No 1 Busisnessman - Part 26 books and stories free download online pdf in Hindi

No 1 Busisnessman - Part 26

जब राधिका ने खाना लगाया तब SKS ने उसमे एक चीज Notice करी उसने यश से पूछा
यश तुम ने कुछ देखा ।
यश ने कहा हां खाना बहुत ही अच्छा है लगता है आज में खाने के साथ अपनी उंगली भी खा जाऊंगा ।
SKS ने कहा अरे में स्वाद की बात नही कर रहा हु ।
में बात कर रहा हु इस खाने की Presentation की।
और ये सब राधिका सुन रही थी और सोच रही थी इतने प्यार से मे ने सभी के लिए खाना बनाया और यहां पर भी Sir को कमियां ही दिख रही है ।
यश ने कहा क्या फर्क पड़ता है। खाना पेट में जा कर अपने आप को adjust कर लेगा ।
राधिका ने कहा यश का साथ देते हुए Sir आप बिलकुल सही कहे रहे है।
SKS ने कहा चाहे आप का खाना कितना ही अच्छा क्यू ना हो अगर उसकी presentation अच्छी नहीं हो तो उसे कोई Value नही देगा ।
राधिका देख ने कहा Sir आप ने यश sir को नही देखा वो तो बिना presentation के ही खाना खा रहे है।
SKS ने यश की तरफ देखते हुए कहा इस दुनिया में भाती भाटी के लोग हे कुछ तो इसे भी है जो केसा भी खाना खा सकते है।
( SKS बस राधिका को Presentation की ताकत बताना चाहता है वो उसे बताना चाहता है , अगर आप का Presentation अच्छा हो तो दुनिया में कोई भी समान बेचा जा सकता हे । )
SKS ने सोचा तुम्हारे ( राधिका ) पास एक ऐसी skill हे जिससे तुम चाहो तो पूरे होटल ( रेस्टरों ) Business में अपना राज कर सकती हो खाने की presentation के बिना भी इसमें इतनी अच्छी खुशबू आ रही हे की मेरा मुंह में भी पानी आ रहा हे ।
पर उसे अभी पता नही हे की उसके पास इतनी अच्छी skill हे बस मुझे उसकी Presentation में मदद करनी पड़ेगी ।
फिर SKS ने राधिका को उसका हो खाना का ऐसा Presentatio दिया जिसे देख कर बस राधिका यही सोच रही थी इस देख कर ही पेट भरा गया अब तो ये साधारण खाना भी ऐसा लग रहा है मानो लाखो का हो ।
यश ने एक डकार लेते हुए कहा मेरा तो पेट भरा गया इतना अच्छा खाने के लिए शुक्रिया । और उस ने जेसे ही देखा की उसके सामने एक और प्लेट रखी थी जिसे देख कर लग रहा था की वो किसी 6 Star Hotel का खाना है ।
यश ने SKS से कहा ये तो गलत बात है तुम ने सिर्फ खुद के लिए ही होटल से खाना मंगवाया , मेरे बारे में एक बार भी नही सोचा ,
और राधिका यश को देख रही थी । और उसने कहा Sir अभी तक तो आप मेरे खाने की तारीफ कर रहे थे और एक दम से आप बदल गए ।
यश ने कहा तुम एक बार खुद देखो शुभम ने अकेले ही अपने लिए होटल से खाना बुला लिया मेरे से एक बार भी नही पूछा ।
राधिका ने कहा ये खाना होटल का नही घर का ही है बस Sir ने उसे अच्छे तरीके से प्रस्तुत किया जिससे आप को वो होटल का लग रहा है ।
SKS ने दोनो से कहा में तुम्हे यही बता रहा था अगर आप को अच्छे सी presentation आती है तो आप किसी भी खाने को लाखो का बना सकते है । That The Power Of Presentation , presentation से ही बड़ी बड़ी डील्स का होना और ना होना decide होता है । और SKS उस खाने को खाने लगा । राधिका के समझ आ गया की sks उससे क्या कहा रहा था ।
