Hold Me Close - 4 books and stories free download online pdf in Hindi

Hold Me Close - 4 - I will always protect you





जैसे ही अर्जुन ने दरवाजा खोला उसकी आंखे खुली की खुली रहे गई। उसने देखा की उसके सामने उसके मां, पापा खड़े थे और साथ ही साथ प्रिया भी। अर्जुन के पापा उसकी शादी प्रिया से करवाना चाहते थे ।

जब प्रिया ने रेवा को अर्जुन के रूम मैं देखा तब उसका खून खौल गया ।

"ये लड़की कौन है ? और ये तुम्हारे रूम मैं क्या कर रही है ? वो भी तुम्हारे बेड पर !! ", प्रिया ने गुस्से से कहा ।

वो में.... रेवा कुछ बोल पाती तभी अर्जुन ने रेवा के कंधे पर हाथ रखकर उसे अपने करीब खीच लिया और कहा –" she is my wife " हमने कल ही शादी की है ! और उसी हक से रेवा मेरे साथ मेरे कमरे है ! और कोई सवाल पूछना है तुम्हे ?? अर्जुन ने कोल्ड टोन मैं पूछा ।

"तुम मेरे जैसे हॉट लड़की को छोड़कर इस गवार से कैसे शादी कर सकते हो ! और मैंने कभी इसे देखा भी नहीं है !! देखो तुम जो कोई भी हो ! अभी के अभी यहां से अपना मूंह कला कर दो समझी ", प्रिया ने गुस्से से कहा ।

"Mind your language! ये मेरी वाइफ है । उसके खिलाफ एक शब्द भी नही बर्दाश करूंगा मैं !", अर्जुन ने गुस्से से कहे दिया ।

तुम्हारा दिमाग खराब है क्या अर्जुन ? मैने इसके घर वालों को वादा किया था ! मैं क्या जवाब दूंगा उन्हें !! अर्जुन के पापा राकेश ने गुस्से से कहा।

मुझे प्रिया से शादी नही करनी थी। में रेवा से प्यार करता हूं ! और प्रिया तुम अब जा सकती हो .. प्लीज लीव.. अर्जुन ने कहा ।

ये सब देखकर प्रिया का गुस्सा सातवें आसमान मैं पहुंच गया । प्रिया गुस्से से धमकी देकर वहा से चली गई की वो अर्जुन से शादी करके ही मानेगी । प्रिया के पीछे पीछे राकेश जी भी चले गए।

"अटलेस्ट मुझे तो बताना चाहिए था ना अर्जुन ! अपनी मां से इतनी बड़ी बात छुपाई तूने ?", सविता जी ने कहा और वो भी बिना कुछ कहे वहा से चली गई ।

तो रेवा अभी भी समझने की कोशिश कर रही थी की आंखिर ये सब चल क्या रहा है।

"तो आपको प्रिया से शादी नही करनी थी इसलिए आपने मुझ से कॉन्ट्रैक्ट मैरेज?? ",रेवा ने पूछा ।

"हां सही सोच रही हो तुम ! ",अर्जुन ने धीमी आवाज मैं कहा ।

"देखिए लेकिन ये सब गलत है आप घर में सबको फसा रहे है ! और तो और उस प्रिया मैं कमी क्या हैं? इतनी अच्छी लड़की थी वो .. मॉर्डन है दिखाने मैं सुंदर है.. और.... ",रेवा बोल ही रही थी की अर्जुन ने उसके ऊपर चिल्लाते हुए कहा –"तुम शांत नहि रहे सकती क्या ? कितनी बोलती हो तुम ! और मेरे पर्सनल लाइफ मैं इंटरफेयर मत करो । तुम सच में मेरी वाइफ नही हो । और क्या जानती हो तुम मेरे फैमली के बारे मैं मेरे बारे में ? मेरे लाइफ के बारे मैं ? कुछ नही जानती ना ? तो अपनी जबान पर कंट्रोल रखो अपना ...", अर्जुन ने अपना सारा रेवा पर निकाल दिया।

