mukesh ambani life story books and stories free download online pdf in Hindi

मुकेश अंबानी लाइफ स्टोरी

आज अगर भारत के धनकुबेरों की बात करें तो मुकेश अम्बानी का नाम सबसे पहले हमारी जुबां पर आता है। और ये कहना गलत नहीं होगा कि उनकी इस सफलता के पीछे उन्होंने कई असफलताओं का सामना किया हैं। लेकिन उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी। और आज इसी मेहनत ने उनका नाम देश और विदेशों में प्रचलित कर दिया है। इंडिया के हर एक युवा के लिए मुकेश अंबानी एक प्रेरणा स्त्रोत है और आज का युवा उनकी तरह एक सफल Businessman बनना चाहता है।

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक मुकेश अम्बानी लाइफ स्टोरी भी हमारे लिए एक प्रेरणा का स्रोत है। जीवन में सब कुछ मिल जाना ही एक मात्र सफलता की निशानी नहीं है, बल्कि उस चीज़ को हम किस हद तक आगे ले जा सकते हैं वह भी बहुत जरुरी है। और ऐसी ही एक सफलता की कहानी है मुकेश अम्बानी की।

मुकेश अम्बानी ने अपनी शुरुवात के बाद से अभी तक सिर्फ खुद को आगे ही बढ़ाया है। मुकेश अम्बानी बायोग्राफी के जरिये जानेंगे की किस तरह उन्होंने अपने business को एक नयी ऊंचाइ तक पहुँचाया और जिंदगी में एक नया मुकाम पाया। आईये जानते हैं!

भारत के सबसे अमीर शख्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और धीरुभाई अम्बानी के बेटे मुकेश अम्बानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को यमन के अदन में हुआ था। मुकेश अम्बानी के तीन बच्चे हैं: आकाश, ईशा और अनंत। मुकेश अम्बानी की वाइफ नीता अंबानी IPL Cricket Team MI की मालकिन हैं और साथ ही वो Dhirubhai Ambani International school की फाउंडर और चेयरमैन हैं। मुकेश अम्बानी गुजराती परिवार से हैं और इनकी माता का नाम कोकिला बेन अम्बानी है।

मुकेश अम्बानी की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने “Institute Of Chemical Technology” से Chemical Engineering में BE की Degree प्राप्त की हुई है। उसके बाद मुकेश अम्बानी ने America के “Stanford University” में MBA की पढ़ाई करने के लिए admission ले लिया था। लेकिन बिज़नेस के कारण उनके पिता धीरूभाई अम्बानी ने उनको MBA के दौरान वापिस इंडिया बुला लिया और उनको Business संभालने के लिए India ही रोक लिया।

उनके पिता धीरूभाई अम्बानी का कहना था की किसी भी इंसान में business करने का तजुर्बा उसको वास्तविक जीवन से आता है, न की किसी क्लास में बैठकर पढ़ाई करने से। इसके बाद साल 1981 में मुकेश अम्बानी ने अपने पिता के साथ मिलकर Reliance Petroleum Rasayan की स्थापना की। Petrochemical के साथ ही मुकेश अम्बानी ने अपने पिता के साथ मिलकर अपने वस्त्र उद्योग और polyester fiber के काम को भी संभाला।

अपने production को बढ़ाने के लिए मुकेश अम्बानी ने अलग अलग technology की 60 से ज्यादा manufacturing facilities का use किया। जिसके चलते reliance का production मात्र एक साल में 10 लाख टन प्रति वर्ष से 1 करोड़ 20 लाख टन प्रति वर्ष पहुँच गया। इसके कुछ साल बाद मुकेश अम्बानी ने tele communication में अपना business करने की शुरुआत की और Reliance Infocom Limited की स्थापना की, जिसके बाद में Reliance Communication Limited के नाम से जाना जाने लगा।

साल 2002 में उनके पिता धीरूभाई अम्बानी का निधन हो गया। जिसकी वजह से मुकेश और अनिल अम्बानी के बीच कारोबार को लेकर बंटवारे की स्तिथि बन गयी और साल 2005 में इन दोनों ने अपने कारोबार को दो हिस्सों में बाँट दिया। बंटवारे में reliance industries मुकेश अम्बानी को मिली और रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड Anil Ambani के हिस्से में आ गयी। मुकेश अम्बानी Reliance Industries के सबसे बड़े share holders हैं।

2006 में मुकेश अम्बानी ने reliance retail company की स्थापना की। Reliance Retail का कारोबार बहुत ही तेज़ी से बड़ा और आज ये India की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली और सबसे ज्यादा stores वाली company बन चुकी है। इस वक्त की दुनिया की सबसे बड़ी retails companies की list में 53 वें number पर है। इसके साथ ही साल 2015 में मुकेश अम्बानी ने फिर से एक बार tele communication field में उतरने की योजना बनाई और 2016 में Reliance JIO launch की।

JIO के launch होते ही इसने tele communication field में तहलका का मचा दिया और free internet डाटा देकर दूसरी सभी कंपनियों के customer को अपनी तरफ खींच लिया। Reliance JIO आज भारत की एक सबसे बड़ी tele communication company बन चुकी है और साथ ही JIO के 42.62 करोड़ subscribers के साथ दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी Mobile Network Operator भी बन चुकी है।

रिलायंस जियो के मार्केट में आते ही टेलीकॉम की दुनिया में मानों तूफान सा आ गया हो और वहीं जियो के इस तूफ़ान ने एक रिकॉर्ड भी बनाया। जियो ने मात्र 170 दिनों में लगभग 10 करोड़ ग्राहक अपने खाते में जोड़े और ऐसा करने वाली जियो भारत में पहली टेलीकॉम कंपनी थी। आपको बता दें कि रिलायंस सिर्फ भारत में ही नहीं विदेशों में भी नाम कमा रही है।

Reliance अपना सामान लगभग 108 देशों में निर्यात करती हैं। ब्लूम्बर्ग बिलिनियर इंडेक्स के अनुसार दुनिया के अमीरों की लिस्ट में मुकेश अंबानी का स्थान 5.63 लाख करोड़ के साथ 11वें पायदान पर है। और वहीं भारत में अमीरों की सूची में उनका स्थान आज नंबर 2 पर है।

फोर्ब्स की एक पत्रिका के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अम्बानी का मुंबई स्थित घर ‘Antilia’ धरती पर सबसे महंगा घर है। 27 मंजिला इस घर की कीमत लगभग एक से दो बिलियन डॉलर बताई जाती है। 400,000 वर्ग फुट में फैले हुए इस घर में दुनियाभर की तमाम सुविधाएँ शामिल है। जिसमें 168 कारों की पार्किंग की सुविधा, कई स्विमिंग पूल, एक योग स्टूडियो, लॉबी में 9 लिफ्ट, तीन हैलीपैड, स्पा और 50 सीटों वाला थिएटर भी है। और वहीं एक रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश अम्बानी ने घर के रखरखाव के लिए लगभग 600 कर्मचारी रखे हुए हैं।