Meera - 18 books and stories free download online pdf in Hindi

मीरा - 18

मीरा आवाज सुनते ही अपना सिर पलट ती .....जिसकी वजह से उसके होंठ आदित्य के होठों को  स्पर्श करते हैं ......आदित्य ने मास्क लगाया हुआ था ....लेकिन फिर भी उसकी धड़कन इतनी तेज हो गई की मीरा को भी सुनायी दे रही थी...मीरा भी शॉक थी....वो जल्दी से पिछे हटती हैं...आदित्य अभी भी चुप था....

मीरा -एस तरह से कोन  पिछे से बोलता है .....

आदित्य - तुम इस वक्त बाहर क्या कर रही हो...

आदित्य बात पलटने की कोशिश कर रहा था....उसकी धड़कन अभी भी तेज थी..मीरा मासूम सा चेहरा बनाती है और  आदित्य को देखती है..

Meera - please मुझे थोड़ा सा घुमने जाना है....बाहर ...ले चलो ना..

आदित्य - तुम मेरे साथ बाहर जाना चाहती हो...तुम किसी अंजान इंसान पर भरोसा नहीं कर सकती...

मीरा - तुम अंजान तोड़े हो ....तुमको तो मैंने कई बार ...देखा है....

आदित्य मीरा के पास आता है उसको कमर से पकड़ कर अपने करीब खिचाता हैं...इस बार मीरा की धड़कन तेज़ हो जाती है..आदित्य उसके कान के पास आता है...

आदित्य (धीरे ​​से)कोई मुझे monster बोल रहा था अभी...

Meera-...अब मैं मजाक भी नहीं कर सकती क्या...(अपने चेहरे को अपने हाथो में लेकर) 

आदित्य मीरा की आँखों में देखता है...आज bohot समय बाद वो  मीरा को बहुत करीब से देख रहा था...मीरा खुद को उसकी पकड़ से छुड़ाने की कोशिश करती हैं तब जाकर आदित्य को होश आता है...आदित्य उसको जाने देता है...राधा भी मीरा को ढूंढते-ढूंढते वहां आ जाती हैं...

Aaditya -जाओ अपने वार्ड में...(आदित्य पलटता हैं...मीरा उसका हाथ पकड़ लेती हैं...)

मीरा - प्लीज़ बस तोधी देर...(अपने दो नो हाथों को जोड़ कर)

राधा भी उनको साथ में देखकर वहां से चली जाती हैं...

आदित्य मीरा की तरफ पलट ता है...उसके हाथ को अपने हाथ में लेकर...

आदित्य -try to understand Meera...तुम बहार नहीं जा सकती...रात में ...

Meera -मैं hospital में तो घूम सकता हूं ना।... please...

आदित्य अपना सिर हां में हिलाता है।...और मीरा मुस्कुराती है....उसके बाद मीरा पूरी हॉस्पिटल में घूम रही थी...मीरा और आदित्य साथ में एक जगह जाते हैं जहां रोशनी थोड़ी कम थी...मीरा आदित्य से आगे चल रही थी...मीरा चारो तरफ देखती है...वहा एक पेंटिंग थी एक टेबल पर रखी हुई...मीरा उसको देखती है .......उसके पास जाती हैं...उसकी आँखे पेंटिंग पर जम गई...पट...मीरा पेंटिंग को ज़मीन पर फेक देती है...

आआआआआआआ.......

मीरा चिल्लाती हुई जमीन पर बैठ जाती है...और अपने चेहरे को अपने पेरो में छुपा लेती है...और चिल्लाते हुए रोने लगती है...हॉस्पिटल का स्टाफ जो रात में वहां था...उधर आ जाता है...

छोड़ दो मुझे... .... छोड़ दो........... don't touch me....आ...आआ.... 

मीरा बोहोत जयादा रोने लगती है...आदित्य डर जाता है...वो मीरा के पास जल्दी से आता है और उसके सामने ज़मीन पर बैठता है...आदित्य अपना हाथ मीरा के हाथ पर रखता है...और उसके चेहरे को अपनी तरफ करता है...

आदित्य-ये मैं हूं...तुमको कुछ नहीं होगा...trust me...मेरी तरफ देखो मीरा...

