importance of flowers in Hindi Short Stories by दिनेश कुमार कीर books and stories PDF | फूलों का महत्व

Featured Books
Share

फूलों का महत्व

पूजा और फूल

हम बचपन से देखते आए हैं कि हमारे बड़े- बुजुर्ग भगवान की पूजा के लिए घर की क्यारी से फूल चुनते रहे...

पूजा में इन फूलों की क्या उपयोगिता है,आज हमने इसी विषय पर लिखने की कोशिश की है...

आपके समक्ष अपने विचार साझा करता हूँ....

आप भी कुछ कहना चाहते हों, तो आपका स्वागत है. आपके विचारों से सार्थक चर्चा रोचक बन जाएगी...

महकते ताजे फूल क्यों चढ़ते हैं पूजा में

फूलों से जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार बढ़ता है...

फूल इंसान की श्रद्धा और भावना का प्रतीक है...
फूलों के अलग - अलग रंग और सुगंध अलग तरह के प्रभाव पैदा करते हैं. इनके द्वारा अलग - अलग तरह की कामना भी पूरी की जा सकती है.

पूजा में वास्तविक फूल भी अर्पित कर सकते हैं और मानसिक भी...

पुराणों में वर्णित है कि आदिकाल से फूल देवी-देवताओं का प्राकृतिक श्रृंगार माने गए हैं...

यही वजह है कि किसी न किसी फूल के साथ किसी न किसी विशेष देवता या देवी का नाम अवश्य आता है.

गेंदे के फूल का महत्व...

गेंदा वास्तव में एक फूल नहीं बल्कि छोटे - छोटे फूलों का एक गुच्छा है.
गेंदे के फूल का संबंध बृहस्पति से होता है....

गेंदे के फूल के प्रयोग से ज्ञान और विद्या की प्राप्ति होती है...

गेंदे के फूल के प्रयोग से आकर्षण क्षमता बढ़ जाती है.
भगवान विष्णु को नियमित रूप से पीले गेंदे के फूल की माला चढ़ानी चाहिए.

गुलाब के फूल का महत्व...

गुलाब का फूल एक अदभुत और चमत्कारी फूल है.
रिश्तों पर सीधा असर डालता है गुलाब का फूल.

गुलाब के फूल की ढेर सारी किस्में हैं, लेकिन ज्योतिष और पूजा में लाल गुलाब का ही प्रयोग किया जाता है.
लाल गुलाब का संबंध मंगल से और इसकी खुशबू का संबंध शुक्र से है.

लक्ष्मी जी को नियमित गुलाब अर्पित करना चाहिए.

कमल के फूल का महत्व...

जीवन में शुभ के आगमन का प्रतीक है कमल का फूल. कमल का फूल देवी-देवताओं को प्रिय होता है। इस फूल के प्रयोग से कई मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं.

कमल का फूल शुद्ध रूप से दैवीय और आध्यात्मिक फूल माना जाता है.
सफेद रंग का कमल सबसे पवित्र और ऊर्जा में सर्वश्रेष्ठ होता है.

कमल का संबंध नौ ग्रहों और दुनिया की पूरी ऊर्जा से है.
कमल का फूल अर्पित करने का अर्थ ईश्वर के चरणों में स्वयं को अर्पित कर देने से है.
किसी भी एकादशी को कृष्ण जी को कमल के दो फूल अर्पित करें.

गुड़हल के फूल का महत्व...

देवी की उपासना का सबसे उत्तम फूल माना जाता है, गुड़हल का फूल. इस फूल में दैवीय ही नहीं तमाम औषधीय गुण भी पाए जाते हैं.
गुड़हल का फूल बहुत ऊर्जावान माना जाता है.
देवी और सूर्य देव की उपासना में इसका विशेष प्रयोग होता है.

गुड़हल का फूल डालकर सूर्य को जल अर्पित करने से सूर्य की कृपा मिलती है.

मैं लक्ष्मी कांत पूजा और फूल विषय पर और भी बिंदुओं पर लिखना तो चाहता था पर विषय को यहीं विराम दे रहा हूँ. फिर कभी चर्चा करूँगा. आप भी अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिखेंगे तो अच्छा लगेगा...