Saat fere Hum tere - 104 in Hindi Love Stories by RACHNA ROY books and stories PDF | सात फेरे हम तेरे - भाग 104

Featured Books
Share

सात फेरे हम तेरे - भाग 104

दूसरे दिन सुबह ही सब वापस लौट आए।
नैना ने दादी मां को वहां के बारे में सब कुछ बताया।
अनिक ने कहा नैना अभी तुम हो यहां?
नैना ने कहा नहीं सन्डे को जा रही हुं।
अनिक ने कहा पर मैं बोर हो जाऊंगा।।
नैना ने कहा ऐसा कैसे आपका दोस्त हैं ना

मुझे तो जाना होगा। विक्की ने कहा हां मैं हुं ना।
फिर सब आराम करने चले गए।।

शाम को चाय के समय नैना को बार बार एक फोन कॉल आ रहा था और नैना फोन कट कर रही थी।

विक्की ने कहा क्या बात है किसका फोन काट रही हो?
नैना ने कहा ऐसा कुछ नहीं है बस,
विक्की ने कहा कोई परेशानी है क्या ?
नैना ने कहा नहीं नहीं ऐसा कुछ नहीं है।
अनिक ने कहा चलो आइसक्रीम खाने चले।
नैना ने कहा नहीं मेरा मन नहीं है तुम लोग जाओ।
विक्की ने कहा अनिक चलो यार हम चलते हैं।
फिर दोनों दोस्त बाहर निकल गए।
फिर विक्की ने कहा अनिक तूने अभी तक शादी क्यों नहीं किया?
नैना अपने रूम में जाकर दरवाजा बंद कर दिया और फिर उस नंबर पर कॉल किया तो रिंग गई पर फोन किसी ने नहीं उठाया।
नैना अब घबरा गई और फिर रिचा को फोन किया पर वो फोन नहीं उठाई।

नैना ने फोन रख दिया और फिर फोन की घंटी बजने लगीं।
नैना ने फोन उठाया और फिर बोली हेलो कौन।।
उधर से आवाज आया आपका हमराज।
नैना ने कहा कौन हो तुम क्या चाहते हो।
उधर से आवाज आई हां, हो चाहोगी तुम अगर जानना चाहती हो तो ब्लू स्टार में मिलो।
नैना ने कहा पर मैं पहचानूं कैसे।
उधर से आवाज आई हां वो मैं बताऊंगा।
कल शाम को आना।
अंग प्रदर्शन करती हो?
नैना ने कहा क्या बात कर रहे हो कौन हो मुझसे क्या।।
उधर से आवाज आई हां अगर तुम प्रदर्शन नहीं करती हो तो ये फोटो किसका है।
नैना डर कर फोन काट दिया।
और फिर वट सप पर एक फोटो देखकर नैना के होश उड़ गए।

उधर विक्की इन सब बातों से बेखबर गाना गाने लगा।।

तू मुझे सुना मैं तुझे
सुनाऊ अपनी प्रेम कहानी
कौन है वो कैसी है वो
तेरे सपनों की रानी
तू मुझे सुना मैं तुझे
सुनाऊ अपनी प्रेम कहानी
कौन है वो कैसी है वो
तेरे सपनों की रानी

रहती है खामोश सदा
बस एक पहेली सी वो
हरदम मेरे साथ
मगर लगती है अकेली


रहती है खामोश सदा
बस एक पहेली सी वो
हरदम मेरे साथ
मगर लगती है अकेली सी वो
एक ही बात में कर जाती है
वो कितनी बातें उसी बातें कहतीं खतम
न होन
ढल जाने लंबी रात
कभी सुन कभी
कभी कभी
तुझे
सुनाऊ अपनी प्रेम कहानी
कौन है वो कैसी है वो।

मेरे सपनों की रानी।।
गाना खत्म हो गया और फिर दोनों दोस्तों ने कहा विक्की ने कहा बोल यार ।
अनिक हंसने लगा और फिर बोला अरे भाई तू भी ना वो एक अंग्रेजी लड़की है पर शादी नहीं करेंगी।
विक्की ने कहा हां वही तो हमेशा की तरह।
अनिक ने कहा क्या तुमने नैना को वो सब ।।
विक्की ने कहा पागल हो गया क्या हमलोगो में शादी के बाद ही सब कुछ होता है।।

अनिक ने हंसते हुए कहा अरे बाबा तुम भी ना अगर वो पास रहेगी तो तू कैसे उसको छूएं बिना कुछ किए बिना रह पाएगा।
विक्रम सिंह शेखावत ने कहा ये क्या बोल रहा है तुम मेरे कैरेक्टर पर सवाल उठाया।।
उधर नैना बहुत ही परेशान हो जाती है और फिर वो उस फोटो को डिलिट करने की कोशिश करती है पर वो नहीं कर पाती है।

