इंटरनेट वाला लव - 8 in Hindi Love Stories by Mehul Pasaya books and stories Free | इंटरनेट वाला लव - 8

इंटरनेट वाला लव - 8


"ओके आंटी जी अब हम चलते है चलो भैया हो गया अपका"

"हा समीर हो गया"

"चलो अब चले"

"हा चलो समीर और वोह समान लेना मत भूलना ओके और कुच भी भूलना मत ओके"

"हा भाई जरुर और फिक्र मत करो हम कुच भी नही भुलेंगे"

"हा मे आता हू तुम चलो ओके"

"हा जल्दी आओ हम इन्तेजार करेंगे जल्दी आना"

"हा जस्ट अभी आये"

"हम्म इस समान मे क्या होगा जो भाई ऐसा कुच भी नही भूलने को बोल रहे है चलो कोई बात नही भाई बोला है तो जरुर इम्पोर्टेंट होगा वैसे भी पता चल जायेगा क्यू की हम उनके बॉडी गार्ड है"

"समीर समान रख दिया गाडी मे"

"हा भाई रख दिया अब चलो गाडी मे बैठो"

"अब चलो वैसे आज क्या काम है भाई जो आप इतनी जल्दी उठे और चलने को बोल दिया हमे तो बताओ"

"हा समीर जब वहा पहुच जायेंगे तो खुद पता चल जायेगा ओके"

"ठीक है चलो देखते है आखिर है क्या उस जगह"

"हा समीर खुद देख लेना पर एक हिन्ट दे सकते है तुम्हे की किसके लिये है ये सरप्राइज"

"रियली बताओ ना भाई किसके लिये है ये सरप्राइज"

"हम्म ये सरप्राइज है मेरे भाई जेसे दोस्त के लिये और वोह भाई हो तुम और ये सरप्राइज तुम्हारे लिये है"

"सची भाई मुझे यकीन नही हो रहा है पर ये सरप्राइज क्यू"

"अरे ऐसे तो तुम सारी इन्फॉर्मेशन लेलोगे तुम वहा चलो तो सही"

"हा सरप्राइज है तो इन्तेजार तो करना पडेगा"

"समीर यहा से राइट लेके लेफ्ट लो ओके"

"हा भाई, ये भाई या से क्यू जाना चाहते है यहा तो हमारे घर का रश्ता है"

"समीर सुनो अब वोह सामने जो घर दिख रहा है ना वहा गाडी रोक दो ओके"

"ओके भाई पर भाई ये तो मेरा घर है और ओह अच्छा तो सरप्राइज ये था क्या"

"हा और भी सरप्राइज कुच और भी है तुम अब चलो चुप चाप"

"रुको रुको समीर मे नोक करता हू हेल्लो कोई है"

"जी कहिये अरे समीर तुम वापस क्यू आगय जॉब से निकाल दिया क्या तुम्हारे सर ने प्लीज बताओना बेता हमे फिक्र हो रही है"

"अरे आंटी जी रिलैक्स कुच नही हुआ है मे ही समीर का सर मेरा कहने का मतलब है वोह मेरे यहा जॉब करता है और इसको हम अपना भाई मानते है सो फ़िकर करने वाली बात नही है और समीर को मे ही लाया हू"

"शुक्र है कुच बुरा नही हुआ"

"अरे आंटी जी हम है ना समीर के साथ उसको और उसके साथ कुच होने भी नही देंगे ओके ये वादा करते है"

"शुक्रिया बेटा आपका बहुत बहूत बेटा"

"अम्मी जान अब सारी बात यही पे खडे रह कर ही बाते करोगे या भाई को अंदर बुलाओ गे"

"अरे माफ करना बेटा अन्दर आओ वोह ना अचानक से समीर वापस आगया तो हम थोडी हैरान हो गय थे आप दोनो यहा बैठो हम पानी लेके आते है ओले"

"हा आंटी जी और भाई समीर वोह छोटु कहा गया नज़र नही आ रहा है और सिस्टर भी कहा है नज़र नही आ रहे है"

"हा भाई मे अवाज लगाता हू रुको, छोटु छोटी यहा आओ तो देखो कौन आया है"

"अस्सलाम वालेकूम भाई जान"

"वालेकूम अस्सलाम सिसो खरियत से हो"

"हम अच्छे है आप बताओ भैया"

"हम भी ठीक है और छोटु नही आया कहा है वोह"

"हा भैया हम बुला कर लाते है ओके"

"ओके बुलाओ उसे"

"छोटु छोटु कहा हो"

"हा दी"

"हेय छोटु केसे हो स्पैशल तुम लोगो के लिये आये है  हम दोनो समीर और में"

"ओह सो स्वीट भाई"

"समीर अब जाओ गाडी मे से वोह सामान ले आओ


                  To be continue...


Rate & Review

Mehul Pasaya

Mehul Pasaya Matrubharti Verified 11 months ago

Writer Mehul

Writer Mehul 11 months ago

Parul

Parul Matrubharti Verified 11 months ago