Hotel Haunted - 12 in Hindi Horror Stories by Prem Rathod books and stories PDF | हॉंटेल होन्टेड - भाग - 12

हॉंटेल होन्टेड - भाग - 12

मनीषा और अंकिता चलते हुए पार्टी में ही जा रहे थे। पार्टी रखी थी वह हॉल होटल में पीछे की तरफ गार्डन के बिल्कुल बगल में ही था। वहां एक दरवाजा जिसे खोलकर बाहर जाने पर वह लोग सीधा गार्डन में पहुंचे जाते थे। मनीष और अंकिता हॉल में पहुंचे दोनों एक-दूसरे का हाथ पकड़े हुए चल रहे थे।पूरा हॉल रोशनी में जगमगा रहा था।होल की साइड में बैठने के लिए Arrangement किया गया था और left side में सभी तरह के drinks भी रखे हुए थे।

निकुंज स्टेज पर Music Arrangement किया गया था, वहां कुछ बात कर रहा था।उसने वहां आए सभी Couples की ओर देखा फिर Mic हाथ में लेकर सभी लोगों की ओर देखते हुए कहा "Hello! Good Evening Everyone" निकुंज की आवाज सुनकर हॉल में चल रहा शोर बंद हो गया और सभी लोग निकुंज की ओर देखने लगे "I hope कि आप सबकी शाम अच्छी बीत रही होगी, जैसा कि आप सब जानते हैं कि ऊंटी कुदरत की खूबसूरती और नजारों का शहर है, यहां लोग अपनी जिंदगी के कुछ यादगार पल और लम्हे जीने के लिए आते हैं और मैं आप सब लोगों का शुक्रगुजार हूं जो आपने यह लम्हे बिताने के लिए हमारे होटल को चुना तो, हमारा भी फर्ज बनता है कि आपकी शाम को एक बेहतर और हसीन शाम बनाई जाए।" इतना कहने के बाद म्यूजिक शुरू हो जाता है,उसके साथ ही पूरे हॉल में Excitement के साथ वहां मौजूद सभी लोगों की आवाज गूंज उठती है।

रोशनी की जगमगाहट,लोगों का शोर और Songs के साथ पार्टी शुरू होती है।सभी Couples एक-एक करके अपने पार्टनर के साथ डांस करना शुरू करते हैं।मनीष अंकिता की ओर देखते हुए कहता है "चलो हम भी सभी को join करते हैं ताकि तुम्हें भी तो पता चले कि मुझे कितना dance आता है" अंकिता मुस्कुराते हुए कहती है "क्यों नहीं जरा मैं भी तो देखूं।" इतना कहते हुए मनीष अंकिता का हाथ पकड़ते हुए सभी के साथ dance करने लगते हैं। Speaker में से बज रहे बॉलीवुड और वेस्टर्न गानों के साथ मनीष अलग-अलग स्टेप्स करते हुए डांस कर रहा था।जैसे वहां प्ले हो रहा म्यूजिक उसे और भी एक्साइटेड कर रहा हो, वह पूरे जोश में लग रहा था।

अंकिता मनीष की ओर देखती है तो पाती है कि वह पूरा म्यूजिक में खोया हुआ है,वैसे भी मनीष के पैर पार्टी में म्यूजिक सुनकर रुकते नहीं थे। मनीष को डांस का बहुत शौक था, इसलिए वह भी मनीष के साथ ताल मिलाते हुए डांस करने लगती है। दोनों की नजरें मिलती है। मनीष अंकिता की कमर पर हाथ रखकर उसके दूसरे हाथ को पकड़ कर डांस कर रहा था,दोनों इस वक्त सभी लोगों के बीच में डांस कर रहे थे,ऊपर से आ रही ब्लू कलर की रोशनी यह दोनों बहुत खूबसूरत लग रहे थे।

दोनों इस तरह कितनी देर तक डांस करते रहते हैं उन्हें पता ही नहीं चलता। अब कुछ couples साइड में रखे हुए टेबल्स पर जाकर रेस्ट करने लगे थे,तो कुछ ड्रिंक्स पी रहे थे। पर मनीष और अंकिता रुकने का नाम नहीं ले रहे थे, तभी मनीष का ध्यान उसके साथ डांस कर रहे एक कपल की ओर जाता है। वह लोग भी पार्टी में शुरू से मनीष और अंकिता के साथ डांस कर रहे थे,तभी अचानक अंकिता का पैर मुड़ने की वजह से उसका बैलेंस बिगड़ता है और वो उन्हीं Couple से जाकर टकराती है। पर अंकिता गिरती उससे पहले ही मनीष अंकिता को पकड़ लेता है।

