First Love - 7 books and stories free download online pdf in Hindi

फर्स्ट लव - 7

ये सोच ही रहा होता है की तभी राज का पॉजिटिव माइंड कहता है"नहीं राज अमीषा तेरे पर भरोसा करती है और तुझे उसके भरोसे को कायम रखना है, गलती से भी कुछ ऐसा मत करना की तुझे अमीषा को खोना पड़े और उससे नजरे मिलने में भी तुझे शर्म आए।"

इतना होने के बाद राज अमीषा के चेहरे को गौर से देखते हुए कहता है"नहीं, नही मुझे खुद पर काबू रखना होगा ये गलत है ,,ये गलत है।"अपने माथे पर मरते हुए राज कहता है।तभी अमीषा करवट फेरते हुए राज का हाथ पकड़ कर अपने पेट पर रख देती है।

अमीषा जैसे ही ये करती है राज का पूरा बॉडी थरथरा जाता है और अब उससे खुदके फीलिंग्स पर काबू नहीं रहता पर फिर भी वो खुदको कंट्रोल में लाने की तमाम कोशिशें करता है।"हे,, भगवान ये क्या हो रहा है मेरे साथ मुझे शक्ति दो की मैं खुद के फीलिंग्स पर काबू रख पऊ। अब अमीषा के चेहरे के तरफ बिलकुल भी नही देखूंगा।"

ये कहते हुए राज अपनी आँखें बंद कर लेता है।पर राज का एक हाथ उसके पेट पर होने के कारण उससे रहा नही जा रहा था,वो अपनी आँखें झट से खोलकर कहता है"यार ये टाइम जल्दी क्यों खतम नहीं हो रहा हैं, हे भगवान या तो मुझे खुद पर काबू पाने की शक्ति दे दो या फिर स्कूल की छुट्टी करा दो।"

पर अब बहुत देर हो चुका होता है,और राज धीरे धीरे अमीषा के चेहरे के तरफ अपना होंठ लेकर जा रहा होता है।राज का पूरा शरीर कंपकपा रहा होता है।और जैसे तैसे हिम्मत जुटाके राज अमीषा के माथे को चूम लेता है।उसके ऐसा करते ही अमीषा करवट बदल लेती है।

अब राज का हाथ भी उसके पेट से हट चुका होता है राज जल्दी से उसके बिस्तर से उठ कर दूर खड़ा हो जाता है और लंबी सांस भरते हुए कहता है "ओह शुक्र है की अमीषा ने देखा नहीं वरना पता नही क्या होता?"


राज पूरा दिन अमीषा के ही पास रहता है ,और आखिर का अब स्कूली से छूटी होने का टाइम हो हो गया राज अमीषा को हल्के से जागते हुए कहता है"अमीषा, अमीषा उठो मैं जा रहा हू।"

अमीषा अपनी आँखें मिसते हुए उठती है और कहती हैं "ओह सॉरी राज तुम्हें मेरी वजह से परेशान होना पड़ा ।"राज स्माइल करते हुए कहता है"अरे कोई बात नही अब तुम अपना ख्याल रखना शाम को फिर मिलने आता हू।"इतना कह कर राज वहा से चला जाता है।

राज अपने कमरे में बिस्तर पर लेटा हुआ कहानी लिखा रहा होता है।कहानी लिखते लिखते उसे याद आया की अमीषा को महावारी हुआ था और ये सोचते हुए झट से कहानी लिखना बाद करता है और यूट्यूब पर इसके बारे में देखता है जैसे ही ये शब्द लिखा कर सर्च करता है बहुत से ऐसे वीडियो आने लगते है जिसमे लड़कियों के योनि की तस्वीरे होती है ब्लीडिंग के साथ तभी राज की मां उसे आवाज देते हुए बुलाती है।

जैसे ही आवाज सुनता है झट से अपना फोन बंद कर देता है तभी उसकी मां वहा आती है राज की धड़कने बहुत तेज़ हो चुकी थी।उसकी मां उसके पास आकार कहती है"आज तेरे पापा नहीं आने वाले कुछ कम से शहर गए हुए है, तो आज खेत में सोने तू चला जाना वरना रात में कुकुर, सियार। सब्जियों को खराब कर देंगे।"

ये सुनते ही राज जोर से बोलता है "नही मां मैं नही जाऊंगा "और मुंह बना लेता है उसकी मां दोबारा से प्यार भरी आवाज में कहती है"मेरा अच्छा बेटा बस आज भर चला जाना कल तेरे पापा आ जायेंगे!"

राज अब बोले भी तो क्या बोले चुप चाप अपना ईयर फोन लेकर उस वीडियो को देखने लगता है।राज उस से रिलेटेड दो से तीन वीडियो देख लेता है और अच्छे से समझ जाता है की ये कैसा बीमारी है और ये सिर्फ औरतों में होता है।राज अच्छे से देखने और समझने के बाद अपनी मां के पास जाते हुए कहता है"माँ ठीक है मैं आज खेत में सोने जाऊंगा पर उसके बदले मुझे 100रूपए चाहिए।"राज रूम में बेड पर से ही चिलाते हुए कहता है।


आगे पढें।।।।।👈