द लॉस्ट एस्ट्रोनॉट:स्टेप इन द सन पार्ट-3

द लॉस्ट एस्ट्रोनॉट

भाग 3

ज़रूरी सूचना-

यह कहानी केवल कल्पना पर आधारित हैं किसी भी वास्तविकता से इसका मेल केवल संयोग मात्र है, केवल मनोरंजन की दृष्टि से ही अध्ययन करें।

***

समय बढ़ता गया कब 4 वर्ष निकल गए पता ही नही चला इस बीच जैकोल को 4 वर्षों की खास ट्रेनिंग भी दी गयी जिसके कारण वह अब किसी भी जगह जीवीत रहने की कला में माहिर हो चुका था, उसकी कंपनी ने उसे और उसके साथ 13 एस्ट्रोनॉट्स को भेजने की तैयारी भी शुरू करदी थी जो लगभग खत्म हो चुकी थी और जल्द ही उन्हें सूर्य में जाने का ऐतिहासिक अवसर मिलने वाला था.इस बीच खास वैज्ञानिकों ने केस्टीन के पिघलने का समय बढ़ाकर आधे घंटे से 2 घंटे का कर दिया था और उसमें टाइमर भी लगा दी गयी थी जो यह बताता था कि कितने समय बाद यह सूट पिघलने लगेगा.आखिरकार उन्हें अपनी कंपनी से ऑर्डर्स मिले और 28 मई 2018 को वो लोग रवाना होने वाले थे वो लोग बेसब्री से इस दिन का इंतज़ार कर रहे थे.जैकोल लैब में अपने कमरे में अकेला बैठा था तभी उसे जूतों की आवाज़ आयी और उसके दरवाज़े के सामने वो आवाज़ रुक गयी ठक-ठक किसी ने दरवाज़े पे दस्तक दिया कम-इन जैकोल ने कहा, आओ एलन, वह एलन था जैकोल का काफी अच्छा मित्र और साथ ही उनकी एस्ट्रोनॉट्स की टीम का लीडर भी था.

एलन: क्या तुम अभी बिजी हो जैकोल??

जैकोल: नही तो दोस्त, क्यों कोई काम था,

एलन: तुमसे कुछ बात करनी थी अगर तुम बिजी नही हो तो,

जैकोल: नहीं में इस समय बिल्कुल फ्री हूँ कहो क्या कहना हैं,

एलन: चलो टेरिस पे चलते हैं,

जैकोल: ह्म्म्म चलो.

और वो दोनों टेरिस की ओर चलने लगते हैं कुछ ही समय के बाद वो लोग टेरिस में आ जाते हैं

जैकोल: बोलो, तुमने मुझे यहां क्यों बुलाया हैं?

एलन: देखो काल हम यहां से रवाना हो चुके होंगे एक नई दुनिया हर चीज़ नई हम एक ऐसी जगह जा रहे हैं जहां के बारे में आजतक हमने नही सुना वो कैसी जगह हैं बस एक सपने जैसी उसकी छवि आजाती हैं दिमाग मे वहां पे जाना बहुत अजीब और कुछ हद तक बहुत अच्छा अनुभव भी होगा हम वहां के वातावरण से भी अनजान हैं और तुम पहली बार स्पेस मे जाओगे एक रोमांच से भरे इस सफर में क्या पता कौन सा समय हमारा आखरी समय हो, मतलब जरूरी नही की हम लोग जिंदा वापस आये तुम समझ रहे हो ना??

जैकोल हसने लगता हैं...

जैकोल: तू कभी नही सुधरेगा यार, सीधे सीधे बोलो न कि तुम मेरे साथ यहां बैठकर शराब पीना चाहते हो और ताकि अगर ये हमारी आखरी सफर भी होगी तो हमें कोई दुख न हो.

एलन: तुम मुझे बहुत अच्छे से समझते हो मेरे दोस्त.

जैकोल: लेकिन हमलोग यहां पियेंगे?

एलन: हां मैने सब मंगा लिया हैं वो देखो टेबल चलो वहां.

और वो दोनों वहां जाकर पहले से बनी दो जाम उठाते हैं और टकराने ही वाले होते हैं कि अचानक वहां किसी की रौबदार आवाज़ गूंजती हैं वह शख्स “रुको” कहके चिल्लाता हैं. और अंधेरे से एक परछाई उस तरफ बढ़ने लगती हैं, उसका शरीर देखके मानो वो दोनों दँग रह गए हो चांदनी रात खुला आसमान उसका शरीर मानो कोई पहलवान हो उसकी भुजाएंकिसी इंसान की जांघों की तरह मोती 6 फुट का कद्दावर व्यक्ति और असीम शक्ति का मालिक प्रतीत होता था, वो उनके नज़दीक आया और जेब से एक बन्दूक निकाल कर जैकोल की तरफ तान दी और कहा ग्लास नीचे रख....

और वो तीनों हंसने लगते हैं और गले मिलते हैं वह इंसान जैकोल का स्कूल का मित्र और एलन का इकलौता साला कमांडो एरिक था उसे वीरता के कई मैडल मील थे और अकेले ही 10-15 से भिड़ने की हिम्मत रखता था.