यश ने कहा अच्छा भाई में थोड़ा बाहर घूम के आता हु । और यश बाहर आ गया ।
राधिका और शुभम दोनो ही अभी अकेले थे और खाना खा रहे थे । SKS बड़ी तमीज और लहजे में अपना खाना खा रहा था और राधिका उसे देख रही थी । वो भी उसी की तरह खाना खाने लगी और जेसे ही शुभम ने राधिका की तरफ देखा उसे Stamp ( ठसका ) लग गया और SKS ने उसे पानी देते हुए कहा आराम से खाना खाओ , शुभम ने खाना खत्म खरा और अपने काम पी वापस चला गया ।
राधिका ने भी अपना खाना खत्म करा और बर्तन को साफ करने लगी ।
और यश ने बाहर घूमते घूमते देखा की एक बहुत खूब सूरत लड़की कुछ गुंडे जेसे लोगो को मार रही थी ।
यश को लगा की वो लड़की मुसीबत में है और वो उसकी मदद करने गया । लड़की उन लोगो को पीट रही थी की अचानक वह यश ने entry मारी और उनसे ( गुंडा ) कहा मेरे होते हुए तुम इस लड़की को हाथ भी नही लगा सकते ।
यश ने उस लड़की की तरफ देखते कहा तुम्हे डरने की जरूरत नही है ।
लड़की सोच रही थी में भला इन लोगो से क्यू डरूगी ये चाह के भी मुझे खरोच नही पहुंचा सकते है ।
यश ने 1 मिनट में उन गुंडा को हरा दिया ।
यश वहा लड़ रहा था और वो लड़की उसे देखे बिना ही अपने रास्ते चल पड़ी । यश ने ये देखा और उस लड़की के पीछे गया और उसके पास जा कर कहा Hallo Miss मेने तुम्हारी जान बचाई है एक छोटा सा thank you तो कहा सकती हो ।
उसने अपने Arrogance में कहा मेने तुम से मादा नही मांगी थी । तुम खुद ही उन लोगो पर टूट पड़े
यश ने कहा वो तो मुझे लगा की एक लड़की मुसीबत में ही तो मेने उसकी मदद की था बस पर मुझे नही पता था की वो मुझे एक छोटा सा थैंक यू भी नही कहेंगे ।
उस लड़की ने कहा ठीक है इतना मुंह फूलने की जरूरत नही है में तुम्हे thank you की जगह आइस्क्रीम खालवा देती हु ।
यश ने कहा में कोई छोटा बच्चा हू जो तुम मुझे Ice cream खलवाओगी अगर मुझे शुक्रियादा करना हे तो तुम्हे भी मेरे साथ आइस्क्रीम खाना पड़ेगा ।
और उस लड़की ने यश से कहा ठीक है चलो
और वो दोनो आइस्क्रीम की दुकान पर गए इस लड़की ने दो आइस्क्रीम खरीदी ।
आइस्क्रीम खाते खाते यश ने उससे पूछा तुम्हारा नाम क्या है उस लड़की ने कहा tell me why । यश ने कहा ये नाम कुछ अजीब नही है Tell me why कोई बात नही Tell me why मेरे नाम यश है और में यह कुछ दिनों के लिए आया हु अगर तुम्हारे पास कुछ टाइम हो तो तुम मुझे ये शहर घूमा सकती हो
उस लड़की ने कहा अगली बार मुझे फिर मिलो फिर बताएगी की में धूम सकती हू या नही और इतना कहा के वो अपनी कार में बैठ कर कही चली गई ।
यश ने कहा कितनी प्यार लड़की है पर मेरे Boss के जैसी है एक मिनट के लिए मुझे लगा की में मेरे Boss से ही बात कर रहा हु । हे भगवान ये क्या हो रहा है एक दोस्त है तो वो भी Arrogance और एक लड़की जो पसंद आई वो भी Arrogance आप ने सभी Arrogance लोगो को मेरी ही खोली में क्यू डाला है ।
और घर पर राधिका बर्तन साफ कर के सोने जा रही ही थी तभी उसने देखा की लिविंग रूम की लाइट बार रही है । वो उसे बंद करने जेसे ही आई उसने देखा की ………