे कि ये विदेश हैं या फिर हमारे किरदारों के कोई अन्य देश हैं


Film की कुछ कमियां


1 film में हिंदी के साथ उर्दू भी है जिससे बहुत सी जगहों पर भाषा समझ नहीं आती हैं
2 फिल्म में विलेन का किरदार कमजोर है
3 फिल्म में कुछ किरदारों को छोटा दिखाया गया है और कुछ जगहों पर फिल्म को बेमतलब में खिंचा गया है
4 फिल्म में डायलॉग नहीं है या मानो कमजोर है

मेरी नजर में फिल्म
मेरी नजर में ये एक बेस्ट फ़िल्मों में से एक है जिसे देख आपका समय खराब नहीं होगा. आपको ये फिल्म किसी भी बोर नहीं करेगी
मैं इसे 7 स्टार देता हूं क्योंकि भाषा, डायलॉग की वज़ह से मैंने कुछ स्टार काट लिए

Note
Ye फिल्म hotsatar पर available हैं