America Kitna Achcha Kitna Bura books and stories free download online pdf in Hindi

अमेरिका कितना अच्छा या कितना बुरा !

अमेरिका कितना अच्छा या कितना बुरा  !

 

आजकल हमारी नयी पीढ़ी के लिए अमेरिका एक ड्रीम डेस्टिनेशन है  . अक्सर युवा अमेरिका जाने के अवसर की तलाश में  रहते हैं  . कुछ तो अपनी मेरिट के बल पर आसानी से पहुँच जाते हैं तो कुछ किसी भी तरह वहां पहुँचने का जुगाड़ करते हैं . कुछ तो बात होगी अमेरिका में . एक नजर डालते हैं कुछ पहलुओं पर कि क्या अमेरिका सच में इतना अच्छा है जिसकी कल्पना हम कर लेते हैं , इसका जवाब हाँ भी और नहीं भी , आइये देखते हैं - 


1  . हाइजीन और स्वच्छता -  हाइजीन और स्वच्छता  के मामले में अमेरिका हमारे देश की तुलना में काफी बेहतर  है . इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि अमेरिका भारत की तुलना में करीब तीन गुना बड़ा देश है और यहाँ की आबादी लगभग चार गुना कम  . आमतौर पर भारत में लोगों में सिविक सेन्स अभी भी उतना ज्यादा नहीं है , बड़े बड़े शहरों में भी मुख्य मार्गों पर गंदगी देखी  जा सकती है  .  इसके अलावा अमेरिका में  बचपन से ही इन बातों पर ज्यादा जोर दिया जाता है इसलिए यह एक अनिवार्य नैतिक नियम बन गया है . 


2  . परिवार और सोशल लाइफ  - इस मामले में हमारा देश अमेरिका की अपेक्षा बहुत ज्यादा अच्छा है  . भारत में तलाक का प्रतिशत अन्य देशों की तुलना में बहुत कम है , 2022 के आंकड़ों के अनुसार करीब 1 % जबकि अमेरिका में 40 - 50 % पहली शादी में तलाक होता है और दूसरी शादी में 60 - 70 % . भारत में बड़े होने पर भी अक्सर यथासम्भव माँ बाप के साथ रहते हैं जबकि अमेरिका में 18 साल के बाद बच्चे  अपने माता पिता के साथ उतना कनेक्टेड नहीं रहते हैं  . अमेरिका में  बच्चों को छोटी उम्र से माता पिता से अलग के कमरे में सुलाया जाता है , यहाँ तक कि एक साल की उम्र से  . अमेरिका में  लोग निजी या व्यक्तिगत संस्कृति वाले होते हैं  . दोस्ती में भी लोग अपना ही सोचते हैं हालांकि  जब भी कोई मिलता है तो मुस्कुरा कर हाय , हेलो जरूर करेगा पर उस से ज्यादा नहीं  . 


3  . राजनीति - भारत में गली नुक्क्ड़ , चाय पान की दुकानों  पर लोग राजनीति  की  बातें करते मिलेंगे जबकि अमेरिका में ऐसा नहीं है  . पॉलिटिक्स के चलते भारत में आये दिन बंद , हड़ताल , तोड़ फोड़ , हत्या , आगजनी आदि की घटनाएं होती रहती हैं  . इस मामले में अमेरिका अच्छा है  . 


4 . शिक्षा - इस मामले में स्कूलिंग तक दोनों लगभग बराबर है पर अमेरिका में बुनियादी कैलकुलेशन बिना कैलकुलेटर के लोग नहीं कर पाते हैं  . भारत में जनसंख्या के अनुपात में विश्वविद्यालयों की संख्या अपेक्षाकृत कम हैं  . भारत में  एडमिशन के लिए सिर्फ एक एंट्रेंस एग्जाम है अन्य किसी पहलू या क्रिएटिविटी पर ध्यान नहीं दिया जाता है  .  हमारे यहाँ विश्व स्तर के यूनिवर्सिटी कम हैं और अक्सर लोगों के पास डिग्रियां हैं पर स्किल नहीं है  . लोग STEM ( साइंस , टेक्नोलॉजी , इंजीनियरिंग और मैथ्स ) पर ज्यादा जोर देते हैं ताकि इस डिग्री पर अमेरिका जाने का एक रास्ता खुला रहता है  .  जबकि अमेरिका में पढ़ाई के अलावा अन्य मापदंड हैं - खेलकूद , निबंध , पाठ्येतर और सामाजिक गतिविधियां ( स्वयंसेवक , स्काउट ) , म्यूजिक , ड्रामा आदि में उपलब्धियां  . 