अब मैं क्या करूं जिंदगी ने फिर ये क्या मुसीबत खड़ी कर दी है।।
मेरे साथ ऐसा कौन कर सकता है यहां तो मैं किसी को जानती नहीं हुं। मुझे विक्की को बताना चाहिए कि ये सब।।
नहीं नहीं मैं नहीं बता सकती हुं।
माया दी को बता दूं कि ये सब परदेस में मेरे साथ।।
नैना ने फोन उठाया और फिर उस नंबर पर कॉल किया।
उधर से आवाज आई तो मैंने कहा ठीक है मैं आऊंगी पर तुम मुझे कैसे जानते हो?
उधर से आवाज आया और बहुत कुछ जानता हूं मैं पर एक फौजी के घर में हो तुम।
नैना ने कहा तुमको कैसे पता चला सब।।
और फिर विक्की लोग आ गए।
नैना ने फोन रख दिया।
कुछ देर बाद ही विक्की ने दरवाजा खटखटाया तो नैना ने खोला तो देखा कि अनिक और विक्की दोनों अन्दर आ गए।
विक्की ने कहा नैना तबीयत ठीक है।
नैना ने कहा हां बिल्कुल ठीक है।
अनिक ने कहा ये लो तुम्हारा चाकलेट ब्राउनी।
नैना ने कहा थैंक यू पर अभी मन नहीं है।
अनिक ने कहा क्या मन को क्या हुआ।
नैना ने कहा कुछ नहीं बस बुई की याद आ गई।
विक्की ने कहा किसका फोन आया था।
नैना ने कहा रिचा का कल मुझे बुलाया है।
विक्की ने कहा हां जाओगी।
नैना ने कहा हां क्यों नहीं।
अनिक ने कहा मैं भी चलुंगा।
नैना ने कहा साॅरी मैं ही जाऊंगी।
विक्की ने कहा ओह माई गॉड ठीक है।अनिक ने कहा तो आइसक्रीम फिजर में जाकर रख देता हूं।
नैना ने कहा ओह प्लीज़ मुझे आराम करना है।
फिर दोनों चले गए पर विक्की के दिमाग में रह रह कर सवाल उठ रहा था कि वो नैना कुछ छुपा रही है।

विक्की ने कहा पर क्या कुछ समझ नहीं आ रहा है।
अनिक ने कहा हां यार नैना कुछ परेशान हैं।
विक्की ने कहा हां मैं देखता हूं तुम चलो खाना खाने।
मैं आता हूं।
फिर नैना के दरवाजे के पास जाकर कहा अरे नैना सो गई।
नैना ने कहा हां विक्की मैं सो गई।
विक्की नीचे पहुंच गए और फिर खाना खाने लगे।
दादी मां ने कहा अरे नैना नहीं आई।
विक्की ने कहा हां दादी मां वो नहीं आएगी।
अनिक ने कहा कुछ हुआ क्या।
विक्की ने कहा अरे बाबा तुम भी ना कुछ तो नहीं हुआं।
फिर सब खाना खाने के बाद सोने चले गए।
विक्की को नींद नहीं आ रही थी और फिर वो बहुत ही परेशान हो रहा था।
क्या बात है नैना क्या छुपा रही है।
मैं चाह कर भी कुछ नहीं कर सकता हूं नैना।।
फिर विक्रम सिंह शेखावत भी सो गया।
सुबह उठते ही तैयार हो कर नैना के पास गया और फिर बोला अरे नैना तुम तैयार हो मैं तुम्हें छोड़ देता हूं।
नैना एक दम से चौंक गई और फिर बोली अरे नहीं मैं चली जाऊंगी। वैसे एक बात कहनी थी।
विक्की ने कहा हां बोलो।
नैना ने कहा मुझे अभी पचास हजार रुपए की जरूरत है तुम दे दो ।मैं होस्टल पहुंच कर दे दुंगा।।
विक्की ने कहा हां ठीक है पर इतना सुबह क्या जरूरत है।
नैना ने कहा अरे बाबा रिचा को चाहिए था वो बोली कि मुझे वापस कर देगी।
विक्की ने कहा हां ठीक है मैं देता हूं।
नैना ने कहा थैंक यू।
विक्की ने लाकर पैसे दे दिए और फिर वो चला गया।
नैना भी डरी हुई थी और फिर वो भी निकल गई।
ब्लू स्टार होटल में पहुंच कर नैना ने जैसे मेसेज में लिखा था वहीं देखा।
फिर नैना वहां जाकर बैठ गई।
फिर एक आदमी आया और फिर बोला कि ये लो चुपचाप बैग रख कर चली जाओ।
नैना ने कहा हां पर कैसे मान लूं कि तुम्हारे पास और फोटो नहीं है।
वो आदमी बोला ज्यादा बहस मत करो जाओ।
नैना जल्दी से वो पैकेट उठकर वहां से निकल गई।
और फिर बंगले में पहुंच कर सीधे कमरे में जाकर बैठ गई और फिर वो पैकेट खोला तो देखा बहुत सारी तस्वीरें थी जिसमें बहुत ही गन्दे कपड़े पहने थे नैना ने।
नैना रोने लगी और फिर उन फोटो को अपने बैग में रख दिया।
और फिर बहुत ही रोती रही नैना।

क्रमशः