मीरा बहुत तेज रो रही थी...और उसका पूरा शरीर काप  रहा था।......आदित्य उसको अपनी बाहों में ले लेता है...और  कस कर गले लगाता है...

Aaditya -मैं हूं ना तुम्हारे पास ...तुमको कुछ नहीं होगा...कोई तुम्हें नुक्सान नहीं पहुंचायगा।......कुछ नहीं हुआ है...सब ठीक है...

मीरा उसको कसकर गले लगाती है...वो अभी भी काप रही थी...धीरे-धीरे वो रोना बंद कर देती है...आदित्य उसको गोद में उठाकर उसके वार्ड में वापस लेकर आता है मीरा ने अभी भी उसको कस कर पकड़ रखा था...आदित्य उसको बिस्तर पर लेटता है.. राधा को नींद आ गई थी...मीरा को  लेटाकर आदित्य वहा से पलटकर जा रहा था...मीरा उसका हाथ रोते हुए पकड़ लेती है...आदित्य गहरी  साँस लेते हुए वही उसके पास बैठ जाता है ....उसके हाथों को अपने हाथों में लेकर... 

Aaditya -मैं यहीं हूं......सोने की कोशिश करो...

मीरा अपनी आँखें बंद कर लेती है.....आदित्य मीरा को इस तरह  चिल्लाते हुए और इतना कापते हुए पहली बार देख रहा था... वो  अपनी आंखों से आंसू पोंछ ता हैं...मीरा को ऐसे  देखकर  उसकी रूह कांप गई थी...1/2 घंटे के बाद मीरा को नींद आ गई थी...आदित्य फिर वार्ड से बाहर आकर बॉडी गार्ड की तरफ देखता है..जो काफ़ी डरे हुए लग रहे...

आदित्य- तुमको जिस काम ले लिय रक्खा है  उस पर ध्यान दो..आज के बाद अगर ऐसा फिर हुआ तो तुम को पता है तुम्हारा क्या होगा ....

Bodyguard -sorry boss...

आदित्य वहां से वापस  कम  रोशनी वाली जगह पर पेंटिंग के पास आता है...वो उसकी फोटो क्लिक करता है...और फिर मीरा के कमरे में आता है मीरा सो  रखी थी......आदित्य मीरा के सिर पर kiss करता है...और उसको धीरे से गले लगाता है...

आदित्य - good night बच्चा...

Next day...

6:00 am...

आदित्य के पास राजीव का कॉल आता है...

राजीव - सर वो पेंटिंग...किसी आश्रम से related है..ये सिर्फ कुछ चुनिंदा शिष्यों को दी जाती हैं...

आदित्य- रॉकी को बोलो कि पता करो कि ये किन किन लोगों को मिला है...कितना टाइम हो गया पर कोई उस इंसान को पकड़ नहीं पा रहा...ना वो पुलिस और ना वो रॉकी...मैं आशीष को भी तस्वीरें भेज दी थी..मैं कितना इंतज़ार करु...

Rajiv - मैंने भेज दी थी रॉकी कह रहा था कि अब वो इंसान है ज्यादा समय तक छिप कर नहीं रह सकता ....

Aaditya - I want result...as soon as possible...

Aaditya कॉल कट कर देता है...फिर वो डॉक्टर के साथ मीरा के वार्ड में जाता है..उसने डॉक्टर को रात वाली बात बताई थी...प्रकाश मीरा को चेक करता है...

प्रकाश -अभी भी सिर में दर्द है।...

Meera -नहीं...

प्रकाश- अच्छा..रात को आपने क्या देखा...था...कोई बुरा सपना था क्या .... 

मीरा डॉक्टर को देखती है फिर रात की बात याद करने की कोशिश करती है...पेंटिंग के बारे में सोचते हैं उसके दिमाग में बहुत से लोग आते हैं जो उसके पास आ रहे थे..

आ..मीरा अपना सिर पकड़ लेती है...आदित्य उसके पास आता है...और उसको गले लगा लेता है...

आदित्य - (उसके सिर पर प्यार से हाथ फेरते हुए)यहा कोई तुम्हें नुक्सान नहीं पहुंचा चाहता... हमको बताओ तुम्हें क्या दिख रहा  है ...

