सेकंड लव - 17 in Hindi Love Stories by Mehul Pasaya books and stories Free | सेकंड लव - 17

सेकंड लव - 17

अरे काजल बेटा वो लोग अभी नही आये पता करो कहा रह गये है बारात लेजाने का वक़्त हो गया है

हा मा वो आजयेंगे डोंट वरि और ये लो आ भी गये

अरे आ गये आइये आइये आप लोगो का ही इन्तज़ार था अब चलिये

हा चलो

नमश्ते पप्पा जी नमश्ते माजी

नमश्ते बेटा खूश रहो

फेरे टाईम...

अरे आप ही मेरि दोस्त के होने वाले हस्बैंड हो ना

हा हम ही है क्यू क्या हुआ

अरे यहा आओ चलो बहार जाते है

अरे पागल हो गये हो क्या फेरे हो रहे है आप बहार जाने की बात कर रहे हो

अरे वापस जल्दी आ जायेंगे चलिये ना प्लीज

ओके चलो पर फेरे होने से पहले वापस आना है ओके

ओके चलो ना

हा अब बोलो आपने हमे बहार क्यू बुलाया

हमे आपसे कुच कहना है

हा जल्दी कहो जो भी कहना हो

आप हमे पसंद हो

वॉट ये भी कोई बोलने वाली बात है हम तो सबको पसंद आते है

अरे ऐसे नही

तो कैसे, वेट वेट वॉट थे हैल तुमहरा दिमाग खराब है तुम्हारा हमे पसंद करने ये मतलब था की यू लव मी सॉरी मेरि शादी होने वाली है और अभी बोला आगे कभी मत बोलना ओके बाई मे अंदर जा रहा हू

अरे रुको ना इ रियली लव यू आयुष 

तुम पागल हो गये हो छोडो हमे जाने दो

नो हम आपको नही छोड़ेंगे और आपको भी हमारा प्यार कबूल करना पडेगा

ये क्या हो रहा है कोई बतायेगा क्या

हा आइये आइये काजल जी ये आपकी सहेली को ज़रा दिमाग सही करने वाले डॉक्टर के पास ले जाओ और इलाज़ करवाओ बोल रही है हमसे प्यार हो गया है इनसे और रही बात प्यार की तो मे इनको जनता तक नही 

बिजु क्या है ये सब तुम्हारे जीजू है ये नाकी तुम्हारे लवर ओके और हा हिम्मत कैसे हुए तुम्हारी इनको इस तरह यहा लाने की

काजल जी समझाए इसे और हम अंदर जा रहे है

हा जाओ हम आते है

रुकीये आप ऐसे नही जा सकते क्यू की हम आपसे प्यार करते है और अगर आपने हमारे प्यार को ठुकराया तो ठीक नही होगा इ विल वार्निंग यू

क्या है ये सब बिजु

हा सही बोल रहे है इनको हमसे प्यार करना ही पडेगा अपने मन से या फिर जबरदस्ती

काजल जी इनकी दिमागी हालतों ठीक नही है पहले आप उनका इलाज़ करवाये

हम बिल्कुल ठीक है आयुष और आप हमे ऐसे बिना बताये जा नही सकते

पर आपको हम क्या बताये हम ऑल रेडी काजल जी से प्यार करते है आपसे नही और आप तो हमे पेहली बार मिल रहे है पहले कभी देखा तक नही है फिर एक मिनट मे कहा और कैसा प्यार हुआ बताओ भला

एक मिनट आयुष जी बिजु तुम पहले ये बताओ की तुमने कभी कही पे देखा था क्या

हा देखा था

आपने जाना की जैसे ही बारात घर से निकाल कर शादी के फेरो मे बिज़ी रह्ती और वहा दुसरी तरफ काजल की दोस्त आयुष को बहार ले जा कर प्रोपॉज करती है और बाद मे आयुष प्रोपॉज के लिये मना कर देता है और फिर काजल आजाती है बाद मे आयुष सब कुच काजल को बता देता है अब आगे जाने के लिये पढते रहियेगा

पढ्ना जारी रखे

Rate & Review

Bhavin Gambhava

Bhavin Gambhava 7 months ago

Mehul Pasaya

Mehul Pasaya Matrubharti Verified 7 months ago