Meera - 19 books and stories free download online pdf in Hindi

मीरा - 19

आदित्य  पुलिस स्टेशन जाता है....आशीष उसको कियारा के पास लेकर जाता है...उनके साथ महिला पुलिस अधिकारी भी थी...कियारा एक कुर्सी पर बैठी थी...वो आदित्य को देखती है...महिला पुलिस अधिकारी उसके सामने वाली कुर्सी पर बैठती हैं...

पुलिस अधिकारी -तु अपना गुनाह कबूल कर ले तो अच्छा होगा...

कियारा -मैंने कुछ नहीं किया है (चिलाते हुए)तुम जानते नहीं हो तुमने किस्से पंगा लिया है...

आदित्य (टेबल पर जोर से हाथ मरता है) आवाज नीचे..तुम नहीं जानते तुमने किस से पंगा लिया है...

 कियारा(रोते हुए)-तुम कल की आई लड़की के लिए मुझसे शादी नहीं करोगे बोल कर आ गए..

आदित्य - (गुस्से में किआरा पर हाथ उठ रहा था)अगर तुम लड़की नहीं होती तो तुम नहीं जानती तुम्हारे साथ क्या होता...(अपना हाथ कुर्सी पर मरता है)

कियारा- मैंने कुछ नहीं किया है मुझे जाने दो..

पुलिस अधिकारी -तेरे खिलाफ़ सारे सबूत हैं...हमें तेरे कन्फेशन की जरूरत नहीं है और हम थर्ड डिग्री भी चार्ज कर सकते हैं तुझपर तो..अपनी ज़बान को लगाम दे...और बता ये तूने क्यु  किया...

कियारा कुछ नहीं बोलती... ऑफिसर उसके एक थप्पड़ मारता है उसके मुंह से खून आ जाता है ..

कियारा-तुम जानती भी हो किसने थप्पड़ मारा है तुमने...

अधिकारी-तुझे जानने की जरूरत नहीं है मुझे...ए ...लेकर आ उनको...

एक कांस्टेबल कमरे से बाहर चला जाता है...फिर 5 लोगों को कांस्टेबल अंदर लेकर आते हैं..उनको बुरी तरह से पीटा गया था...वो चल भी नहीं पा रहे थे...उन्हें देखकर कियारा के चेहरे का रंग उड़ गया... और वो पसीने  पसीने   हो गई ...

ऑफिसर -चल अब राम कहानी चालू कर वरना (कियारा पर एक थप्पड़ मारती है)।

कियारा रोने लगती है...

Past ....

कियारा आदित्य को पहले से पसंद करती थी..जब उसके पिता ने उसकी सगाई  आदित्य से कर ने  की बात करी तो वो बहुत खुश हो गई..और अगले दिन आदित्य  ने  मना कर दिया और इंडिया चला गया... पर जब वो इंडिया आई तो वो peares चल गया... ऐसा राजीव बोल रहा था...तो वो पेरस चली गई..पर वो उसको नहीं मिला...और छह महीने पहले आदित्य उसको रोड पर दिखा वो कार से जा रही थी कि उसकी नज़र आदित्य पर पड़ी....

 रात 8:00 बजे ... .

कियारा (ड्राइवर से) -कार रोको।

ड्राइवर कार रोकता है...वो कार से बाहर आती है...और देखती है आदित्य मीरा के साथ... 

मीरा अपनी स्कूटी स्टार्ट करने की कोशिश कर रही थी...

आदित्य -तुम इस खटारा को क्यों लेकर आती हो.. मुझे भी इस पर ले आई...

मीरा पलट कर आदित्य का कॉलर पकड़ती है...अपने पेरो को ऊपर  कर ती हैं ताकी आदित्य के आमने सामने आ सके...

Meera- खटारा किसको बोला तूने...

आदित्य मीरा को कमर से पकड़ लेता है... उसको ऊपर उठाता है.. मीरा के पैर हवा में थे..और उसका चेहरा आदित्य के सामने...

आदित्य-तेरी स्कूटी को...कब लेगी new.. मुझे पता है ये दादा जी ने गिफ्ट किया था पर कब तक चलाएगी उसको...

Meera -मुझे वो पसंद है...और नीचे उतार मुझे..वरना काट दूंगी...तुझे..

आदित्य मीरा को नीचे   उतार  कर अपना हाथ देते हुए...

Aaditya -बता ना..काट के बता...