अमेरिका में स्कूलिंग के बाद आगे की पढ़ाई काफी खर्चीली  है जिसका खर्च बहुत कम माता पिता उठा सकते हैं  . , इसलिए भारत की तुलना में यहाँ स्नातकों की संख्या बहुत कम है , STEM में और भी कम  .  इसलिए भारत के युवाओं को वहां अवसर मिलने की संभावना ज्यादा  है  .  कुछ वर्ष पूर्व के आंकड़ों के अनुसार अमेरिका में सिर्फ 28 % अमेरिकी स्नातक थे जबकि एशियाई मूल के स्नातक करीब 50 % और भारतीय स्नातक 76 % . 

 


5 . भूमि भवन ( रियल एस्टेट )  व्यापार  - हालांकि दोनों देशों में आप जितना चाहें अचल संपत्ति खरीदने या बेचने के लिए फ्री हैं पर  हमारे यहाँ रियल एस्टेट में काला  धन से इंकार नहीं किया जा सकता है यानी पारदर्शिता नहीं है   .  पारदर्शिता में अमेरिका में कई गुना अच्छा  है  . हामरे यहाँ सूद की दर बहुत ज्यादा है जबकि अमेरिका में 3 -  5 % और 30 साल तक लॉक्ड  .भारत में  किरायेदार मकान खाली करने में अड़ंगा लगते हैं जबकि अमेरिका में नहीं  . अमेरिका में किसी भी घर का मूल्य इंटरनेट पर मिल सकता है   . आमतौर पर  घर के मूल्य में एक साल का इंश्योरेंस शामिल रहता है और प्रॉपर्टी डीलर इंस्पेक्शन के बाद ही बिक्री के लिए इंटरनेट पर पोस्ट करता है और बिक्री और खरीदारी के सख्त नियम हैं  . 


6 . सुरक्षा - सुरक्षा की दृष्टि से अमेरिका का पलड़ा कुछ भारी  है  . भारत में छोटे मोटे अपराध की घटनाओं की संख्या ज्यादा है पर वे जानलेवा कम होते हैं  . अमेरिका में ऐसी घटनाएं कम हैं पर उनमें जान का खतरा ज्यादा होता है  . इसका एक मुख्य कारण अमेरिका का गन कल्चर है क्योंकि यहाँ गन रखना एक बुनियादी अधिकार है  . दूसरी तरफ यौन पीड़न की घटना प्रति कैपिटा ( per capita ) अमेरिका में ज्यादा है  . कुछ अंतर ऐसी घटनाओं  की रिपोर्टिंग कम होने से भी हो सकती हैं  . 


7 . आर्थिक विकास के अवसर -हालांकि  सुधारों के बावजूद व्यापार करने के लिए अभी भी भारत सहज नहीं है फिर भी यहाँ की विशाल आबादी व्यापार के लिए एक अच्छा अवसर प्रदान करती  है  . भारत में  क़्वालिटी स्किल और जॉब की कमी है पर सस्ता लेबर बिजनेस स्टार्ट करने के लिए अच्छा है  . लालफीताशाही , अफसरशाही और रिश्वत अभी भी भारत में व्याप्त है जबकि अमेरिका में  विरले ही ऐसा होता है  . 


GDP ( सकल घरेलू उत्पाद ) के मामले में अमेरिका एक नंबर पर है तो भारत पांचवें नंबर पर  . वहीँ GDP पर कैपिटा के मामले में भी अमेरिका बहुत आगे है , 2022 के आंकड़ों के अनुसारअमेरिका  में लगभग 62800 डॉलर तो भारत में मात्र 2300 डॉलर  . ( आमतौर पर GDP  को जनसंख्या से भाग देने पर GDP  कैपिटा होता है )


8 . खानपान - इस दृष्टि से भारत बहुत अच्छा है , हमारे देश के अनेक राज्यों में नाना प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजन मिलते हैं जबकि अमेरिका का अपना ऐसा कुछ भी नहीं है क्योंकि अमेरिका खुद एक आप्रवासियों का देश है .  भारत में  तेल और मसालों का उपयोग बहुत ज्यादा होता है .  हाँ अमेरिका में सभी देशों के मुख्य व्यंजन आसानी से उपलब्ध हैं जिनका आनंद बारी बारी से लिया जा सकता है . 