मीरा-ये कोई चर्च है...वो मेरे पास आ रहे है...(मीरा रोने लगती है)

आदित्य - (उसको कसकर गले लगाते हुये)calm down...तुम मेरे पास safe हो...तुम्हें कुछ नहीं होगा...

आदित्य प्रकाश को वहां से जाने का ईशारा करता है...राधा और ओम भी बाहर आ जाते हैं...मीरा रोये जा रही थी...आदित्य उसका चेहरा अपने हाथों में लेता है...

आदित्य-मीरा...You are my brave girl...अगर तुम ऐसे रोओगी..तो सब तुमको डरपोक बोलेंगे...तुम डरपोक हो क्या...हम्म..

मीरा अपना सिर नहीं  मे हिलाती  हैं...

आदित्य- तो आशु पूछो अपने... जल्दी.....

मीरा अपनी आशू पूछती है...

आदित्य- हम्म...अब अपनी चुडेल वाली हंसी दिखाओ....

मीरा आदित्य के पेट पर मारती है...

आ..मारा क्यू...

तुम होगे  चुडेल..

आदित्य मुस्कुराता है मास्क के अंदर से...

आदित्य- तुम बहुत पावरफुल हो...पता हैं तुम्हें...

मीरा- और नहीं तो क्या...हल्के में मत लेना मुझे...

मीरा मुस्कुराती है...राधा और ओम भी वापस अंदर आ जाते हैं...आदित्य बहार आ जाता है जब उसके पास राजीव की कॉल आती है...

राजीव -सर रॉकी आप से मिलना चाहता है... 

आदित्य- ठीक है...उसको बोलो मेरे केबिन में आकर मिले...

उसके बाद आदित्य हॉस्पिटल से बाहर आकर अपनी कंपनी चला जाता है...

आदित्य के केबिन में... 

आदित्य लैपटॉप पर काम कर रहा था....उसके पास कॉफ़ी रखी हुई थी....रॉकी उसके केबिन में आता है......

Rocky -boss...

आदित्य- बैठो..

रॉकी कुर्सी पर बैठता है... 

Rocky -मैंने आपको बताया था कि वो पेंटिंग करने वाले कुछ लोगो को दी जाती है..वो 30 लोग हैं जिनको ये पेंटिंग मिली है ...

Aaditya -उनसे कोई चर्च में कुछ है क्या...

रॉकी- हाँ बॉस...उनमें से एक priest  है चर्च का..

आदित्य - वो हमको हमें  उस इंसान तक पहुंचाएगा .......

Rocky -मैं अभी उससे सारी जानकारी निकालता हूं...

आदित्य-मैं भी तुम्हारे साथ आऊंगा..

आदित्य और रॉकी चर्च के लिए निकल जाते हैं...चर्च पर आते वक्त आदित्य रास्ते में लगे सीसीटीवी को देखते हैं ...

चर्च पहुचकर...वो अंदर जाता है.. priest के पास...वही एक दीवार पर वो पेंटिंग भी थी.....उस वक्त चर्च में कोई नहीं था...

आदित्य - (मीरा की फोटो दिखा कर) इसको पहचानो..

Priest फोटो को ध्यान से देखते हैं..

Priest -son...ये कौन है..

आदित्य - (गुस्से में) 29 feb.को आप कहा थे...

Priest -(आदित्य को गुस्से में देखकर)बेटा...उस दिन  मैं चर्च में नहीं था... 

आदित्य -क्यू??

Priest -29 फरवरी को किसी की सिर्फ पास कॉल आई थी कि कोई मुझसे मिलने आया है... फिर में जब वहां उसे मिलने गया तो कोई मुझे पता नहीं कैसे नींद आ गई...

मुझे चर्च के कैमरे की फुटेज चाहिए ... 29 फरवरी की ....

Yes sure...मेरे साथ चलो...

वो लोग कंट्रोल रूम में पाहुंच ते हैं आदित्य को कुछ नहीं मिलता...वो priest की तरफ देखता है...

...... दरअसल एक or सीसीटीवी है जिसके बारे में किसी को नहीं पता ये चर्च के बाहर हैं.....