अर्जुन को इतने गुस्से मैं देखकर रेवा के आंखो से आसू निकलने लगे । अर्जुन बिना रेवा की ओर एक भी नजर देखे वहा रूम से बाहर जाने लगा । लेकिन जैसे ही उसने रेवा की रोने की आवाज सुनी उसने कदम रुक गए। उसने पीछे मुड़कर जब रेवा को देखा तब उसे खुद पर ही बहुत गुस्सा आने लगा । रेवा के आंखो से लगादार आसू बहे जा रहे थे ।
अर्जुन को पहली बार एक अजीब एहसास होने लगा था ।

अर्जुन ने अपने कदम रेवा की ओर बढ़ाए और कहा–"तुम रोना बंद करो ! I know मुझे तुमसे इस तरह से बात नही करनी चाहिए थी "

लेकिन रेवा के आसू तो थमने का नाम ही नही ले रहे थे । अर्जुन को अपनी मां के बाद पहली बार किसी औरत के रोने से फर्क पड़ रहा था । अर्जुन रेवा के थोड़े और नजदीक गया और उसके आसू पोछते हुए कहा– " रोना बंद करो ! फिर से ऐसा कभी नहीं होगा and i promise !! तुम्हारी सेफ्टी मेरी responsibility है और मैं तुम्हे हर वक्त प्रोटेक्ट करूंगा ! I will always protect you "

जैसे ही अर्जुन ने रेवा को छुआ रेवा दिल में एक अजीब एहसास हुआ । अर्जुन की छुअन से वो और ज्यादा सेफ फील कर रही थी । जब रेवा ने उसके आंखो में देखा तो बस उन मैं ही खो गई !

"अजीब इंसान है ! अभी कुछ देर पहले पागलों की तरह चिल्ला रहा था और अब ऐसे शांत कर रहा है मानो मैं रियल मैं इसकी बीवी हूं !! क्या मैंने कुछ गलती कर दी इन्हे पहचानने में ! " रेवा ने मन मैं ही सोचा ।

" मेरे साथ ऑफिस चलो ! घर पर रही तो पापा ताने मारकर तुम्हारा जीना मुश्किल कर देंगे " अर्जुन ने कहा । लेकिन रेवा तो बस एक टक अर्जुन को देख रही थी । क्योंकि रेवा को आज तक किसीने ऐसे ट्रीट नही किया था । उसे हर्ट करने वाले तो बहुत थे लेकिन प्यार से आसू पोछने वाला उसके जिंदगी में कोई नही था ।

"तुम सुन रही हो ?? ", अर्जुन ने अपना हाथ वेव करते हुए पूछा । लेकिन रेवा अभी भी अर्जुन को एक टक देखे जा रही थी ।

"तुम्हे ये शादी का नाटक करते करते सच मैं मुझसे प्यार हो गया क्या ? अगर ऐसा कुछ उल्टा सीधा तुम्हारे दिमाग मैं है ना तो अभी निकाल दो ! और ऐसे घूरो मत मुझे ! हमारे बीच सिर्फ एक कॉन्ट्रैक्ट है और कुछ नही ", अर्जुन की ये बात सुनकर रेवा ने मन मैं ही सोचा –" नही रेवा कोई गलती नही की तूने इस आदमी को समझने में !"

"देखिए मुझे कोई शॉक नही है आपको घूरने का! और आप क्या खुद को इतने हॉट और हैंडसम समझते हो की में ...मैं आपको पसंद करूंगी ?? मेरी चॉइस इतनी भी बुरी नही है ", रेवा ने अर्जुन को अपने से दूर धक्का देते हुए कहा ।

"ये लड़की हर बार मेरा ego हर्ट करती है !", अर्जुन ने कहा ।

"हा क्योंकि आप मुझे hurt करते है ! आपको सीधी बात करनी आती ही नहीं । आप एक नंबर के अखडू चिड़कू और एरोगेंट टाइप के आदमी है ! पता नही उस प्रिया ने आप मैं ऐसा क्या देख लिया ", रेवा ने अर्जुन को ताना मारा और नहाने चली गई