mara Kavya in Hindi Poems by Nikita panchal books and stories PDF | મારા કાવ્ય

મારા કાવ્ય


1.तड़प

तेरे इश्क ने ये हालत कैसी कर दी मेरी ये जालिम।
दरबदर भटकते रहेते हम तुम्हें भूलने को रात दिन।

हम तो मयखाने में भी जाते है तुम्हे भुलाने के लिए।
कमबख्त शराब की हर एक बूंद में भी तुम ही नजर आए।

कोई क्या समझेगा हालत मेरी जो इस रास्ते से नहीं गुज़रा।
जो गुज़रा है उसे ही तो ज़रा सी कदर नहीं मेरे प्यार की।

तुमसे मोहब्बत करने का गुनाह ही तो किया था।
इसलिए तुमने पल पल मरने की सजा मुझे देदी।

सोचा कुछ तो ऐसा करू जिसे तुम्हे मुझ पर प्यार आए।
पर तुम बेवफ़ा किसी और का हाथ पकड़ कर चले गए।

अब और कितना समजाऊ इस बेबस दिल को ।
जिसकी हर धड़कन सिर्फ तुम्हारे नाम से चले।

कितना नादान मेरा दिल है जो प्यार तुमसे बेइंतहा करता है।
मेरे दिल को क्या पता उसे तड़पना भी तेरे लिए ही पड़ता है।

जब नहीं रहेंगे इस जहान में याद बहोत आएगी आपको हमारी।
दुआ करते है हम के हमें हिचकी भी आए तो आपके नाम से आए।

2. कैसे समझाऊं

कल उसकी आवाज सुनी मेंने।
मेरी रूह में जैसे जान आ गई।

उसने बात की कुछ इस तरह से।
जैसे मेरा अंग अंग खिल गया।

वो नहीं इज़हार करता मुझसे अपने प्यार का।
कैसे में कुछ कहू या कुछ समझा पाऊ उसे।

उसके पास बहाने के सिवा और कुछ नहीं है।
मेरे पास उसके प्यार के सिवा कुछ नहीं है।

वो हा भी नहीं कहता और ना भी नहीं कहता।
कैसे पता करू में उसके दिल में है क्या।

बन कर बैठा है वो सबका कान्हा।
में क्या हूं उसके लिए ये कैसे जानू।

समझ नहीं पाता वो मेरे दिल का हाल।
उस कठोर दिलवाले को कैसे समझाऊं।

हर वक़्त यही कहेता है थोड़ा वक़्त दो मुझे।
में कैसे समझाऊं उसे वो ही नहीं है मेरे पास।


3. मेरे दिल की किताब

मेरे दिल के हर पन्ने पर नाम सिर्फ और सिर्फ तेरा ही है।
दिल के हर पन्ने पर लाखों बार मैने नाम तेरा ही लिखा है।

बड़े नाज़ुक है मेरे ये पन्ने बड़े प्यार से संभाल के पलट ना उसे।
जितनी बार पलटोगे इन पन्नों को हर बार तू ही दिखाई देगा।

ना देना धोखा मुझे प्यार में तेरे टूट कर बिखर जाएंगे बगैर तेरे।
अब तो ऐ सांसे चल रही है तुझसे ही प्यार होने के अहेसास से।

मुझसे थोड़ा दूर ना जाना कहीं भी तु अब मेरे ये दिल ऐ मोहब्बत।
बिलकुल नहीं सही जाएगी तेरी ये दूरियां और ये नाराज़गी मुझसे।

प्यार तो सभी करते है पर हमने आपको सब से थोड़ा कम किया है।
हम पागल है हमें नहीं आती बेवजाह तारीफ करनी जूठी आपकी।

आसमान से सितारे लाने का कोई जूठा वादा भी कर देते हम।
पर उसके लिए खुद को सितारा बनाने की कोशिश में लगे है हम।

क्यों मेरे दिल की धड़कन की आवाज़ इतनी नहीं है जो तुझे सुनाई दे।
ओ दिलबर लगता है तुम्हे हमसे हद से ज्यादा इतनी बेरुखी भाई है।

बारबार याद करते है आपको हम हमारी हर ले रही सांसो की तरह।
जिस दिन तुम्हे हिचकी ना आए समझ लेना इस दुनिया में हम नहीं है।

मिले समय तो कर लेना थोड़ा प्यार हमसे भी तुम और जूठा वादा भी।
क्योंकि इंतज़ार है तेरे इकरार का और हर जूठे वादे का हमको भी।
Niks 💓 Se 💓 Tak©