 सीसीटीवी फुटेज में रात को एक वैन आती हुई दिखती है उसमें से 4 लोग बाहर निकलते हैं... तीन लोग Meera को उठाकर अंदर लेकर जाते हैं..और 1 इंसान किसी को कॉल करके अंदर चला जाता है... करीब 1/2 घंटे के बाद एक बीएमडब्ल्यू वाह आकर रुकती हैं...2 लोग उनसे बाहर आते हैं..उन्होनें पूरा काला पहन रखा था...और खुद का फेस मास्क से छुपा रखा था ...वो लोग भी चर्च के अंदर जाते हैं...1 घंटे बाद वो 2 इंसान बाहर आकर चले जाते हैं... उनके जाने के बाद मीरा को लाया जाता है...उससे चला नहीं जा रहा था..उसके कदम लड़खड़ा रहे थे...वो उन लोगों से खुद को छुड़ाने की कोशिश करती है...उनको धक्का देती है..

चटक...

एक तपड़ मीरा के चेहरे पर वो ज़मीन पर गिर जाती है..उसके मुंह से खून आता है जिस को  वो हाथ से साफ करती है...वो पास में रखी एक स्टील की रॉड से उनको मारने वाली थी...कि उनमें से एक ने उसके पेट पर जोर से लात मारी...मीरा जोर से चिल्लाई.. फिर भी वो रॉड उठाने की कोशिश करती है तो एक   उसके हाथ पर अपना पेर रखता है...मीरा अपने दूसरे हाथ से उसके पेर हटाने की कोशीश करती है..वो उसका हाथ कुचलना शुरू कर देता है..और मीरा दर्द से छोड़ो...छोड़ो...चिलाती है..फिर वो दोबारा उसके पेट पर पेर से मरता है ...फिर वो उसको उठाकर वैन में डाल देता है...और वैन चर्च से निकल जाती है ......

आदित्य फुटेज को देख तो रहा था..पर उसकी आंखें बता रही थी कि अगर वो लोग उसके सामने होते तो वो उनको कच्चा खा जाता  और  डकार भी नहीं लेता... 

आदित्य - मुझे ये चारो रात तक मेरे पास चाहिए ..

Rocky -yes boss...

आदित्य फिर वहां से सीधे हॉस्पिटल में चला जाता है...वो जल्दी से जल्दी मीरा को देखना चाहता था मीरा के वार्ड में mask पहनकर...मीरा उस वक्त  खड़ी थी और राधा से बात कर रही थी...आदित्य उसको पीछे से  गले लगाता है...मीरा शॉक हो जाती है...पलटकर देखती हैं तो आदित्य रो रहा था...आदित्य उसको वापस गले लगा लेता है...और रो रहा था...

Aaditya -sorry...(धीरे ​​से)

मीरा उसको चुप कराने के लिए उसकी पीठ थपथपाती है...

Meera -क्या हुआ है...तुम रो क्यों रहे हो...

आदित्य -please कुछ देर कुछ मत बोलो...

मीरा चुप हो जाती है...आदित्य 5 मिनट बाद मीरा की तरफ देखता है...जो उसको सवालिया नजरों से देख रही थी...आदित्य पीछे हट ता है 

आदित्य -मैंने तुमको कोई और समझा था... sorry...

मीरा के कुछ बोलने से पहले वह वहा से बहार निकल जाता है...ओम उसको बहार मिलता है...

Om-क्या हुआ आदि...

आदित्य उसको सारी बात बताता है...

Om-(आदि के कंधो पर हाथ रखकर) तुम जो भी करोगे वो मीरा के  अच्छे के लिए होगा...

ओम आदित्य को गले लगाता है.......

2days later....

आदित्य का केबिन...

उसका फ़ोन बजते हुए...

 

 

 

 

 

 

 

 

 

-बताओ मुझे...

राजीव - कियारा...

आदित्य चुप हो जाता है उसको बहुत गुस्सा आ रहा था...पुलिस को सब सबूत भेजो...I want her dead......

Rajiv -Okay sir...

Same day, 9':00 am

Ashish - आदि हमको वो इंसान मिल गई...मैं उसको गिरफ्तार करने जा रहा हूं..

Aaditya -मैं चाहता हूं उसको उमरकेड़ की सजा हो..हर एक दिन वो तड़प-तड़प कर जियें...

आशीष -हम्म...

आदित्य कॉल कट कर देता है...