Jinnatto ki Sachi Kahaniyan - 9 books and stories free download online pdf in Hindi

जिन्नातों की सच्ची कहानियाँ - भाग 9

अध्याय - 09
(खबीस का कहर, भाग ३)

लेखक :- सोनू समाधिया 'रसिक' 🇮🇳


कहानी पिछले अध्याय से जारी..........



आमिर पुलिस को बुला लेता है। इंस्पेक्टर सभी के साथ आलिया के कमरे में पहुंच जाता है और कमरे में पड़ी लाश का जाँच पड़ताल करने लगता है।
इंस्पेक्टर अपने सिपाहियों से सभी के बयान लेने को कहता है और सभी को कमरे से बाहर भेज देता है।
इंस्पेक्टर खुद उस कमरे की तलाशी लेना शुरू कर देता है।

इसी दौरान आमिर अपनी अम्मी को सच बताता है कि वो आलिया को उसके रिश्तेदार के घर से नहीं बल्कि रात के अंधेरे में चुपके से दरगाह से लाया था, जब आमिर की अम्मी, उससे आलिया के बारे में और पूछती है तो वो मना कर देता है क्योंकि आमिर को आलिया के बारे में और उसकी बीमारी के बारे में कुछ भी नहीं पता था।
आमिर की अम्मी आलिया के बारे में ओर जानने के लिए आमिर से दरगाह के इमाम से मिलने की बात कहती है।


इंस्पेक्टर जाँच करते हुए बेड के नीचे आलिया को देखता है तो वह आलिया बाहर निकलने को बोलता है।
इंस्पेक्टर आलिया के करीब जाकर बैठ जाता है और उसे कोई फिक्र न करने की बात कहता है।
इंस्पेक्टर बात करने के दौरान आलिया के हाथों को अपने हाथों से सहलाने लगता है। आलिया इंस्पेक्टर की गंदी हरकतों से खड़ी हो कर वहाँ से जाने लगती है, तो इंस्पेक्टर उसका हाथ पकड़ लेता है।

आलिया रुक जाती है और वह मुस्कुराने लगती है, अब वो बदलने लगी थी। आलिया मुड़कर कर जैसे ही इंस्पेक्टर की ओर देखती है तो इंस्पेक्टर आलिया कि आँखों बदली रंगत को देख कर डर जाता है। लेकिन तभी आलिया इंस्पेक्टर के सीने पर कैंडल स्टैंड से वार करती है, जिससे इंस्पेक्टर के मुँह से खून के साथ चीख निकल पड़ी।


इंस्पेक्टर की चीख सुनकर घर के सभी लोग उस कमरे में पहुंच जाते हैं और देखते हैं कि आलिया कैंडल स्टैंड से पुलिस इंस्पेक्टर के सीने को कुचल रही है। जब आमिर आलिया को आवाज लगाता है तो उनके सामने होता है एक खौफनाक मंजर.....


घर के सभी लोग डर कर दरगाह की ओर भागे, जब सभी लोग घर के बाहर देखते हैं तो पुलिस की कार में एक सिपाही को मरा हुआ पाते हैं, खबीस सिपाही को भी मार चुका था।

आमिर, उसकी अम्मी और लतीफ डरते हुए खुद की कार की ओर दौड़े, सभी कार में बैठ गए और आमिर ने कार स्टार्ट की....

जैसे ही आमिर ने कार दरगाह की ओर मोड़ी तो कार की लाइट में सामने आलिया को खड़ा हुआ पाते हैं।
आमिर डरते हुए कार को दूसरी साइड में मोड़ता है तो पाता है कि कार से लतीफ गायब था,
सभी लतीफ को आवाज लगाते हैं, तो देखते हैं कि लतीफ पुजेस्ड आलिया की गिरफ्त में था, खबीस ने लतीफ को पकड़ लिया था।

चीखते हुए लतीफ को वहीं छोड़ कर आमिर और उसकी अम्मी कार को दरगाह के लिए दौड़ा देते हैं।

आलिया लतीफ को कैंडल स्टैंड से लतीफ पर मारने लगती है।

आमिर और उसकी अम्मी दौड़कर दरगाह में पहुंच कर अपनी जान बचाते हैं, आमिर दरगाह के इमाम से सहायता के लिए उसके पास जाते हैं, लेकिन दरगाह के केयर टेकर से पता चलता है कि इमाम साहब कुछ दिनों के लिए बाहर चले गये हैं।

आमिर दरगाह के केयर टेकर से आलिया के बारे में पूछता है तो वो बताता है कि आलिया एक शैतानी जिन्न खबीस की चपेट में है, वो आगे बताता है कि अल्हा ने तीन जमातों को इस धरती पर उतारा है, पहली जमात फरिश्ते जो अल्हा की इबादत करते हैं, दूसरी इंसान को मिट्टी से, तो जिन्नातों को आग से बनाया है। इंसानों की तरह ही जिन्नात अच्छे और बुरे होते हैं, बुरे जिन्नातों को खबीस कहते हैं। और आलिया पहले एक अच्छी लड़की थी, उसके अब्बू की तबीयत नासाज रहती थी, तो वो रोजाना अपने अब्बू की अच्छी सेहत के लिए दरगाह में दुआ करने आती थी।

एक दिन उसके अब्बू की तबीयत ज्यादा खराब हो गई, डॉक्टर और दुआ ने जबाब दे दिया, तो आलिया ने एक दिन ढोंगी मौलवी शादाब के कहने पर अपने अब्बू को ठीक करने के लिए जिन्न की ताकत का सहारा लिया।

आलिया ने रात के समय शादाब के बताये काले जादू पर अमल करते हुए जिन्न का आह्वान किया।
कुछ ही पलों में कमरे में हवा के एक तेज झोंके के साथ जिन्न प्रकट हो जाता है, कमरे की सारी मॉमबत्तियाँ बुझ जाती हैं, जिससे आलिया डर जाती है और उसका ध्यान भटक जाता है।




क्रमशः......................(कहानी आगे जारी रहेगी)



(©SSR'S Original हॉरर)
💕 राधे राधे 🙏🏻 ♥️
Share

NEW REALESED