Hold Me Close - 14 books and stories free download online pdf in Hindi

Hold Me Close - 14 - लिपस्टिक का दाग

अगले दिन सुबह :
रेवा : कहा कहे थे कल रात आप?

अर्जुन : वो... मैं...

"इतनी रात को क्या काम था आपको ?", रेवा ने अपनी आंखे छोटी करते हुए पूछा ।

"वो मेरा एक दोस्त.. उसे मिलने गया था ..",अर्जुन ने अपनी नजरे फाइल पर जमाते हुए कहा ।

"कितना झूठ बोलेंगे आप...मतलब आप मुझे सच सच बता सकते है जो भी है! ", रेवा ने कहा ।

"किस बारे मैं बात कर रही हो तुम? कुछ समझ नही आ रहा ", अर्जुन की इस बात पर रेवा ने अर्जुन की ओर उसका शर्ट बढ़ाते हुए कहा –"ये लिपस्टिक का दाग !आपकी गर्लफ्रेंड का है ना? रेवा की बात को सुनकर अर्जुन की हसी छूट गई ।

"आप हस रहे है ? में यहां कोई जोक बता रही हूं आपको? आप भूल रहे है की आपके मां पापा के लिए में आपकी वाइफ हूं । हमारी शादी हुई है । भले ही ये एक कॉन्ट्रैक्ट मैरेज है लेकिन आपके घर वालों को तो ये नही पता ना । अगर कल रात मां ने आपको आपके गर्लफ्रेंड के साथ देख लिया होता तो ? ",रेवा की बात को काटते हुए अर्जुन ने कहा – "देखो तुम्हे कोई misunderstanding हुई है । में तुम्हे सब समझाता हूं , वो..."
अर्जुन ने अपनी बात पूरी भी नही की थी लेकिन तभी रेवा ने अर्जुन की बात को काटते हुए कहा–" मुझे कुछ नही समझना अब..मुझे कोई फरक नही पड़ता आप बाहर कुछ भी करिए .. लेकिन घर पर किसीको पता चला ना आपके इस अफेयर के बारे मैं तो आपको ही प्रोब्लम होगी ..",रेवा ने सब कुछ एक ही सांस में बोल दिया और कमरे से बाहर चली गई ।

"अरे यार ये लड़की एक बार बोलना शुरू करे तो रुकने का नाम ही नही लेती .. खुद के लिपस्टिक का दाग खुद नही पहचान सकती ये ! Just impossible ",अर्जुन ने कहा ।

"Good morning मां!", रेवा ने सविता जी को विश करते हुए जो की डाइनिंग टेबल पर बैठी हुई थी।

"Good morning! कैसा रहा सफर! और दर्शन ठीक से हुआ ना?", सविता जी ने पूछा ।

"हां...कल रात आते आते देर हो गई तो इसलिए आपको जगाया नही", रेवा ने जवाब दिया।

देखो अर्जुन भी आ गया सविता जी ने ऊपर से आते हुए अर्जुन की ओर देखते हुए कहा।

"तुम दोनो बात करो मैं अभी आती हूं एक इंपोर्टेंट कॉल करना है ", सविता जी ने कहा और वहा से चली गई ।

"मेरा हो गया ", रेवा ने कहा डाइनिंग टेबल से उठ कर जाने लगी ।
तभी अर्जुन ने पीछे से कहा –"तुम ऐसे क्यूं बिहेव कर रही हो? "
मुझे कुछ नही हुआ है और आप अपना ये कीमती टाइम आपकी गर्लफ्रेंड को देना। मुझ पर टाइम बर्बाद करने से अच्छा आप उसके साथ टाइम स्पेंड करो। और मैं तुषार के साथ ऑफिस चली जाऊंगी ", रेवा ने सपाट लहजे में कहा ।

अर्जुन: "देखो तुम उसके साथ नही जाओगी ! में भी ऑफिस ही आ रहा हूं ना ! एक साथ जाएंगे हम। और क्या गर्लफ्रेंड गर्लफ्रेंड लगा रखा है तुमने ? वो लिपस्टिक का स्टेन ...."

"मुझे कोई बहस नही करनी आपसे ...आपको हो जाए तो बाहर आ जाना मैं वेट कर रही हूं ...",रेवा ने कहा और वहा से जाने लगी तभी अर्जुन ने रेवा के हाथ को पकड़ा और उसे अपनी ओर खींचकर उसे अपनी बाहों में भर लिया ।

"How dare you! क्या कर रहे है आप!! छोड़िए मुझे ...", रेवा ने अर्जुन की बाहों से अपने आप को छुड़ाते हुए कहा ।

"As you wish", अर्जुन ने कहा और रेवा को आजाद कर दिया ।

"आपकी हिम्मत कैसे हुई मुझे गले लगाने की!", रेवा ने गुस्से से कहा ।

"अच्छा... जब तुम बात बात पर मेरे बाहों में आकर छुप जाती हो तब वो चलता है ? और अगर मैं तुम्हे गले लगाऊ तो तुम्हे प्रोब्लम है ?? ", अर्जुन ने अपनी एक आईब्रो ऊपर करते हुए कहा ।

"वो...मैं..मुझे कोई शॉक नही है आपको हग करने का ! वो तो सिचुएशन कुछ ऐसी थी की.... एक मिनिट आप टॉपिक क्यों चेंज कर रहे है! आपने मुझे टच कैसे किया ...",रेवा ने गुस्से से
पूछा ।

अर्जुन : ये देखो मेरे शर्ट पर लिपस्टिक का दाग ! किसका है ये????

"मेरा .".रेवा ने जवाब दिया ।

"तो आज सुबह जो तुमने स्टेन देखा मेरे शर्ट पर वो किसका था ??? याद है कल रात तुमने मुझे....",अर्जुन की बात सुनकर रेवा की नजर शर्म से झुक गई ।

रेवा : मेरा ही होगा!!
"
तुम्हारा ही होगा नही ,तुम्हारा ही है..तुम्हे ही मुझ पर डाउट लेना है !", अर्जुन ने मुंह बनाते हुए कहा ।

"I am extremely Sorry!", रेवा ने अपने कान पकड़ते हुए कहा ।

"सॉरी नही चाहिए मुझे ... मुझे जो चाहिए वो तुम मुझे दोगी? ",अर्जुन ने रेवा के आंखों मैं देखते हुए पूछा ।