9  . संस्कृति - संस्कृति के नजरिये  से भारत बहुत आगे है . यहाँ की अपनी प्राचीन संस्कृति है . अलग अलग राज्यों के पर्व त्यौहार हैं , लोगों का समाज में मिलना जुलना और परिवार से जुड़े रहना , यहाँ की परम्परा  है .जहाँ एक तरफ  परिवार और समाज से जुड़े रहने के अनेक लाभ हैं वहीँ निजता ( प्राइवेसी ) में कमी हो सकती है  . अमेरिका में  व्यक्तिगत संस्कृति का प्रचलन है और अपनी निजता को वे सर्वोपरि रखते हैं  . भारत में हमारी जरूरतें और प्राथमिकताएं बहुत हद तक  स्वतंत्र नहीं होती हैं , उन पर परिवार , समाज और मित्रों का प्रभाव या कभी दबाव रहता है  . अमेरिका में  किसी के घर या जमीन पर आप बिना इजाजत पैर रखते हैं तो वह आपको गोली मार सकता है  .   बढ़ती उम्र के साथ अमेरिका में  अकेलेपन का सामना करना पड़ता है और अक्सर डिप्रेशन का सामना करना पड़ता है . 


10  . आरक्षण - हमारे यहाँ  शिक्षण संस्थाओं और सरकारी नौकरियों और जनप्रतिनिधि में कुछ वर्ग विशेष के लिए आरक्षण के नियम हैं , जैसे - SC , ST , OBC के लिए  . अमेरिका में कुछ शिक्षण संस्थाओं और आर्थिक क्षेत्रों में काले और हिस्पैनिक ( लैटिन अमेरिकी ) लोगों के लिए लिंग आधारित आरक्षण अन्तर्निहित है  . जाति  या धर्म पर आधारित आरक्षण होने से मेरिट में  क्षति होने की संभावना रहती है  . 


11 . आधारभूत संरचना ( इंफ़्रास्ट्रक्चर ) - इस मामले में अमेरिका भारत से बहुत आगे है हालांकि विगत कुछ वर्षों में हमारे यहाँ भी बहुत प्रगति हुई है  . हमारे यहाँ भी  हजारों किलोमीटर नए मल्टी लेन हाईवे बन गए हैं और अभी भी बन रहे हैं  . भारत में भी दुर्गम स्थानों को नए  रोड , रेल और पुल  से जोड़ रहे हैं  . 


12 . स्वास्थ्य - स्वास्थ्य के मामले में भी अमेरिका भारत से आगे है , खास कर विशेषज्ञों के मामले में  . तभी तो हमारे यहाँ के नेता और अमीर अपना इलाज कराने अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों का रुख करते हैं  ,  यह दूसरी बात है कि हमारे यहाँ इलाज और दवाओं के दाम उनकी तुलना में बहुत कम हैं  .  भारत  के कुछ बड़े शहरों में जहाँ अच्छे सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल हैं वहां विदेशों से भी लोग इलाज के लिए आने लगे हैं  . दवा बनाने में भारत का विश्व में तीसरा स्थान है , अमेरिका और चीन के बाद  . 


अमेरिका में किसी इमरजेंसी या सड़क दुर्घटना में 911 नंबर पर फोन करते ही चंद मिनटों में हेलीकाप्टर या आपकी मदद के लिए एम्बुलेंस पहुँच जाता है  . 