मीरा उसको हाथ पकड़ती है या जोर से काट लेटी है...आदित्य चिल्लाता है 

Aaditya -ई... चुड़ैल छोड़ ...

मीरा उसको छोड़ती है आदित्य के हाथ पर गहरा निसान बन गया था...

आदित्य (मीरा को दिखाते हुए) देख क्या कर दिया... चुडेल..

मीरा जोर जोर से हंसने लगती है...और आदित्य को साइड हग करती है...

Meera -( हँसती हुई)तू छोटे बच्चे  की तरह रो रहा है..

आदित्य भी मुस्कुराने लगता है... फिर वो दोनों स्कूटी को देखते हैं..

आदित्य -अब एक काम कर इस को यही रहने देते हैं...टैक्सी मंगाते हैं...

Meera -टैक्सी क्यू देख पहुंच तो गए हम..आने वाला है मेरा घर...पेदल चलते हैं ...

आदित्य- हम्म...चल ठीक है... 

आदित्य और मीरा चलने लगते हैं...कियारा उनका पीछा करती हैं...घर तक पहुंचने वाले थे...की एक बाइक बहुत तेज से आदित्य के पास से आती है मीरा उसको अपनी साइड ले लेती है..

मीरा- अबे..ओ..तमीज से चला ......

वो बाइक वहां से निकल गई थी....

..तू ठीक है ना...(आदित्य को चेक करते हुए)

हम्म्म.(मुस्कुरा कर)

..साले बाप की जागीर समझती ते है रोड को.(गुस्से में)

.बस कर अब...घर चल..(मीरा का हाथ पकड़कर)

.हम्म...आ...(अपने पेरो को देखती है)

क्या हुआ...(मीरा को देखकर)

पता नहीं.....

..दिखा....( बेथकर मीरा के पैर चेक करता है ).ये कैसे लगी....

सयाद अभी.....

.तू चल पा रही है .........

कोशिश कर रही हूँ.....

.let me lift you....

..मैं कोसिस कर रही हु ना......

आदित्य कुछ नहीं सुनता और मीरा को उठा लेता है......मीरा उसको देखती है...आदित्य उसकी तरफ देखता है..

तू भारी है...aa...मांर क्यों रही है (हँसते  हुई)

कियारा का चेहरा गुस्से से लाल हो गया था....उसके बाद वो मीरा  और आदित्य का पीछा करवाने लगी और  प्लान बनाने लगी ...मीरा की किडनैपिंग का...और फिर उस दिन पार्टी के बाद मीरा का वो ब्लैक वैन  पिछा कर रही थी...राहुल से मिलने के बाद मीरा एक ऐसी जगह पर आती है जिधर सीसीटीवी नहीं थी वो वैन उसके सामने रुकती हैं...उनसे नकाब में कोई औरत उतरती है...मीरा अपनी स्कूटी रोकती हैं वो औरत प्रेग्नेंट लग रही थी...मीरा के पास आकर वो एक paper  दीखाती है...

ये जगह किधर  होगी...आप बता सकते हैं.. मीरा पेपर देखने के लिए झुकती है ..वो उसके बगएक इंजेक्शन लगा देती है.. आ...मीरा उसको धक्का देती है...वो औरत गिर जाती है...कुछ देर में मीरा बेहोश हो जाती है...वो उसको अंदर डाल देते हैं।और चर्च चले जाते हैं... अंदर जाकर  मीरा को कुर्सी पर रस्सी से बाध दिया था...तोधे देर में एक मास्क पहने हुए कोई इंसान उसके ऊपर पानी डालती हैं..ये कियारा थी..

Aa...

मीरा को होश आता है....वो कियारा को देखती है..

.कियारा-तुझमे ऐसा क्या देख लिया आदित्य ने...

मीरा-अबे है कौन तू...

कियारा-(उसके एक थप्पड़ मरती है) चुप...

मीरा अपने पेरो से उसको  एक लाट मरती है कियारा ज़मीन पर गिर जाती है...

Aa...तूने मुझे मारा.

.अबे हाथ खोल के देख तेरी माँ बहन नहीं करी तो में मीरा अवस्थी नहीं...

तू...कियारा उसको मरने के लिए आती है...मीरा एक बार  फिर  लाट मरती है उसको... 

तूने बहुत बड़ी गलती कर दी...

गलती तो तू कर रही है.....मैं मीरा हूं अभी तू मुझे जानती नहीं है खोल मुझे वरना...

