Gulaab in Hindi Short Stories by Anita Sinha books and stories PDF | गुलाब।

Featured Books
Share

गुलाब।


गुलाब ईश्वर की अनमोल सौगात है। गुलाब राष्ट्रीय सम्पत्ति है। यह देश की पहचान को बरकरार रखने में सफल हुए हैं। यह मानवता को प्रश्रय देते हैं। खूबसूरती का खजाना है गुलाब। यह शाही घरानों में सैर करता है
फिर भी नहीं इतराता है। इसकी खूबसूरती का वर्णन
करने को शब्द नहीं मिलता है। जहां पर यह रहता है
वातावरण को सुवासित बना देता है। गुलाब के पास से
गुजरने वाले लोगों के मन को प्रसन्नता से भर देता है।

प्रकृति को खिलखिलाने में सहयोग करता है गुलाब। हंसते रहो का संदेश देता है गुलाब। प्रकृति को बचाने में सहायक सिद्ध होता है गुलाब। जीवन का आधार होता है गुलाब। प्रेम का प्रतीक है गुलाब। इसकी किस्म तो देखिए लाल ,गुलाबी ,पीले ,नीले और काले ऱग रुप में पाये जाते हैं। जिस रंग में ढाल दीजिए शान
बढ़ाती है सबकी बेमिसाल और लाजवाब गुलाब।

सभी देवी देवताओं के चरणों में चढ़ाए जाते हैं गुलाब। गुरुदेव जी की पालकी बनाने में ख्याति प्राप्त करता है गुलाब। भगवान जी के गले का हार बनकर
जीवन को सफल बनाता है गुलाब। सबको ख़ुशी और उल्लास का उपहार देता है गुलाब। कहने में कोई भी संदेह नहीं है कि सबका प्यारा है गुलाब। प्रकृति की हरियाली बनाए रखने में सहयोग करता है गुलाब।
प्रकृति का अद्भुत नजराना होता है गुलाब।

उपहार स्वरूप दिए जाने में प्रयोग किया जाता है
गुलाब। जैसे - वेलेंटाइन डे पर, प्रोपोज करने में, प्रेम
की सौगात के लिए , प्रणय निवेदन में , शादी विवाह
पर, पार्टियों में , सांस्कृतिक कार्यक्रम में , वैवाहिक वर्षगांठ पर, शुभ जन्म दिवस पर , खुशी जाहिर करने
में , सभा भवनों में , टेबल की शोभा बढ़ाने में, हर्षोल्लास जाहिर करने में, गृह प्रवेश आदि में।
कहने का तात्पर्य यह है कि जीवन से लेकर मरण तक
साथ निभाते हैं गुलाब।

मेल-मिलाप का समर्थक है गुलाब। बंधुत्व की भावना को जागृत करता है गुलाब। सद्भावना का संदेश देता है गुलाब। कांटों के साथ रहकर शोभा पाता है गुलाब। जरा सोचिए तो कांटों के साथ रहकर भी मुस्कुराते हुए सबका स्वागत करता है गुलाब। प्यार और दुलार से रहता है कांटों के साथ गुलाब। यह बात गौरतलब है कि कांटों से नहीं बिंधता है गुलाब। मगर
हम मानव जब तोड़ते हैं बेध्यानी में गुलाब तो कष्ट पाता है गुलाब । मतलब कि पत्तियां बिंध जाती है इसकी।

राजघराने में शोभा पाते हैं गुलाब। शहंशाही मान
पाता है गुलाब फिर भी सबके गले का हार बनता है गुलाब। फूलों की मालाओं के बीच में डाल दिया जाए गुलाब तो हार की खूबसूरती बढाता है गुलाब। राज रानी के पास में खिल उठता है गुलाब। शाही स्नान में काम आता है गुलाब। सुहागरात पर प्रेम का आशियाना
बनाता है गुलाब।

पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने में सक्षम हो
जाता है गुलाब। सदाबहार सुवासित उपवन का उपहार
प्रकृति को देता है गुलाब। कांटों के साथ प्रेम करके
जीवन को सार्थक बनाता है गुलाब। बैर भाव से दूर
रहता है गुलाब।

मरीजों के लिए औषधि है गुलाब ।
जीवन दान देता है गुलाब। वाह रे गुलाब वाह !