13 . मौसम - मौसम के दृष्टिकोण से दोनों देश लगभग बराबर हैं  . यहाँ भी कुछ राज्यों में काफी ठंडक तो कहीं बहुत गर्मी पड़ती है , कहीं अति वृष्टि तो कहीं अल्प  वृष्टि या सूखा पड़ता है  . अमेरिका के  राज्यों में मौसम समान नहीं हैं , जैसे नार्थ ईस्ट में न्यू यॉर्क आदि में काफी ठंड पड़ती है  तो साउथ वेस्ट ( नेवादा , लॉस वेगास ) और टेक्सास गर्म हैं  . अमेरिका के एक ही राज्य कैलिफ़ोर्निया में कहीं मौसम सामान्य है तो कहीं  दुनिया का सर्वाधि गर्म स्थल , डेथ वैली भी है  . यहाँ 1931 जुलाई में तापमान 56. 7 रहा था जो एक रिकॉर्ड है  . 


14  . यातायात - पब्लिक ट्रांसपोर्ट के मामले में अमेरिका लगभग फेल है  . हमारे देश में लोगों को  अनेक पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधाएं उपलब्ध हैं  . हमारे यहाँ बहुत अच्छा रेलवे नेटवर्क है , इसके अलावा बस , रिक्शा , ऑटो , हवाई जहाज सभी हैं  जबकि अमेरिका में लोग  ट्रांसपोर्ट के लिए हवाई जहाज या अपनी कार का इस्तेमाल करते हैं  . हाँ यातायात के नियमों का पालन लोग सख्ती से करते हैं वरना इसके लिए हेवी पेनाल्टी या सजा होनी तय है  . 

15  . स्पोर्ट्स -  खेलकूद के मामले में इतनी बड़ी आबादी के बावजूद अमेरिका की तुलना में हम कुछ भी नहीं है  . हमारे यहाँ अभी भी  स्पोर्ट्स का मतलब अक्सर क्रिकेट तक सीमित है  . पिछले ओलंपिक में 113 पदकों  ( 39 गोल्ड ) के साथ अमेरिका शीर्ष पर था जबकि हम 7 पदकों ( 1 गोल्ड ) के साथ 48 वें नंबर पर थे हालांकि ओलंपिक में यह प्रदर्शन आजतक का सर्वोत्तम प्रदर्शन रहा है  . 


16 . जनता बनाम प्रशासन - इस नजरिए से अमेरिका कुछ अच्छा जरूर है  . भारत में  आमतौर पर वर्दी वालों  से जनता में भय है जबकि अमेरिका में ऐसा बहुत कम है  . वहां वर्दी वाले रोब  नहीं दिखाते हैं और प्रशासन या अन्य सभी दफ्तरों में आपकी आवाज को ध्यान से सुनी जाती है  और अफसर बहुत शिष्टाचार से पेश आते हैं  . 


17 . पावर सप्लाई - बिजली के मामले में अमेरिका भारत से आगे है  . यहाँ पावर कट या लोडशेडिंग विरले ही सुनने को मिलेंगे  . हाँ प्राकृतिक आपदा के समय ऐसा सम्भव है  . 


18 . भाषा - भारत में कई राज्यों में अलग अलग भाषाएँ बोली और पढ़ाई जाती हैं जबकि पूरे अमेरिका में आमतौर पर अंग्रेजी ही बोली और पढ़ाई जाती है  . अमेरिका  की दूसरी भाषा स्पेनिश है  . 


19 . सामान्य ज्ञान - भारत की तुलना में  औसतन अमेरिकी लोगों को अपने देश से बाहर की दुनिया का ज्ञान बहुत कम है  . 


 बॉटम लाइन  - पर्सनल लाइफ , कंफर्ट , सुविधा और मनोरंजन के मामलों में अमेरिका हमारे देश से अच्छा है - लगभग सभी के पास कार ,  एयर कंडीशनर जैसे सुविधाएं प्राप्त हैं  .  आपको अपनी मर्जी से जीने की पूरी आजादी है ,कोई दूसरे के रहन सहन , पहनावा , खानपान आदि के मामलों पर ध्यान नहीं देता है  . अमेरिका में  मेरिट को प्राथमिकता  जरूर दी जाती है और डिग्निटी ऑफ़ लेबर है यानी श्रम की इज्जत है  . कोई भी काम  अमेरिका में छोटा नहीं माना जाता है और हर काम करने वाले की समाज में उतनी ही इज्जत है जबकि भारत में आमतौर पर ऐसी सोच में बहुत कमी है  . 

 

                                                                 xxxxxxxxxxxxxxxxxx