जैकोल: माफ करदे यार में भूल गया था कि सबसे पहले तू पिता हैं बाद में हम.

एरिक: हां आज तो पार्टी बनती हैं.

और वो तीनों जाम टकराने लगते हैं.

सुबह जब उनकी आंख खुली तो सूरज उनके सर में आ चुका होता हैं जैकोल उठता हैं और एलन और एरिक को भी उठाता हैं एरिक उठता हैं, अब मुझे चलना होगा मैं तो तुमसे मिलकर बधाई देने आया था कि तुम सूर्य पर जाओगे हमारे लिए गर्व की बात हैं मेरे दोस्त और एकाएक वो लोग गले मिलने लगते हैं. और एरिक चला जाता हैं.

वो दोनो नाहा धोकर अपनी कंपनी की हेडक्वार्टर की ओर बढ़ने लगते हैं क्योंकि कुछ ही घंटों में उन्हें रवाना होने होता हैं वो लोग जल्द ही अपनी हेडक्वार्टर में पहुंच जाते हैं और एलन एक टीम लीडर होने के नाते सबको कुछ जरूरी बातें बताने लगता हैं-

दोस्तों अभी से ठीक 3 घण्टो बाद हम यहां से निकल जाएंगे एक ऐसे जगह के लिए जिसको अभी तक किसी ने स्पष्ट रूप से नही देखा हैं वहां का वातावरण कैसा हैं ये केवल हम कल्पना कर सकते हैं अपनी ओर से हर कोशिश करिये की आप वहां बीमार ना हों और टीम के किसी भी सदस्य को बिना बताए टीम से 2 किलोमीटर के फासले से अधिक नही जाना हैं बिना पूर्ण जानकारी के किसी भी वस्तु को हाथ नही लगाना हैंअब मैं चाहूंगा कि हमारे सबसे काबिल एस्ट्रोनॉट और वैज्ञानिक आपको इस बारे में कुछ बताएं तो तालियों से स्वागत करें हमारे सबसे महान एस्ट्रोनॉट और काबिल वैज्ञानिक जैकोल उर्फ जैक नोलन का और वहां बैठे सभी बड़े और छोटे अधिकारी खड़े होकर जैकोल के लिए ताली बजाने लगते हैं और वो उठकर स्टेज की ओर बढ़ने लगता हैं और कुछ सेकण्ड्स में स्टेज में खड़ा हो जाता हैं

तो, सबसे पहले में चाहता हूँ कि एक जोरदार ताली हो जाये मेरे लिए,

सब लोग हंसने लगते हैं और ताली बजाने लगते हैं

कुछ समय के बाद वो कहता हैं देखो आप लोग इसे सीरियस नही ले रहे एक बार जोरसे

एक बार फिर तालियों की गड़गड़ाहट फैलने लगती हैं,

जैकोल मुस्कुराने लगता हैं और फिर वह बोलना शुरू करता हैं, एक अद्भुत सफर केवल कल्पना के आधार पर, हम्म... एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी अपने उन सभी साथियों की जो सूर्य पर मेरे साथ जाना पसंद करेंगे सच में इस पूरे ब्रह्मांड में कुछ ही असंभव नही और विज्ञान पिछले कई वर्षों यह साबित भी कर रहा हैं इसी का नतीजा हैं कि हम केस्टीन या सनसूट बनाने में सफल हो पाए हैं और आखिर कर हम पृथ्वी के बाहर के उन अनसुलझे रहस्यों को बहुत करीब और बारीकी से समझेंगे हम वहां केवल 8 दिन रहेंगे लेकिन मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि यह 8 दिन काफी रोमांचक होने वाली है। मेरे, टीम का लीडर एक बहुत जिम्मेदार व्यक्ति एलन मुझे भरोसा है की उसके होते हुए हमें कुछ भी नही होगा खैर इन सब बातों का कोई अंत नही सो, में आज की इस कॉन्फ्रेंस मीटिंग को यहीं समाप्त करने की अनुमति चाहूंगा और एक बार फिरसे कमरे में तालियों की गड़गड़ाहट गूंजने लगती हैं.

जैकोल सब कुछ ठीक है या नही इसका निरीक्षण कर रहा था कि एकाएक उसे किसी ने आवाज़ लगाई, ”जैकोल” वह उसके एस्ट्रोनॉट्स टीम का कप्तान एलन था, जैकोल पीछे मुड़ा क्या हुआ एलन? जैकोल ने पूछा सब ठीक हैं ना? एलन पूछा, हां बिल्कुल ठीक हैं सभी चीजें अच्छे से काम कर रही हैं तो अब हमें रवाना होने हैं. यस कैप्टेन और कुछ निर्देश? जैकोल मानों उसे छेड़ता हुआ बोला और वो दोनों हसने लगते हैं. और आखिरकार वो लोग सूर्य पर जाने के लिए रवाना हो जाते हैं.

शेष कहानी अगले भाग पर

लेखक - राघव शर्मा

***