Pyasa Kuva - 1 books and stories free download online pdf in Hindi

प्यासा कुवा - भाग 1

 कई  बरसों  पहले  की  बात  है  । 

उन दिनों  गाव  मे  कुवे  हुआ  करते  थे  । 

तब  इतना  विकास  नहीं  हुआ  था  । 

अगर  किसी  को  पानी  चाहिए  तो  उसे  कुवे  तक  जाना  पड़ता  था  । 

फिर  सींच के  पानी  निकाल  ना  पड़ता  था  । 

 

तो  हमारी  कहानी  की  सरुआत  भी  एक  गाव  से  होती  है  । 

जिसका  नाम  था  ।  चंदनपुर  । 

उस  गाव  मे  एक  लड़की  थी  शीला  । 

जो  तकरीबन  २५  साल  की  थी  । 

ओर  वो  एक  लड़के  से  प्यार  करती  थी  । 

जिसका  नाम  था  साहिल  । 

वैसे  तो  साहिल  दिखने  मे  तो  सुंदर  ओर  संस्कारी  लगता  था  । 

 

पर  उसकी  संगत  गलत  लड़कों  से  थी  । 

जो  आवारा  ओर  बदतमीज  थे  । 

दिनभर  गाव  मे  घूमते  रहते  ओर  कुछ  काम  धंधा  भी  नहीं  करते  । 

ओर  लड़कियों  को  ताकते  रहते  थे  । 

उन  सब  मे  रोमिल  बहुत  ही  गंदा  लड़का  था  । 

जो  पूरा  दिन  लड़कियों  के  बारे  मे  ही  सोचता  रहता  था  । 

 

एक दिन  उसकी  नजर  शीला  पर  पड़  गई  । 

ओर  वो  मन ही  मन  उसे  पाने की  योजना  बनाने  लगा  । 

पर  ये  उतना  आसान  नहीं  था  । 

 

पर  कहते  है  ना  की  अनहोनी  को  कोई  नहीं  टाल  सकता  । 

कुछ  दिन बाद  जब  शीला  के  पापा  रामप्रसाद  घर  पहुचे  तो  । 

उन्होंने  पहोचते  ही  शीला  को  बताया  की  उन्होंने  उनकी  सादी  । 

गाव  के  जमींदार  तेजप्रसाद  के  बेटे  काली से  तैय  करदी  है  । 

 

उन दिनों  लड़किया  बहुत  मर्यादा  मे  रहती  थी  । 

वो अपने  माता - पिता  को  यह  नहीं  कह सकती थी  की । 

वो किसी ओर से  प्यार  करती  है । 

 

यह  सोचकर  उसने  ये  बात  साहिल  से  कह  दी  । 

तब  साहिल  ने  उसे  कहा  की  वो  दोनों  आज  रात  भाग  जाएंगे । 

वो उसे  गाव  वाली  सड़क पे  मिले  ओर  वहा से  वो  दोनों  भाग  जाएंगे । 

शीला  ने  बिना  कुछ  सोचे  समजे  साहिल  को  हा  कह दी । 

 

जब  रात को  शीला  सड़क  पर  पहुची   तो  वहा  । 

रोमिल   पहेले  से  खड़ा था  । जो की साहिल  का  दोस्त  था  । 

पर शीला  उसके  बर्ताव से  अभि  तक  अनजान  थी  । 

 

वो उसके  साथ  गाव  की  सड़क  पार  करके  । 

थोड़ी  दूर  पहुचे  थे  । 

वहा  एक कमरा  था  । 

ओर  वहा पे  परेश  , निशीथ  ओर  विराज  पहले  से  मोजूद  थे  । 

जैसे  ही  वो  कमरे  के  अंदर  पहुचे  । 

रोमिल   ने  शीला से  कहा  । 

तुम  थोड़ी  देर  यहा  रुको  साहिल  आता  ही  होगा । 

थोड़ी  देर  बाद  साहिल  आया  तो  शीला  ने  कहा  चलो  भाग  चलते  है । 

 

तब  साहिल  ने  कहा  भाग के  कहा  जाना  है  मेरी  रानी । 

पहले  मेरे  दोस्तों  की  प्यास  तो  बुज  जाए  । 

उसके  बाद  मेरी  प्यास  बुजाऊँगा  । 

फिर  तुम्हें  जहा  जाना  है  जाना  । 

आखिरकार  हीरो  ही  विलन  निकला  । 

 

रोमिल  के  पापा  सरकारी  अफसर थे  । 

तो  रोमिल  ने  साहिल  से  सर्त  रखी  थी  । 

अगर  वो  शीला  को अपनी  जाल मे  फसाकर  उन्हे  सोप  देगा  तो  । 

उसके  पापा  उसे  सरकारी  नोकरी  पे  रख  देंगे  । 

पर  उसके  पापा  को  हकीकत  की  जानकारी  नहीं  थी  । 

 

उस  रात  वो  पूरा  कमरा  शीला  की  चीखो  से  रो  पड़ा । 

बारी - बारी  उन वैसी  दरिंदों  ने  उस  पर  अत्याचार  गुजारा । 

फिर  उसको  मार  डाला  । 

ये  बात  आत्महत्या  लगे  इस लिए  उसकी  लास  को  कुवे  मे  डाल  दिया । 

उसके  खून की  वजह  से  पूरा  कुवा लाल  हो  गया । 

अब  आगे  क्या  होगा  जानने  के  लिए  पढे । 

प्यासा कुवा - भाग - २