मीरा के चेहरे पर एक थप्पड़ पड़ता है ये उस लड़के में से एक था...उस लड़के के bracelet से मीरा के चेहरे पर खरोंच आ जाती है ...

हाथ खोलो फिर बताती  हू सालो..

कियारा हस्ती है...

खोल दो उसके हाथों को...

वो लोग मीरा के हाथ खोलते हैं...किसने उसका हाथ खोला था...मीरा एक मुक्का उसके चेहरे पर मरती है ...

Aaa...

वो लड़का अपनी नाक पकड़ लेता है...उसकी नाक से खून आ रहा था...बाकी लड़के भी मीरा को मरने के लिए आते हैं...मीरा उनको लात घुमा-घुमा कर मार रही थी..कोई  एधर कोई उधर गिर रहा था...मीरा कियारा के पास आती है...अपनी उंगली खींचते हुए..

गलत लड़की से पंगा ले लिया...

Aa....

मीरा के सिर पर कोई मरता है...वो सिर पकड़ कर ज़मीन पर बैठ जाती है...फिर वो उसपर लात चलाना शुरू कर देता है...मीरा जब लगभाग बेहोश हो गई थी किआरा उसे एक इंजेक्शन लगाती है...

कल तक तुम खुदको देखने लायक भी नहीं रहोगी....

कियारा हसने लगती है...छोड़ आओ एस्को ऐसी जगह जहां शराबी हो..

फिर वो वहां से निकल जाती है...

Present time....

चटक......

एक जोरदार थप्पड़ कियारा के गाल पर...

तेरी हिम्मत कैसी हुई...आदित्य कुछ ज्यादा ही गुस्से में  आ गया था उसने गन उठा के कियारा की तरफ कर दी...

अधिकारी-सर..आप क्या कर रहे हैं...गोली चल जावेगी...

आशीष -आदि  gun ..निचे रखो.. 

Aaditya -आज तो इस्का गेम में खत्म कर दूंगा..

Aashish -आदि...मीरा के बारे में सोचो..gun नीचे रखो...

आदित्य मीरा का नाम सुनकर gun रख देता है...

Esko fasi nhi umarked honi chahiye Eska har ek din...moot se bekar guzrega...and ye apni maot mange.....

आदित्य  कमरे से बाहर आ जाता है... आशीष के तरफ देखकर...

Aaditya -thanks Aashish...

आशीष -अब सब ठीक है तू जा मीरा के पास......

आदित्य -ह्म्म्म....बाय....

आदित्य वापीस अपनी कार में जाता है...और राजीव को मैसेज करता है...फिर हॉस्पिटल चला जाता है...मीरा के वार्ड में...

राधा मीरा को दलिया खिला रही थी...

Meera -मुझे नहीं खाना ये...छी...

Aaditya-मीरा..

मीरा उसकी तरफ देखती है...आदित्य उसका पास आता है राधा आदित्य को टिफिन देती है...

Radha -तुम ही करो इसका कुछ...मैं अभी आती हूं...

राधा वाह से चली जाती है..

.आदित्य-ये क्या है मीरा क्यों नहीं खा रही हो तुम..

.मीरा- कब से यहीं सब तो खा रही हूं... बहुत बेकार है ये...

आदित्य-तुम्हारे लिए ये अच्छा है...खाओ चलो

मीरा- नहीं...एक शर्त पर...

आदित्य-वो क्या है

मीरा -अपना मास्क उतारो।...

आदित्य -नहीं (उसको मीरा की फिक्र थी)

Meera - तो मैं नहीं खाऊंगी...

आदित्य - (मीरा के चेहरे को पकड़कर अपने चेहरे के पास लाता है...) आखिरी बार बोल रहा हूं.... मैंने मास्क  उतारा तो मैं कुछ भी कर सकता हूँ...(मीरा के होठों के पास आकार)

Meera -(उसको धक्का देती है...)मैं...मीरा टिफिन लेकर जल्दी जल्दी खाने लगती हैं..आदित्य उसको देख कर मुस्कुरा रहा था...

कियारा को उमर केद की सजा मिलने के बाद जिस जीप में वो पांच लोग जा रहे थे उसमें आग लग जाती है या वो जिंदा जल जाते हैं...उस वक्त जीप में वो लोग थे... Meera ko1 हफ्ते बाद हॉस्पिटल से छुट्टी मिल जाती है....वो घर आ जाती है...