Gudiya - 7 books and stories free download online pdf in English

गुड़िया... - 7

डिटेक्टिव अबीर और इन्फेक्टर विजय चांदनी से पूछताछ
करने के बाद दूसरी लड़की के यहा जाने लगते है जो की एक अनाथ आश्रम का पता था..
रास्त मे डिटेक्टिव अबीर और इन्फेक्टर विजय बात करते है
की चांदनी के घर मे कोई ऊसके अलावा कोई और नही है
और बलात्कारी के बारे मे उसे कुछ मालूम नही है
उनके जाने के बाद चांदनी कीसी को फोन करती है
और कुछ देर तक बात करती है
कुछ देर मे डिटेक्टिव अबीर और इन्फेक्टर विजय अनाथ आश्रम पहूच जाते है..
शाम के 7 बज चुके होते है इसलिए जब अनाथ आश्रम के गेट पर पहुंच ते तो गेटकिपर उन्हे अंदर जाने से मना कर देता है
और सुबह आने के लिए कहता है..
वह बताते है की वह पुलिस है फिर भी गेटकिपर अंदर जाने नही देता है आखिर मे उन्हे लौटना ही पडता है
अगले दिन डिटेक्टिव अबीर और इन्फेक्टर विजय फिर से अनाथ आश्रम पहूचते है और वहा के संचालक से पूछताछ करते है संचालक उन्हे बताती है की गुड़िया एक बहुत प्यारी और तेज तर्रार लड़की थी वह कालेज के दूसरे साल मे थी
वह 15 साल से अनाथ आश्रम मे रह रही थी
और दो साल पहले अपनी दो दोस्तो के साथ घूमने ग ई थी
पर उसके बाद वो कभी वापस नही आई
डिटेक्टिव अबीर शहर मे हत्या ये हो रही है उसपे आपका विचार है ...संचालक मैरा विचार मे बहूत खुश हू..
इन्फेक्टर विजय जी...संचालक ऐसे आदमी एक दिमक की तरह होते है जो धरती को अंदर ही अंदर खोखला बनाते है
और उन दिमको कोई खत्म कर रहा हो तो सबको खुश होना चाहिए मुझे ही क्यो...
डिटेक्टिव अबीर.. तो आपको पता है उन लडकियो का रेप किया था ...
संचालक पता तो पुलिस को भी था मगर
डिटेक्टिव अबीर क्या गुड़िया के करीब और कोई था
जैसे दोस्त यार और प्रेमी कोई भी
संचालक नही..डिटेक्टिव अबीर एक आखरी सवाल क्या गुड़िया की दोस्त गुड़िया वर्मा की बहन चांदनी केस के वक्त मुम्बई मे थी..संचालक नही वो अपने माता पिता की मौत के दिन मुंबई वापस आ गई थी..
अनाथ आश्रम मे पूछताछ के बाद वे दोनो इन्फेक्टर विजय के ससुराल जाने लगते है रास्त मे इन्फेक्टर विजय सर कोई खास जानकारी नही मिली आपको कोई सुराग मिला
डिटेक्टिव अबीर चांदनी उसके घर पर मिलेटरी सर्टिफिकेट टंगा था लेकिन ऊसक कहा वो बच्चो को ट्यूशन पढाती है
उसकी पास्ट हिस्ट्री पता करवाए इन्फेक्टर विजय जी सर
डिटेक्टिव अबीर और संचालक ने कहा गुडिया के करीब कोई नही था उसकी दो दोस्त के अलावा पर अनाथ आश्रम मे सिलेबिट किए हुए फंक्शन मे सना क्या कर रही थी
इन्फेक्टर विजय सना...
डिटेक्टिव अबीर हाॅ दो साल पहले मनाये गये फंक्शन की तस्वीर मे गुड़िया के साथ सना भी खड़ी हुई थी
वे दोनो बात करते करते इन्फेक्टर विजय के ससुराल पहुंच जाते है पूछताछ करने पर पता चलता है कि इन्फेक्टर विजय की बीवी काव्या को रेप के बारे मे कुछ नही पता
उसे लगता है की उसकी बहन का एक्सीडेंट हुआ था...

जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए की क्या
इन्फेक्टर विजय के ससुराल से डिटेक्टिव अबीर और इन्फेक्टर विजय को कुछ पता चलता है ( भाग 8 मे जानेंगे