अंकिता के टकराने की वजह से उन दोनों मैं भी डांस करना बंद कर दिया था। मनीष अंकिता से पूछता है कि "तुम ठीक हो ना?" अंकिता मनीष की ओर देखते हुए कहती है "सॉरी वह मेरा पैर मुड़ गया" मनीष फिर उन दोनों की ओर देखते हुए उनसे सॉरी कहता है।

वह दोनों मनीष के पास आते हुए कहते हैं "अरे कोई बात नहीं, ऐसा तो होता है वैसे भी आप दोनों कितनी देर से डांस कर रहे थे आप लोग वाकई अच्छा डांस कर लेते हो" मनीष की और देखते हुए वह लड़का उससे कहता है।" चलो कम से कम किसी ने तो मेरे डांस की तारीफ की" मनीष अंकिता की ओर देखते हुए उसे कहता है।" वैसे आप लोग भी अच्छा डांस कर रहे थे,आप लोग शुरू से हमारे साथ डांस कर रहे थे और वैसे भी आप दोनों साथ में बहुत अच्छे भी लगते हो" मनीष उन लोगों की ओर देखकर कहता है।मनीष की बात सुनकर वो लड़का आगे आता है और मनीष की और अपना हाथ बढ़ाते हुए कहता है "Hii मैं राज और यह मेरी पत्नी रिया।"

मनीष की राज से हाथ मिलाते हुए कहता है "Nice to meet you My name is Manish and This is my wife Ankita" चारों आपस में बातें कर रहे थे, पर वहां म्यूजिक के Sound और लोगों की वजह से अंकिता मनीष से कहती है "मनीष यहां के शोर और लोगों की वजह से मुझे थोड़ी घुटन सी हो रही है"फिर वो राज और रिया की ओर देखते हुए कहती है "क्यों ना हम बाहर चल कर बात करें"अंकिता की बात सुनकर रिया भी कहती है "हां अच्छा आईडिया है वैसे भी यहां बैठने की जगह नहीं बची है" रिया कोने में देखते हुए यह बात कहती है,जहां टेबल्स रखे हुए थे उन सभी पर Couples बैठे हुए थे और वह सभी आपस में बातें कर रहे थे।

वह चारों दरवाजा खोलकर गार्डन में चले जाते हैं। होटल के बाहर आते ही चारों का पैर गार्डन की मुलायम घास पर पड़ता है, पार्टी के शोर और लोगों की भीड़ से दूर यहां बिल्कुल शांति थी,बाहर का मौसम ठंडा था और ठंडी हवाएं अभी भी बह रही थी ऊपर आसमान में चांद खिला हुआ था, चांद की चांदनी गार्डन को ज्यादा खूबसूरत बना रही थी।गार्डन के बीच में एक फाउंटेन के पास रखी लाइट्स पूरे गार्डन को रोशन कर रही थी।

अंकिता चारों ओर देखकर कहती हैं "Wow......This Place is so amazing"इतना कहकर अंकिता दौड़ते हुए गार्डन के अंदर जाने लगती है।अंकिता को देखकर मनीष अंकिता से कहता है "अरे इतनी भी क्या जल्दी है, हम अभी 6 दिनों के लिए यहीं पर रुकने वाले हैं"उसके जवाब में अंकिता दूर से कहते हैं "सॉरी पर मैं अभी आती हूं" उसकी बात सुनकर मनीष मुस्कुराते हुए राज और रिया की ओर देखने लगता है, वह दोनों भी अंकिता को देख कर मुस्कुरा रहे थे।
"लगता है आपकी वाइफ को इस कुदरत की खूबसूरती से बहुत प्यार है और आप दोनों की नई नई शादी हुई लगती है" राज मनीष को देखकर कहता है। मनीष राज के जवाब में कहता हैं "हां 8 दिन पहले ही हमारी शादी हुई है और इसीलिए तो मैंने घूमने के लिए इस जगह को पसंद किया"वह तीनों की बातें करते हुए आगे बढ़ रहे थे,तभी तीनों को अंकिता की एक चीज सुनाई देती है। अंकिता की आवाज सुनकर तीनों घबरा जाते हैं और तीनों आवाज की दिशा में दौड़ते हुए अंकिता के पास पहुंचते हैं। वह देखते हैं तो अंकिता जमीन पर बैठी हुई थी, उसके चेहरे पर डर साफ दिख रहा था, उसकी आंखें डर की वजह से खुली हुई थी और ठंडे मौसम में भी उसका चेहरा पसीने से तरबतर था।

To be continued.......

Rate & Review

My Self

My Self 1 week ago

Bhavnaben

Bhavnaben 3 weeks ago

Sheetal Pathak

Sheetal Pathak 4 weeks ago

vikram kumar

vikram kumar 1 month ago

Prem Rathod

Prem Rathod Matrubharti Verified 7 months ago