ghost village books and stories free download online pdf in Hindi

भूतों का गांव

Part-1 दो आदमी अपने गांव जा रहे थे। रास्ते में उन्हें एक गांव मिलता है जिसका नाम भूतों का गांव है शाम हो जाने के कारण उन दोनों आदमियों को वही रुकना पड़ता है रुकने के लिए उन्हें एक घर दिखाई देता है उस घर मै औरत रहती है वह उससे पूछते है क्या आज रात हम यहाँ रुक सकते है औरत बोलती है ठीक है आज रात तुम यहाँ रुक सकते हो। और औरत अपने काम में लग जाती है उसके बाद दोनो आदमी ओटले पर बैठ जाते है और खाना खाने लगते है वह उस औरत से एक ग्लास पानी मांगने लगते है खाना खाने के बाद दोनों आदमी ओटले पर सो जाते है उसके बाद आधी रात को औरत आती है और दोनों आदमियों के पैरों के अंगूठो में काले धागे बाँध देती है और अंदर चूल्हे पर कड़ाही रखकर चूल्हा जला लेती हैं और मंत्र पढ़ने लग जाती है उन दोनों आदमियों में से एक अपनी आधी आँखो में से सब देखता रहता है जैसे ही वो औरत अंदर जाती है वो दूसरे आदमी को उठाता है और पूरी बात बताता है तो दोनों आदमी सुबह होने का इंतजार करते है जैसे ही सुबह होती है दोनों आदमी धागे को औरत के भैसों मैं बाँध देते है और वहाँ से भाग जाते है औरत देखती कड़ाही मै तो बड़ा दिल है बाहर आकर देखती है उसकी भैस मरी हुई पडी मिलती है और वो सिर पटक कर रोने लगती है

Part-2 एक बार की बात है भाईयो और बहनो कि टोली लोडिंगै रिक्शा में बैठ कर खेतों की ओर निकलती है जो लडिंग रिक्शा चला रहा था वो गाना गाने लगा हवा के
साथ-साथ घटा के संग- संग ओ साथी चल। तभी पीछे
से उनमे एक बोलता है अरे अरे ये गाना ऐसी जगहों पर
नहीं गाते वरना भूत पिछे पड़ जाते है उसके तो वो बोलता
अरे ये भूत -वूत कुछ नहीं होता। उतने में उसके अंदर बुरी आत्मा का प्रवेश हो जाता है जैसे तैसे उसे घर ले जाया जाता
है किसी बाबा को बुलाकर उसे चैन से बाँध कर खूब मारते
है उसके बाद उससे पूछते की क्यू आए हों तुम। तभी वो
आत्मा बोलती है इन्होने ही मुझे बुलाया हवा के साथ-साथ
घटा के संग-संग ओ साथी चल।

Part-3
दो लड़कियां जंगल की ओर जा रही थी उन्हें पीछे से आवाज
आती है पीछे देखो यहां पर एक घड़ा रखा है इसे तुम ले जाओ और पीछे मत देखना पर वो दोनों लड़कियां पीछे बार- बार देखती है और घड़े के अंदर जब देखती है तो कोयला निकलता है

Part-4
दोनों दिए आपस में बात करते हुए यही थी ना वो जो
अपने भाई के यहाँ दिवाली मनाने गयी थी और उसके बाद उसकी भाभी ने इसे बाहर निकाल दिया था ऐसे कहते हुए दोनों दिए आपस में बात करते हैं बहन दिवाली पर उसके भाई के यहां जाती है उसके पति की तबीयत खराब
होने के कारण दिवाली नही बना पाती और बच्चों की
जिद के कारण वो अपने भाई के यहाँ जाने लगती है साड़ी फटी
होने के कारण वो अपनी साड़ी में गिठाने बांध लेती है फिर
वह अपने भाई के घर के लिए रवाना होती है बच्चों को रास्ते में भूख लगेगी इसलिए वो कुछ बासी रोटी के टुकड़े ले लेती है फिर वह अपने भाई के घर पहुंचती है पहुंचकर उसे उसकी भाभी मिलती हैं उसकी भाभी उसके भाई से ना मिलवाकर उसे धक्के मारकर बाहर कर देती है और हाथ में एक पोटली पकड़ा देती
है बिचारी अपने बच्चों को लेकर वहां से निकल जाती है रास्ते मे उसके बच्चों को भूख लगती। और वो खाने के लिए मांगने लगते है उन्हें लगता मामी ने जरूर मिठाई रखकर दी होंगी। वो लोग कुए के पास रूककर पोटली खोलने लग जाते है जब वो पोटली देखते है तो पोटली में गोबर के उपले और घास फुस निकलते है देखकर बहन और बच्चे फुट-फुट कर रोने लगते है पास बैठी अम्मा पूछती है क्या हुआ तुम लोग क्यू रो रहे तो बहन अम्मा को पूरा किस्सा सुनाती है अम्मा बोलती है में यहाँ पास के खेत में ही काम करती हूँ खाना खाने कुए किनारे बैठी हुई थी। मेरे पास कुछ सब्जी बची है तुम अपने बच्चों को खिला सकती हो। बच्चे घर से लाए हुए बासी रोटी के टुकड़े और सब्जी के साथ खाना खा लेते है फिर अम्मा कहती है मेरे पास ये कद्दू है तुम इसे ले जाओ और अपने बच्चों को पका कर खिला देना तो। तो औरत कद्दू लेकर अपने सिर पर रखकर ले जाती है कद्दू पकाने के लिए कद्दू जितना बड़ा उनके पास बर्तन नहीं होता। तो वो मटकी को आधा फोड़ कर उसमें कद्दू पकाने रख देते है काफी देर रुकने के बाद जब वह कद्दू का एक टुकड़ा निकाल कर देखते हैं तो वो सोने का टुकड़ा निकलता है बच्चा तुरंत उसे बेच कर आता है और अपने और माँ के लिए मिठाई और कपड़े लेकर आता है ऐसे ही एक-एक टुकड़ा बेचकर वो अपने पति का इलाज करवाती। अपने लिए मकान बनवाती है एक दिन दिवाली पर उसका भाई आता है और बहन से मिलता है बहन भाई से बोलती है भाई रुको मै तुम्हारे लिए मिठाई लेकर आती हूं । दोनो दिए आपस में बात करते है हाँ यही था ना वो जिसकी बीवी ने धक्के मारकर इसकी बहन को बाहर निकाल दिया था ऐसा कहकर दोनों दिए पूरा किस्सा एक दूसरे को सुनाते है और साथ भाई भी सब सुन लेता है और वहाँ से चले जाता है और बीवी को घर से बाहर निकाल देता है